मध्य प्रदेश के सबसे बड़े शहर इन्दौर में विस्फोट से सात लोग मारे गये।सुना है इस विस्फोट की भयानक आवाज से प्रशासन की नींद खुल गयी है।इससे पहले प्रशासन झाबुआ जिले के पेटलावद में हुए महा विस्फोट से भी जागा था।इन्दौर के समीप राऊ में लगी पटाखों की आग से भी नींद खुली थी।पेटलावद के विस्फोट को महा विस्फोट का दर्जा इसलिए कि उसने अभी हाल ही में अफगानिस्तान पर गिराये गये कोई दस हजार किलो वजनी बम,जिसे मदर आफ आल बम्स कहा जाता है,से भी अधिक जानमाल का नुकसान किया था।बहरहाल मध्य प्रदेश में छोटे,बड़े, मझोले विस्फोटों का सिलसिला जारी है और प्रशासन के जागने का सिलसिला भी।    इन्दौर का रानीपुरा बाजार शहर के बीचोंबीच है। नगर के बड़े और पुराने बाजारों में गणना होती है। दिन भर गहमागहमी रहती है।भीड़ भरा बाजार है ये। इस बाजार के बिल्कुल समीप कोतवाली,ट्रेफिक थाना और थोड़ी ही दूर पर पुलिस उप महानिरीक्षक का दफ्तर है। यहीं एक पटाखा हाउस में उल्लेखित विस्फोट हुआ।
 

     यहां पटाखों का अवैध भंडारण था।मरने वालों में पटाखा हाउस के मालिक के साथ ही रानीपुरा आये व्यापारी भी शामिल हैं। यहां पटाखों का धड़ल्ले से अवैध व्यापार चल रहा था।इसकी जानकारी आसपास के प्रायः सभी व्यापारियों ,दुकानदारों के साथ पटाखा खरीदने के अन्य इच्छुकों भी थी।सिर्फ पुलिस- प्रशासन अनभिज्ञ था।हालांकि एक समाचारपत्र के अनुसार आसपास के दुकानदारों ने पटाखों के इस अवैध भंडारण की शिकायत जिला प्रशासन से करते हुए बड़ी दुर्घटना की आशंका व्यक्त की थी।संभव है इन्दौर की भागमभाग जिन्दगी,प्रशासनिक व्यस्तता ,अति महत्वपूर्ण व्यक्तियों की तीमारदारी के चलते प्रशासन का ध्यान इस ओर नहीं गया हो।प्रशासन का कहना है कि किसी को भी शहरी सीमा में पटाखे रखने का लाइसेंस नहीं दिया गया। एन केन प्रकारेण धन कमाने की भूख वाले चोरी छिपे ऐसे दुष्कृत्य करने सै नहीं चूकते।हमारे एक वरिष्ठ पत्रकार मित्र प्रशासन से अधिक ऐसे धनपिशाचों का दोष मानते हैं।उनका कहना है कि मदिरा पीकर गाड़ी नहीं चलाने का कानून है।लोग नहीं मानते।आये दिन दुर्घटनाएं कर स्वयं मरते हैं,दूसरों को भी मारते हैं।प्रशासन किसका किसका मुंह नाक सूंघता फिरे।   

 ऐसे ही अवैध धंधा करने वाले प्रशासन से छिप छिपा कर व्यापार करते हैं।यदा कदा पकड़े भी जाते हैं। हर ऐसी दुर्घटना के लिए प्रशासन को  दोषी नहीं ठहराया जा सकता।बात में दम है।नागरिकों को अपनी जिम्मेदारी का अहसास होना ही चाहिए।इसी तरह प्रशासन को भी केवल दीपावली दशहरे के समय पटाखा दुकानों, होली के अवसर पर खाद्य पदार्थो का निरीक्षण   कर  अपने कर्तव्य की इतिश्री नहीं मान लेना चाहिए। निरीक्षण ,छापे अनवरत जारी रखा कर प्रशासन की सजग, सक्रिय,प्रभावी उपस्थिति का अहसास कराते रहना चाहिए।   


Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।


आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


1. 20 फरवरी से बचत खाते से हफ्ते में 50000 रु निकाल सकेंगे, 13 मार्च से 'नो लिमिट': आरबीआई

2. सभी भारतीय हिंदू और हम सब एक हैं: मोहन भागवत

3. रिजर्व बैंक ने दरों में नहीं किया कोई बदलाव, रेपो रेट 6.25 पर कायम

4. भारतीय अर्थव्‍यवस्‍था में नगदी बहुत महत्‍वपूर्ण, नोटबंदी से होगा फायदा: पीएम मोदी

5. अपने दोस्तों से शादी-शुदा जिंदगी की परेशानियों को ना करें शेयर, मिल सकता है धोखा!

6. तमिलनाडु में राजनीतिक संकट जारी: शशिकला ने 131 विधायकों को अज्ञात जगह भेजा

7. भीमसेन जोशी को सुनना भारत की मिट्टी को समझना है

8. मोदी के कार्यों से जनता को कम अमीरों को ज्यादा फायदा : मायावती

9. माल्या को झटका, कर्नाटक हाईकोर्ट ने यूबीएचएल की परिसंपत्तियों को बेचने का दिया आदेश

10. मजदूरों को डिजिटल भुगतान से सम्बन्धित विधेयक लोकसभा में पारित

11. आतंकी मसूद अजहर पर प्रतिबंध लगाने अमेरिका ने यूएन में दी अर्जी

12. जियो के फ्री ऑफर को लेकर सीसीआई पहुंचा एयरटेल

13. गर्भाशय निकालने वाले डॉक्टरों के गिरोह का पर्दाफाश, 2200 महिलाओं को बनाया शिकार

14. वेलेंटाइन डे पर लॉन्च होगी नई सिटी सेडान होंडा कार

15. उच्च के सूर्य ने दी बुलंदी, क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर को इसी दशा में मिला सम्मान

************************************************************************************

बॉलीवुड      कारोबार      दुनिया      खेल      इन्फो     राशिफल     मोबाइल

************************************************************************************


पलपलइंडिया का ऐनडरोएड मोबाइल एप्प डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे.

खबरे पढने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने, ट्विटर और गूगल+ पर फालो भी कर सकते है.



अन्य जानकारियां :

सुरुचि: इस पेज पर कुकिंग और रेसेपी के बारे में रोज़ जानिए कुछ नया

तनमन: इस पेज पर जाने सेहतमंद रहने के तरीके और जानकारियां

शैली: यह पेज देगा स्टाइल और ब्यूटीटिप्स सहित लाइफस्टाइल को नया टच

मंगलपरिणय: इस पेज पर मिलेगी विवाह से जुड़ी हर वो जानकारी जिसे आप जानना चाहेंगी

आधी दुनिया: यह पेज साझा करता है महिलाओं की जिन्दगी के हर छुए-अनछुए पहलुओं को

यात्रा: इस पेज पर जानें देश-विदेश के पर्यटन स्थलों को

वास्तुशास्त्र: यह पेज देगा खुशहाल जिन्दगी की बेहद आसान टिप्स