सदी ही नहीं, सत्ता की समीकरण भी बदल गई है... बीसवीं सदी में कांग्रेस राजनीति का एकल केन्द्र थी लेकिन एक्कीसवीं सदी में राजनीति के केन्द्र में भारतीय जनता पार्टी आ गई है... गैरभाजपाई, महागठबंधन की सीधी-सच्ची राजनीतिक समीकरण समझना नहीं चाहते हैं और यही वजह है कि भाजपा का रथ लगातार विजय की ओर बढ़ रहा है...शायद इसीलिए जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने विपक्षी पार्टियों को वर्ष 2019 के लोकसभा चुनाव के बारे में भूलकर वर्ष 2024 के आम चुनाव की तैयारियां शुरू करने की सलाह दे डाली है! 

यूपी में हार के लिए मायावती को वोटिंग मशीन में खोट नजर आती है तो मुलायम सिंह सपा-कांग्रेस गठबंधन की लू उतार रहे हैं जबकि सपा-बसपा-कांग्रेस के संयुक्त वोट आज भी अच्छेखासे हैं... यह बात अलग है कि ऐसा ही चलता रहा तो गठबंधन का फार्मुला भी फेल हो जाएगा!

आजादी के बाद देश में तीन प्रमुख राजनैतिक धाराएं थी... कांग्रेस, समाजवादी और जनसंघ... इन्हीं में से बाद में क्षेत्रीय दलों का भी उदय हुआ. सातवें दशक तक कांग्रेस इतनी प्रभावी हो गई थी कि आपातकाल के दौरान अलग-अलग विचारधारा के बावजूद गैरकांग्रेसी जनता पार्टी के झंडे तले एक मंच पर आ गए, लेकिन... दोहरी सदस्यता के मुदï्दे पर फिर अलग हो गए... कांग्रेस की जोरदार वापसी हुई तो आठवें दशक में फिर सारे गैरकांग्रेसी एक मंच पर आ गए, सत्ता भी मिली लेकिन कुछ समय बाद फिर अलग हो गए... इस बार भाजपा के लालकृष्ण अडवाणी की रथ यात्रा ने एक बार फिर राजनीति की दिशा जरूर बदल दी लेकिन एकल राजनीति का केन्द्र नहीं बन पाई भाजपा! समझौते की सत्ता के कारण ही अटलबिहारी वाजपेयी सर्वश्रेष्ठ प्रयासों से श्रेष्ठ परिणाम ही दे पाए! वर्ष 2014 में भाजपा को एकल राजनीतिक केन्द्र बनने का अवसर मिला... तब से भाजपा की विजय यात्रा जारी है! 

दो ही स्थितियों में भाजपा इस राजनीतिक केन्द्र से हट सकती है... पहला, भाजपा कोई अलोकप्रिय गलत निर्णय ले ले... दूसरा, गैरभाजपाई एकमंच पर आ जाएं! 

भारत की राजनीति लोकप्रिय चुनावी मुदï्दों पर ज्यादा निर्भर है. कई वर्षों तक देश की आजादी ने कांग्रेस को ताकत दी तो आपातकाल ने गैरकांग्रेसियों को सत्ता में आने का अवसर दिया... बीसवीं सदी में गरीबी हटाओ से लेकर श्रीराम मंदिर ने लोगों की सोच को प्रभावित किया लेकिन 21वीं सदी में कालाधन और भ्रष्टाचार का मुद्दा जोर पकड़ता गया.

जहां गैरहिन्दू वोट भाजपा की कमजोर कड़ी है तो बड़े नेताओं की भीड़ गैरभाजपाइयों की भारी समस्या है!

इसवक्त भाजपा में पीएम नरेन्द्र भाई मोदी सर्वमान्य नेता हैं तो गैरभाजपाइयों में एक दर्जन पीएम पद के उम्मीदवार हैं... ऐसी स्थिति में गैरभाजपाइयों का एकीकरण नामुमकिन नहीं तो मुश्किल जरूर है! 

