तो क्या.... सियासी मिलावट की वजह से बीजेपी हार रही है?

तो क्या.... सियासी मिलावट की वजह से बीजेपी हार रही है?

प्रेषित समय :21:10:15 PM / Wed, Jun 9th, 2021

प्रदीप द्विवेदी (खबरंदाजी). पेट्रोल-डीजल ही नहीं, वरन खाद्य तेल के दामों ने भी आम आदमी का दम निकाल दिया है, नतीजा यह है कि सालभर में सरसों तेल का भाव तकरीबन दोगुना हो चुका है.

इस पर सबसेे दिलचस्प बयान केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर का है, जिनका कहना है कि- सरसों का तेल 'थोड़ा' महंगा हुआ है, क्योंकि उसमें सरकार ने मिलावट को बंद किया है.
उन्होंने बढ़ते सरसों के तेल को लेकर सफाई देते हुए कहा कि अब तेल में किसी प्रकार की कोई मिलावट नहीं होगी, इसलिए दाम बढ़ाए गए हैं?

लगता है, तोमर साहब की बातों में दम है, शायद पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव में भी बीजेपी सियासी मिलावट के कारण हारी है?

बावजूद इसके, हो सकता है, बीजेपी में सियासी मिलावट जारी रहे?

खबर है कि कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और केंद्रीय मंत्री रहे जितिन प्रसाद बुधवार दोपहर भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो गए. राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली स्थित भाजपा मुख्यालय में एक सादे और संक्षिप्त कार्यक्रम के दौरान प्रसाद को केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने पार्टी की सदस्यता दिलाई.

बीजेपी में प्रवेश करते ही जितिन प्रसाद का सियासी नजरिया बदल गया, उन्होंने कहा कि- आज कोई वास्तव में संस्था के तौर पर काम करने वाला दल है, तो वह भाजपा है. बाकी दल, व्यक्ति विशेष और क्षेत्रीयता तक सीमित रह गए हैं.

बधाई हो, ऐसी ही सियासी मिलावट जारी रही तो बीजेपी के कांग्रेसीकरण में ज्यादा वक्त नहीं लगेगा!

वैसे, कांग्रेस में कोई बड़ा नेता है नहीं, बड़ा नेता तो बीजेपी में भी नहीं है, क्योंकि.... जिसेे गांधी परिवार का साथ मिले, वह कांग्रेेस का बड़ा नेता और जिसे संघ परिवार का समर्थन मिले वह बीजेपी का बड़ा नेता, बाकी सब तो केवल सलाहकार मंडल की शोेभा बढ़ाने वाले नेता हैं?

जिस दिन पीएम मोदी का हाथ संघ ने छोड़ दिया, उस दिन वे भी आडवाणी जी के साथ बैठे नजर आएंगे!

Source : palpalindia ये भी पढ़ें :-

लगातार दूसरे दिन तेल कंपनियों ने दिया झटका, पाँच रुपपे महंगा हुआ पेट्रोल

आम जनता को लग रहा है महंगाई का डबल डोज, बेलगाम हुई पेट्रोल और डीजल की कीमतें

छत्तीसगढ़: पेट्रोल-घरेलू गैस की बढ़ती कीमतों पर कांग्रेस का प्रदर्शन, बैलों से बांधकर खिंचवाई बाइक, सिलेंडर और चूल्हा सिर पर रखकर महिलाओं ने की नारेबाजी

Leave a Reply