प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने साबित कर दिया है वे सही मायने में और हकीकत में सम्पूर्ण देश के जन नेता हैं। इसी के साथ यह भी तय है कि संगठन क्षमता में फिलहाल अमित शाह का कोई सानी नहीं है। अभी पांच राज्यों के विधान सभा निर्वाचन में उत्तर प्रदेश और उत्तराखण्ड़ में भारतीय जनता पार्टी को जिस तरह का बहुमत हासिल हुआ है उसमें जीत का प्रचंड शब्द भी छोटा लग रहा है। उत्तर पदेश की हालत तो यह है कि वहॉं विधान सभा में मान्यता प्राप्त मुख्य विपक्षी दल तक नहीं बचा। यहॉं भारतीय जनता पार्टी उन विधान सभा क्षेत्रों में भी जीती है जहां स्वतंत्रता के बाद से लेकर कभी नहीं जीती थी। यहॉं तक कांग्रेस फिके पित्र पुरूषों के गढ़ अमेठी और रायबरेली को भी अपने खाते में ले लिया है। 

उत्तर पद्रेश को एक लम्बे अरसे के बाद मुलायम सिंह के पारिवारिक समाजवाद और एक जाति और एक धर्म के गठजोड़ से मुक्ति मिली है। उत्तर प्रदेश की हालत, कानून व्यवस्था की दयनीय स्थिति को शब्दों में बयान नहीं किया जा सकता। इससे भयावह क्या होगा कि बलात्कार और हत्या जैसे जघन्य काण्ड़ में भी  भी यदि चहेती जाति-धर्म के व्यक्ति शामिल हैं तो पुलिस अधिकारियों को एफ.आई.आर दर्ज करने से पहले ‘‘नेताजी’’ की अनुमति लेना पड़ती थी। मुलायम सिंह का समाजवाद उनके बेटे, बहु, नाते रिश्तेदारों और चेहेते धर्म के कुछ खास लोगों तक सिमटा था। वास्तव में देखा जाय तो उत्तर प्रदेश जैसे भारत के सबसे बड़े ही नहीं विश्व के अनेक राष्ट्रो से भी विशाल राज्य उत्तर प्रदेश के मुख्य मंत्री का निजी अस्तित्व मुलायम सिंह के बेटा होन से अधिक क्या था। मुलायम सिंह ने बेटे को मुख्यमंत्री, भाई को उसी मुख्य मंत्री की कैबिनेट का मंत्री स्वयं सहित मुख्य मंत्री बेटे की पत्नी, चचेरे भाई को लोक सभा-राज्य सभा का सदस्य बनाया। विकास अपने पैत्रिक क्षेत्र सेफई  से कई तक सीमित कर दिया। अन्य सगे संबंधियों को जिला पंचायत, जनपद पंचायतों से लेकर हर उस तरफ फैला दिय जहां तक उनकी पहूंच संभव थी। उत्तर में सत्ता की एक और प्रमुख दावेदार बहन मायावती की स्थिति भी कमोबेश सपा जैसी ही थी। उन्होने बहुजन समाजवादी पार्टी, प्रचलित नाम बसपा को पूरी तरह अपनी जेबी पार्टी बना रखा था। उनके उपर पैसा देकर टिकिट बेचने के आरोप प्रायः सभी दल लगाते आ रहे है। यहॉं तक  उनकी पार्टी के टिकटार्थी भी बहन जी के लिये धन संग्रह करने की बात करते देखे सुने गये है। मायावती एक बार दलितों के नाम पर, एक बार दलित और ब्राम्हणों के गठजोड की सोसल इंजीनियरिंग कर उत्तर प्रदेश की मुख्य मंत्री बन चुकी है। उनके शासन काल में हांलाकि सपा की तुलना में कानून व्यवस्था काफी सुदृढ़ थी पर उनके अपनों पर जिस तरह  अकूत धन अर्जित के आरोप हैं वे माया के कार्यकाल के अमिट काले धब्बे हैं। इस  बार मायावती जी ने जिस तरह का राजनीतिक गेम खेला उसका प्रत्यक्ष लाभ एक तरफ भाजपा को मिला। दुसरी तरफ मौलाना कहे जाने वाले नेताजी की पार्टी, बल्कि उनके पुत्र की पार्टी कहना अधिक उपयुक्त होगा, को भयानक क्षति का सामना करना पड़ा। मायावती ने सपा के वोट काटने के मकसद से लगभग सौ मुस्लिम प्रत्याशियों को बसपा के टिकट से नवाज दिया। इससे मुस्लिम वोट काफि हद तक सपा से कट गये। भाजपा ने राजनीतिक चतुरता दिखाते हुए उत्तर प्रदेश में एक भी मुस्लिम को आपनी पार्टी का प्रत्याशी नहीं बनाया। इससे प्रदेश में ऐसा धु्रवीकरण हुआ कि दलित, पिछड़ा सवर्ण सब भाजपा के पाले में आ गये। मायावति का जो हश्र इस सोशल इंजीनियरिंग से हुआ वह उनके राजनीतिक अस्तित्व पर प्रश्न बन कर खड़ा हुआ हैं।

