तलाक, तलाक और तलाक की कानफोडू आवाज ने आवाम में कोहराम मचा के रखा है.जिधर देखे उधर तलाक ही तलाक नजर आता है.भाई-भाई, बाप-बेटा, मां-बेटी और मियां-बीवी जैसे पाक-साफ नाते-रिश्ते भी अछूते न रहकर तलाक की तकरार में जार-जार हुए.आगोश में कई जिदंगियां तहस-नहस हो गई.बलां ने सितम ऐसा ढाया कि भाईचारा भाई का चारा, यार मतलबी गद्दार और परिवार बेवजह का वार बन गया.खासतौर पर पति-पत्नी के रिश्तों में खलल डालने में तलाक ने अहम किरदार निभाया.बदस्तुर तलाक ने मजहबी दीवार फांदकर एक पल में सात जन्मों का नाता तार-तार कर दिया.बेरूखी में एक साथ तीन तलाक की बेवफाई से जोरू दर-दर की हो गई बजाय रहनुमाई के खाविंद ताव-तुर्रा में तलाक, तलाक व तलाक का फतवा जाहिर करते रहे.इस बेबसी के आलम में हिम्मतें मर्दा नहि जनाना तो मद्दें खुदा के इरादे से तलाक-ए-बिद्दत किवां तीन तलाक से व्यथित, पीडित और शोषित महिलाओं ने तलाक को तलाक देने का जंग-ए-एलान कर दिया.

तरजीह, दायर अर्जी पर सुनवाई करते हुए उच्चतम न्यायालय की संवैधानिक पीठ ने फिलवक्त अपने ऐतिहासिक फैसले में तीन तलाक को गैरकानूनी करार देते हुए 6 महिने की पाबंदी लगाकर सरकार को कानून बनाने का हुक्म सुनाया.पीठ ने पारित आदेश में कहा तीन तलाक की रिवाज कुराने पाक के मूल सिद्धांतों और शरियत के खिलाफ है.अनेक इस्लामिक मूल्कों में भी तीन तलाक पर मनाही है तो आजाद भारत में यह गुलामी की जंजीरों से क्यों जकडा हुआ हैं? यथा, सर्वोच्च अदालत के 5 जजों की बेंच ने 3:2 के बहुमत से फैसला सुनाते हुए एक झटके में शादीशुदा जीवन खत्म होने के डर से जी रही मुस्लिम महिलाओं को सबसे बडी राहत दी.साथ ही ट्रिपल तलाक को मुस्लिम महिलाओं के समानता व मौलिक अधिकारों का उल्लघंन मानकर खत्म कर दिया.

शुक्रगुजार, तलाक की रवानगी हो गई वरना हाल के एक सर्वे में तीन तलाक को लेकर कई चौकाने वाले खुलासे ने होश  उडा दिए थे.लिहाजा, तलाक के सबसे अधिक मामलों में 7.96 फीसद पति के नाजायज संबंधों के चलते, 7.08 बे-औलाद, 2.65 लडकी की पैदाईस, 6.19 अच्छी गृहणी की अपेक्षा, 4.87 पति की बेरोजगारी, 4.42 यौवन की कमी, 0.44 बढावा और उकसावा, 13.27 परिवार व रिश्तेदारी , 0.88 पुरूष की नशाखोरी, 2.65 पत्नी की बीमारी तथा 37.61 प्रतिशत मुस्लिम अन्य वजहों से तीन तलाक की दहाड लगाते रहे.

हुबहू ऐसे ही मुकम्मल आंकडों पर और गौर फरमाये तो हिन्दुस्तान में अगर एक मुस्लिम तलाकशुदा मर्द है तो 4 औरतें हैं.सिखों को छोड दें तो अन्य समुदायों में पुरूषों की बजाय तलाकशुदा महिलाओं की तादाद ज्यादा है.मुस्लिमों में ये अनुपात 79:21 फीसद यानि 79 महिलाएं और 21 पुरू्रष तलाकशुदा है.अन्य धर्मो में 72:28 और बौद्धों में 70:30 है.2011 की जनगणना के मुताबिक, मूल्क में तलाकशुदा महिलाओं में 66 फीसद हिंदु और 24 फीसद मुस्लिम है.बहरहाल, देश में मुस्लिमों की आबादी 17 करोड है, इनमें करीब आधी आबादी 8.3 करोड महिलाएं है.बरबस महाराष्ट्र में सबसे ज्यादा 2.09 लाख तलाकशुदाओं में स्त्री 1.5 लाख मतलब 73.5 प्रतिशत है.वीभत्स, भारतीय मुस्लिम महिला आंदोलन के मुताबिक भारत में 80 से 95 फीसदी तलाकी महिलाएं गुजारा भत्ताओं से महरूम रही है.

