देश में कोई सिलसिला शुरू होता है, जो अगले सिलसिले तक चलता रहता है. कुछ वर्ष पूर्व बोरवेल में गिरे बालक की कारूणिक व्यथा मीडिया में दिखाई गयी.  प्रायः पूरा देश सब कुछ छोड़कर उस बालक को बचाने के लिए किये जा रहे प्रयत्नों का हर क्षण साक्षी बना. वह बालक भाग्यवान था कि मीडिया ने देश-दुनिया सहित शासन-प्रशासन का ध्यान इस घटना पर केन्द्रित किया. फलस्वरूप प्रयासों की पराकाष्ठा से बच्चा बच गया.  बोरवेल में गिरने की घटनायें अभी भी सुनने को मिल जाती हैं. 

मीडिया ने एकटक दिखाने का सिलसिला दूसरी घटनाओं की तरफ मोड़ दिया है. कुछ दिन किसानों की आत्महत्या सुनाई देती रही. किसानां की मृत्यु अब भी होती है. अब मीडिया का ध्यान राम रहीम के साथ अस्पतालों में बच्चों की मौतों की तरफ मुड़ गया है. ऐसी घटनाओं को पूरे वेग से प्रस्तुत करने के लिए मीडिया का आभार मानना चाहिए. आभार इसलिए कि मीडिया के प्रभाव से शासन और समाज जाग्रत होकर खतरनाक सिलसिलों को रोकने के कारगर प्रयत्न प्रारम्भ कर देते हैं. अब जरूरत है कि बच्चों को आत्महत्या के लिए उकसाने वाले ब्लू व्हेल खेल के दुष्परिणामों को भी मीडिया खुल कर दिखाये. 

मौत के इस खेल की भारत में शुरूआत हो चुकी है. मुम्बई की अंधेरी में ब्लू व्हेल की पहली घटना हुई. यहां चौदह वर्ष का बच्चा अपनी सोसाइटी की ऊंची छत से कूदकर ब्लू व्हेल का शिकार बना. मौत का यह खेल मध्य प्रदेश में भी पहुंच चुका है. यहां दमोह में 11वीं के छात्र ने इसी खेल का अंतिम लक्ष्य, जिसे टास्क कहा जाता है, पूरा करने के लिए ट्रेन के सामने बैठकर आत्महत्या कर ली. कितना भयावह है यह खेल. दुनिया के अलग-अलग देशों में ढाई सौ से अधिक बच्चे ब्लू व्हेल को अपनी जान दे चुके हैं. यह खूनी खेल रूस में 2013 में बना था. इस खेल से सर्वाधिक आत्महत्या भी वहीं हुई हैं. 

जानने के लिये इतना समझ लीजिए कि ब्लू व्हेल कोई मछली नहीं है. यह भी पता नहीं है कि इस खेल को क्यों रचा गया होगा. लगता है इस खेल को बनाने वाला फिलिप बुदेइकिन विछिप्त ही रहा होगा. इसी खेल की वजह से उसे गिरफ्तार भी किया गया पर तब तक वह खुद कोई सोलह लड़कियों को आत्महत्या  के लिए मजबूर कर चुका था. यह इंटरनेट से खेले जाने वाला खूनी खेल है. खेलने वाले को इस खेल में कुछ ऐसा टास्क दिया जाता है जिससे उसकी निश्चित मृत्यु हो जाय. इसमें खेलने के लिए फंसे व्यक्ति, जिसमें प्रायः सभी किशोर, किशोरियां ही होते हैं, को प्रतिदिन एक टास्क दिया जाता है. हरएक टास्क पूरा होते ही हाथ में सुई या किसी अन्य नुकीली वस्तु से निशान बनाना होता है. ऐसे पचास  टास्क दिए जाते है. 

