बड़े-बुजुर्ग कह गए हैं कि ईश्वर ने हमें एक मुंह और दो कान इसलिए दिए हैं कि जितना औरों को हम सुनाते हैं उससे दो-गुना सुने? पर राजनीति में तो उल्टी ही परंपरा है, जितना सुनते हैं राजनेता उसका सौ-गुना सुना देते हैं.
पीएम नरेन्द्र मोदी मन की बात सुनाते हैं, अच्छी बात है, लेकिन... इस बीच थोड़ी-सी सहयोगी जन की बात भी सुन लेते तो शायद एमपी, यूपी, बिहार, राजस्थान के उपचुनावों में जनता भी भाजपा की बात ठीक-से सुन लेती.
मेरी दिक्कत यह है कि मैं किसी भी राजनीतिक दल का समर्थक नहीं हूं, क्योंकि मुझे लगता है कि किसी भी राजनीतिक दल के उद्देश्यों में खराबी नहीं है, खराबी होती है... किसी भी दल को दल-दल में बदल देने वाले नेताओं में? 
इसलिए... मैं राजनीतिक दलों को नहीं, राजनेताओं को पसंद करता हूं, एक्कीसवीं सदी में बेहतर नेता के तौर पर मुझे, अटल बिहारी वाजपेयी, लालकृष्ण आडवाणी, नरेन्द्रभाई मोदी, राहुल गांधी, अखिलेश यादव, नीतीश कुमार, शरद यादव, ममता बनर्जी, कुमार विश्वास आदि पसंद हैं. आप इनके विचारों से सहमत हों या नहीं, परिणामों से संतुष्ट हों या नहीं, लेकिन... इन नेताओं ने अपने विचारों के सापेक्ष वादे निभाने की सच्चाई से कोशिश की है, इनके इरादे नेक हैं, और मेरे लिए... यही बहुत बड़ी बात है.
आपातकाल के बाद कॉलेज इलैक्शन में पहली बार एबीवीपी ने बांसवाड़ा में चुनाव लड़ा, मैंने भी लड़ा, जीता और जीतने में योगदान भी दिया. लेकिन... जब कुछ नेताओं का दूसरा चेहरा नजर आया तो एबीवीपी छोड़ कर बांसवाड़ा में एनएसयूआई की स्थापना की और वहां भी पहली बार चुनाव जीतने में भूमिका निभाई, परन्तु... वहां भी कुछ ऐसा ही हाल था, नतीजा? छात्र राजनीति ही छोड़ दी.
किसी एक राजनीतिक दल को इसलिए अपनाना थोड़ा मुश्किल है कि... हर दल में यदि अच्छे लोग मौजूद हैं तो खराब लोगों की भी कमी नहीं है, और इसी वजह से... किसी भी राजनीतिक दल के उद्देश्यों में कमी नहीं है, कमी आती है... किसी भी दल में खराब नेताओं की दखलंदाजी से? 
वर्ष 2014 में देश की जनता ने भाजपा को खुलकर समर्थन दिया था क्योंकि जनता को भाजपा का स्वाभिमानी चेहरा नजर आ रहा था, परन्तु... इन चार वर्षों में यह स्वाभिमानी चेहरा अभिमानी चेहरे में बदलता दिखाई दे रहा है? 
जाहिर है... जनता को समझाने के बजाए ऐसा काम करने की जरूरत है कि जनता को अपनेआप समझ में आ जाए, तभी कामयाबी फिर से कदमों में होगी, क्योंकि... आंकड़ों के दम पर किसी को खामोश तो किया जा सकता है, लेकिन... अच्छे दिनों का पेट नहीं भर सकता है.


जानिए 2016 में कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में

1. असम में पुलिस फायरिंग के चलते टूटा हाई वॉल्टेज तार, 11 लोगों की मौत, 20 घायल

2. केंद्रीय खाद्य प्रौद्योगिकी, जांच में मैगी सफल: नेस्ले इंडिया

3. गैर-चांदी आभूषणों पर उत्पाद शुल्क को लेकर जेटली अडिग

4. शंकराचार्य का विवादित बोल- साई पूजा की देन है महाराष्ट्र का सूखा

5. कन्हैया और उमर खालिद समेत 5 छात्र हो सकते है JNU से सस्पेंड

6. करोड़ों लोगों ने देखा प्यार का ये इजहार, आप भी जरूर देखिए

7. महाराष्ट्रः बार-बालाओं पर पैसे लुटाने या उन्हें छूने पर होगी सजा

8. नितिन गडकरी की पीएम मोदी को सलाह, गजलें सुनें, टेंशन फ्री रहें

9. कोल्लम हादसा-मंदिर के पास मिली विस्फोटकों से भरी तीन गाड़ि‍यां

10. शत्रु ने की नीतीश जमकर तारिफ, कहा- 2019 में PM पद के दावेदार

11. पाक अदालत में सबूत के तौर पर पेश हुआ ग्रेनेड फटा, 3 घायल

12. असम-बंगाल में हुई बंपर वोटिंग, CM गोगाई के खिलाफ केस दर्ज


************************************************************************************

बॉलीवुड      कारोबार      दुनिया      खेल      इन्फो     राशिफल     मोबाइल

************************************************************************************


पलपलइंडिया का ऐनडरोएड मोबाइल एप्प डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे.

खबरे पढने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने, ट्विटर और गूगल+ पर फालो भी कर सकते है.



अन्य जानकारियां :

सुरुचि: इस पेज पर कुकिंग और रेसेपी के बारे में रोज़ जानिए कुछ नया

तनमन: इस पेज पर जाने सेहतमंद रहने के तरीके और जानकारियां

शैली: यह पेज देगा स्टाइल और ब्यूटीटिप्स सहित लाइफस्टाइल को नया टच

मंगलपरिणय: इस पेज पर मिलेगी विवाह से जुड़ी हर वो जानकारी जिसे आप जानना चाहेंगी

आधी दुनिया: यह पेज साझा करता है महिलाओं की जिन्दगी के हर छुए-अनछुए पहलुओं को

यात्रा: इस पेज पर जानें देश-विदेश के पर्यटन स्थलों को

वास्तुशास्त्र: यह पेज देगा खुशहाल जिन्दगी की बेहद आसान टिप्स