यह कहना उपयुक्त होगा कि उत्तर प्रदेश ने जाति वाद और धार्मिक तृष्टि करण साफ तौर पर खारिज कर दिया। उसने चाय वाले, आम परिवार से जुडे, ईमानदार छबी वाले प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को चुना है। परिवारवादियो को धूल चटा दी। उसने दजित, सवर्ण, धर्म की सोशल इंजीनियरिंग को नकार कर हर-हर मोदी-घर-घर मोदी और सबका साथ सबका विकास को अपनाया। उसने विमुद्रीकरण जैसा कठोर निर्णय लेने वाले को चुना। इससे यह भी साबित होता है कि कठिनाईयो का सामना भले ही करना पडे़ यदि देश हित की बात है तो आम जन सहन करने को तत्पर है देशवासि चाहते है कि देश स्वच्छ बने, हर घर में स्वच्छ शौचालय हो, अपना बैंक खाता हो दिन रात बिजली मिले। कौन महिला नही चाहती की चूले के धुऐ से छुटकारा मिले। नरेन्द्र मोदी ने इन सब पर ध्यान देकर आम भारतीय परिवारो का दिल जीता हैं अब उन्हें यह देखना है कि लम्बे समय से सत्ता से वंचित अपने वाले कही अर्थाजन का तांडव न खड़ा करें। कानून सबके लिए समान रूप से लागू हो। साथ ही मध्य प्रदेश-छत्तीसगढ़ जैसे हर समय अपनी जनता के बीच में रहने वाले, अपनी जनता के बीच दुख-दर्द के सहभागी मुख्यमंत्री देना भी भारतीय जनता पार्टी के नेतृत्व का कर्तव्य है। भाजपा ने मणिपूर में भी आश्चर्यजनक मत हासिल किये हैं। गोवा में जरूर कुछ पिछड़ गयी पर भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष का दावा है वहॉ भी उनकी पार्टी ही सरकार बनायेगी। पंजाब में कॉग्रेस के कैप्टन ने पार्टी को विजय दिला दी है। इसमें भाजपा को गठबंधन धर्म का पालन करते हुये भारी नुकसान उठाना पड़ा। युवाओं की बेरोजगारी, नशे का तांडव तथा भ्रष्टाचार के मसले भी इनको ले डूबे। बहरहाल उत्तर प्रदेश, उत्तराखण्ड़ को प्रचंड बहुमत के साथ राष्ट्रिय दल, जिसकी केन्द्र में भी सत्ता है, का प्रत्यक्ष लाभ मिलेगा। मणिपुर, गोवा भी सहयोगी दलों के साथ इसी राष्ट्रिय पार्टी के साथ हागें ऐसा प्रतीत होता है।


Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।


आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


1. 20 फरवरी से बचत खाते से हफ्ते में 50000 रु निकाल सकेंगे, 13 मार्च से 'नो लिमिट': आरबीआई

2. सभी भारतीय हिंदू और हम सब एक हैं: मोहन भागवत

3. रिजर्व बैंक ने दरों में नहीं किया कोई बदलाव, रेपो रेट 6.25 पर कायम

4. भारतीय अर्थव्‍यवस्‍था में नगदी बहुत महत्‍वपूर्ण, नोटबंदी से होगा फायदा: पीएम मोदी

5. अपने दोस्तों से शादी-शुदा जिंदगी की परेशानियों को ना करें शेयर, मिल सकता है धोखा!

6. तमिलनाडु में राजनीतिक संकट जारी: शशिकला ने 131 विधायकों को अज्ञात जगह भेजा

7. भीमसेन जोशी को सुनना भारत की मिट्टी को समझना है

8. मोदी के कार्यों से जनता को कम अमीरों को ज्यादा फायदा : मायावती

9. माल्या को झटका, कर्नाटक हाईकोर्ट ने यूबीएचएल की परिसंपत्तियों को बेचने का दिया आदेश

10. मजदूरों को डिजिटल भुगतान से सम्बन्धित विधेयक लोकसभा में पारित

11. आतंकी मसूद अजहर पर प्रतिबंध लगाने अमेरिका ने यूएन में दी अर्जी

12. जियो के फ्री ऑफर को लेकर सीसीआई पहुंचा एयरटेल

13. गर्भाशय निकालने वाले डॉक्टरों के गिरोह का पर्दाफाश, 2200 महिलाओं को बनाया शिकार

14. वेलेंटाइन डे पर लॉन्च होगी नई सिटी सेडान होंडा कार

15. उच्च के सूर्य ने दी बुलंदी, क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर को इसी दशा में मिला सम्मान

************************************************************************************

बॉलीवुड      कारोबार      दुनिया      खेल      इन्फो     राशिफल     मोबाइल

************************************************************************************


पलपलइंडिया का ऐनडरोएड मोबाइल एप्प डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे.

खबरे पढने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने, ट्विटर और गूगल+ पर फालो भी कर सकते है.



अन्य जानकारियां :

सुरुचि: इस पेज पर कुकिंग और रेसेपी के बारे में रोज़ जानिए कुछ नया

तनमन: इस पेज पर जाने सेहतमंद रहने के तरीके और जानकारियां

शैली: यह पेज देगा स्टाइल और ब्यूटीटिप्स सहित लाइफस्टाइल को नया टच

मंगलपरिणय: इस पेज पर मिलेगी विवाह से जुड़ी हर वो जानकारी जिसे आप जानना चाहेंगी

आधी दुनिया: यह पेज साझा करता है महिलाओं की जिन्दगी के हर छुए-अनछुए पहलुओं को

यात्रा: इस पेज पर जानें देश-विदेश के पर्यटन स्थलों को

वास्तुशास्त्र: यह पेज देगा खुशहाल जिन्दगी की बेहद आसान टिप्स