इन टास्कों में अलसुबह उठकर डरावनी फिल्म देखने, बहुत ऊंचे भवन की मुडे़र से पैर लटकाकर कर बैठने, हाथ की नस कांटने जैसे कठिन टास्क शामिल हैं. टास्क पूरा होते-होते हाथ में बनाया जा रहा निशान मछली का आकार ले लेता है. पचासवें दिन का टास्क मौत का होता है. जैसे बहुमंज़िला से छलांग, तलवार से गला रेतना, फांसी पर लटकना, गहराई में गिरते पानी से नीचे कूदना, ट्रेन के आगे आ जाना इत्यादि. निश्चित मृत्यु का टास्क. अभी हाल ही में जोधपुर झील में ब्लू व्हेल के उकसावे से मौत को गले लगाने कूदी लड़की को बचाया गया. इससे पहले की कोई और मौत के खेल का शिकार बने गंभीरतापूर्वक ध्यान देने और हर हाल में रोकने की जरूरत है. आजकल छोटे-छोटे बच्चे इंटरनेट सर्फिंग करने लगे हैं. इसमें नेट के खेल सबसे पसंदीदा होते हैं. ऐसे में सभी परिवारजनों को अपने बच्चों के हाव भाव, व्यवहार पर नजर रखना चाहिए. विशेष रूप से ऐसे बच्चों पर ध्यान देने की सर्वाधिक जरूरत है जो किसी कारण से अवसाद ग्रस्त हैं. उदास हैं. अप्रत्याशित हरकतें करते हैं. इसी के साथ यह भी देखा जा सकता है कि बच्चे नेट में काम करते या गेम देखते हुए अपने हाथ में कोई निशान तो नहीं बना रहे. भारत में यह खेल तेजी से पैर पसारे, मौतों का सिलसिला शुरू हो जाय. उससे पहले ही शासन-प्रशासन, परिवार, दोस्त सभी ध्यान दे दें तो ब्लू व्हेल का ज़हर फैलने से पहले इलाज संभव है. 

वैसे इस हत्यारे खेल पर गुजरात सरकार ने प्रतिबंध लगा दिया है. देखना यह होगा कि कहां तक कारगर होता है. यह समझना होगा कि खेल इंटरनेट से जुड़ा है और विदेश से नियंत्रित होता है. गुजरात सरकार द्वारा लगाये गये प्रतिबंध की सफलता की कामना की जानी चाहिए.  इस तरह का प्रतिबंध अन्य राज्य सरकारें भी लगा सकती हैं. 

 


Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।


आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


1. 20 फरवरी से बचत खाते से हफ्ते में 50000 रु निकाल सकेंगे, 13 मार्च से 'नो लिमिट': आरबीआई

2. सभी भारतीय हिंदू और हम सब एक हैं: मोहन भागवत

3. रिजर्व बैंक ने दरों में नहीं किया कोई बदलाव, रेपो रेट 6.25 पर कायम

4. भारतीय अर्थव्‍यवस्‍था में नगदी बहुत महत्‍वपूर्ण, नोटबंदी से होगा फायदा: पीएम मोदी

5. अपने दोस्तों से शादी-शुदा जिंदगी की परेशानियों को ना करें शेयर, मिल सकता है धोखा!

6. तमिलनाडु में राजनीतिक संकट जारी: शशिकला ने 131 विधायकों को अज्ञात जगह भेजा

7. भीमसेन जोशी को सुनना भारत की मिट्टी को समझना है

8. मोदी के कार्यों से जनता को कम अमीरों को ज्यादा फायदा : मायावती

9. माल्या को झटका, कर्नाटक हाईकोर्ट ने यूबीएचएल की परिसंपत्तियों को बेचने का दिया आदेश

10. मजदूरों को डिजिटल भुगतान से सम्बन्धित विधेयक लोकसभा में पारित

11. आतंकी मसूद अजहर पर प्रतिबंध लगाने अमेरिका ने यूएन में दी अर्जी

12. जियो के फ्री ऑफर को लेकर सीसीआई पहुंचा एयरटेल

13. गर्भाशय निकालने वाले डॉक्टरों के गिरोह का पर्दाफाश, 2200 महिलाओं को बनाया शिकार

14. वेलेंटाइन डे पर लॉन्च होगी नई सिटी सेडान होंडा कार

15. उच्च के सूर्य ने दी बुलंदी, क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर को इसी दशा में मिला सम्मान

************************************************************************************

बॉलीवुड      कारोबार      दुनिया      खेल      इन्फो     राशिफल     मोबाइल

************************************************************************************


पलपलइंडिया का ऐनडरोएड मोबाइल एप्प डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे.

खबरे पढने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने, ट्विटर और गूगल+ पर फालो भी कर सकते है.



अन्य जानकारियां :

सुरुचि: इस पेज पर कुकिंग और रेसेपी के बारे में रोज़ जानिए कुछ नया

तनमन: इस पेज पर जाने सेहतमंद रहने के तरीके और जानकारियां

शैली: यह पेज देगा स्टाइल और ब्यूटीटिप्स सहित लाइफस्टाइल को नया टच

मंगलपरिणय: इस पेज पर मिलेगी विवाह से जुड़ी हर वो जानकारी जिसे आप जानना चाहेंगी

आधी दुनिया: यह पेज साझा करता है महिलाओं की जिन्दगी के हर छुए-अनछुए पहलुओं को

यात्रा: इस पेज पर जानें देश-विदेश के पर्यटन स्थलों को

वास्तुशास्त्र: यह पेज देगा खुशहाल जिन्दगी की बेहद आसान टिप्स