नाफरमानी में सोच-समझकर, सलाह-मशहवरा और जमात की रजामंदी से समयावधि में बोले जाने वाले कर्कशी तलाक के मायने बदल गए.एक बार में तीन तलाक का प्रलाप होने से तलाक, तलाक नहीं तत्काल बन गया.अलबत्ता हालातों में तलाक इंसानियत नहीं बल्कि हैवानियति है इसलिए तलाक को तलाक देना वक्त की निहायत जरूरत है.अब सब हमारे साथ है शासन, प्रशासन, न्यायालय, सिपहसालार, बिरादरी और मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड.फ्रिकमंदी में जुगलबंदी से बेहतरी की उम्मीद लगाए बैठी नारी शक्ति को क्या हासिल होता है? अभाव में आने वाली पीढी हमें कदापि माफ नहीं करेंगी.


Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।


आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


1. 20 फरवरी से बचत खाते से हफ्ते में 50000 रु निकाल सकेंगे, 13 मार्च से 'नो लिमिट': आरबीआई

2. सभी भारतीय हिंदू और हम सब एक हैं: मोहन भागवत

3. रिजर्व बैंक ने दरों में नहीं किया कोई बदलाव, रेपो रेट 6.25 पर कायम

4. भारतीय अर्थव्‍यवस्‍था में नगदी बहुत महत्‍वपूर्ण, नोटबंदी से होगा फायदा: पीएम मोदी

5. अपने दोस्तों से शादी-शुदा जिंदगी की परेशानियों को ना करें शेयर, मिल सकता है धोखा!

6. तमिलनाडु में राजनीतिक संकट जारी: शशिकला ने 131 विधायकों को अज्ञात जगह भेजा

7. भीमसेन जोशी को सुनना भारत की मिट्टी को समझना है

8. मोदी के कार्यों से जनता को कम अमीरों को ज्यादा फायदा : मायावती

9. माल्या को झटका, कर्नाटक हाईकोर्ट ने यूबीएचएल की परिसंपत्तियों को बेचने का दिया आदेश

10. मजदूरों को डिजिटल भुगतान से सम्बन्धित विधेयक लोकसभा में पारित

11. आतंकी मसूद अजहर पर प्रतिबंध लगाने अमेरिका ने यूएन में दी अर्जी

12. जियो के फ्री ऑफर को लेकर सीसीआई पहुंचा एयरटेल

13. गर्भाशय निकालने वाले डॉक्टरों के गिरोह का पर्दाफाश, 2200 महिलाओं को बनाया शिकार

14. वेलेंटाइन डे पर लॉन्च होगी नई सिटी सेडान होंडा कार

15. उच्च के सूर्य ने दी बुलंदी, क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर को इसी दशा में मिला सम्मान

************************************************************************************

बॉलीवुड      कारोबार      दुनिया      खेल      इन्फो     राशिफल     मोबाइल

************************************************************************************


पलपलइंडिया का ऐनडरोएड मोबाइल एप्प डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे.

खबरे पढने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने, ट्विटर और गूगल+ पर फालो भी कर सकते है.



अन्य जानकारियां :

सुरुचि: इस पेज पर कुकिंग और रेसेपी के बारे में रोज़ जानिए कुछ नया

तनमन: इस पेज पर जाने सेहतमंद रहने के तरीके और जानकारियां

शैली: यह पेज देगा स्टाइल और ब्यूटीटिप्स सहित लाइफस्टाइल को नया टच

मंगलपरिणय: इस पेज पर मिलेगी विवाह से जुड़ी हर वो जानकारी जिसे आप जानना चाहेंगी

आधी दुनिया: यह पेज साझा करता है महिलाओं की जिन्दगी के हर छुए-अनछुए पहलुओं को

यात्रा: इस पेज पर जानें देश-विदेश के पर्यटन स्थलों को

वास्तुशास्त्र: यह पेज देगा खुशहाल जिन्दगी की बेहद आसान टिप्स