इसवक्त बिहार में सीएम नीतीश कुमार अच्छा काम कर रहे हैं और उनकी अच्छी छवि भी है लेकिन क्या महागठबंधन उन्हें पीएम बनने देगा? सभी गैरभाजपाई दलों के पास अपने-अपने प्रस्तावित प्रधानमंत्री हैं... अगर वे प्रधानमंत्री नहीं बन पाए तो किसी और गैरभाजपाई को भी प्रधानमंत्री नहीं बनने देंगे! 

दिल्ली में अचानक मिली करिश्माई कामयाबी के बाद आप के सर्वेसर्वा सीएम अरविंद केजरीवाल राष्ट्रीय राजनीति में चमत्कार की आस लगा बैठे लेकिन ताजा विधान सभा चुनाव के नतीजों ने उन्हें जमीनी हकीकत दिखा दी है! इंटरनेट पर आधारित हवाई राजनीति हलचल तो मचा सकती है लेकिन केवल इसके दम पर संपूर्ण कामयाबी हांसिल करना और उसे बनाए रखना संभव नहीं है!


Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।


आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


1. 20 फरवरी से बचत खाते से हफ्ते में 50000 रु निकाल सकेंगे, 13 मार्च से 'नो लिमिट': आरबीआई

2. सभी भारतीय हिंदू और हम सब एक हैं: मोहन भागवत

3. रिजर्व बैंक ने दरों में नहीं किया कोई बदलाव, रेपो रेट 6.25 पर कायम

4. भारतीय अर्थव्‍यवस्‍था में नगदी बहुत महत्‍वपूर्ण, नोटबंदी से होगा फायदा: पीएम मोदी

5. अपने दोस्तों से शादी-शुदा जिंदगी की परेशानियों को ना करें शेयर, मिल सकता है धोखा!

6. तमिलनाडु में राजनीतिक संकट जारी: शशिकला ने 131 विधायकों को अज्ञात जगह भेजा

7. भीमसेन जोशी को सुनना भारत की मिट्टी को समझना है

8. मोदी के कार्यों से जनता को कम अमीरों को ज्यादा फायदा : मायावती

9. माल्या को झटका, कर्नाटक हाईकोर्ट ने यूबीएचएल की परिसंपत्तियों को बेचने का दिया आदेश

10. मजदूरों को डिजिटल भुगतान से सम्बन्धित विधेयक लोकसभा में पारित

11. आतंकी मसूद अजहर पर प्रतिबंध लगाने अमेरिका ने यूएन में दी अर्जी

12. जियो के फ्री ऑफर को लेकर सीसीआई पहुंचा एयरटेल

13. गर्भाशय निकालने वाले डॉक्टरों के गिरोह का पर्दाफाश, 2200 महिलाओं को बनाया शिकार

14. वेलेंटाइन डे पर लॉन्च होगी नई सिटी सेडान होंडा कार

15. उच्च के सूर्य ने दी बुलंदी, क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर को इसी दशा में मिला सम्मान

************************************************************************************

बॉलीवुड      कारोबार      दुनिया      खेल      इन्फो     राशिफल     मोबाइल

************************************************************************************


पलपलइंडिया का ऐनडरोएड मोबाइल एप्प डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे.

खबरे पढने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने, ट्विटर और गूगल+ पर फालो भी कर सकते है.



अन्य जानकारियां :

सुरुचि: इस पेज पर कुकिंग और रेसेपी के बारे में रोज़ जानिए कुछ नया

तनमन: इस पेज पर जाने सेहतमंद रहने के तरीके और जानकारियां

शैली: यह पेज देगा स्टाइल और ब्यूटीटिप्स सहित लाइफस्टाइल को नया टच

मंगलपरिणय: इस पेज पर मिलेगी विवाह से जुड़ी हर वो जानकारी जिसे आप जानना चाहेंगी

आधी दुनिया: यह पेज साझा करता है महिलाओं की जिन्दगी के हर छुए-अनछुए पहलुओं को

यात्रा: इस पेज पर जानें देश-विदेश के पर्यटन स्थलों को

वास्तुशास्त्र: यह पेज देगा खुशहाल जिन्दगी की बेहद आसान टिप्स