हिमाचल में चुनाव है, तो सुखराम आए . बंगाल में चुनावी की तैयारी है ,तो मुकुल रॉय आए . देश में चुनाव होंगे तो ऐसे ना जाने कितने प्रतापी नेता बीजेपी का गुलदस्ता थामकर फोटो खिंचाते नजर आ सकते हैं . सत्ता और सियासत यही चरित्र है . चाल -चरित्र और चेहरे का घिसा -पिटा -पुराना उलाहना देना अब छोड़िए . सुखराम एंड कंपनी को ‘कमल रथ’ पर सवार कराने के बाद बीजेपी प्रवक्ता सुधांशु त्रिवेदी कह ही चुके हैं -‘जो बीत गई सो बता गई .’ कब तक आप अतीतजीवी बने रहेंगे . जिनके सामने सवाल देश का होता है वो वर्तमान और भविष्य की चिंता करते हैं . अतीत पर छाती नहीं पीटते . आपकी तरह गड़े मुर्दे नहीं उखाड़ते . अरे सुखराम ने चौबीस -पच्सीस साल पहले घोटाले किए तो किए . चार करोड़ उनके बेडरुम और पूजारुम में मिले तो मिले . जेल गए तो गए . बाहर भी तो आए. जमानत भी तो मिली . बीस साल पुरानी बात कब तक ढ़ोते रहेंगे . देश आगे बढ़ चला है . आप भी बढिए . आपने सुना नहीं है कि लोहा लोहे को काटता है . हिमाचल में वीरभद्र कुनबे के भ्रष्टाचार से लड़ना है तो सुखराम कुनबे की जरुरत है . बस. बात खत्म . सिंपल .

अगर बंगाल में चुनावी जरुरत के मद्देनजर शारदा-नारदा के चक्कर में धरे गए मुकुल रॉय को बीजेपी ले आई तो हाय -तौबा क्यों ? सुना नहीं है आपने कि जंग और इश्क में हर चीज जायज है . जंग जीतनी है कि नौतिकता की चटनी चाटनी है ? जाहिर है बंगाल में ममता को हिलाने के लिए अगर मुकुल रॉय जरुरी हैं, तो हैं . मुकुल रॉय के कारनामों की रिसर्च करके -करके लोग सोशल मीडिया को रंगे जा रहे है . धत्त …क्यों बेकार समय खराब कर रहे हैं आप सब रिसर्चर बनके . बीजेपी की सर्च कमेटी ने सब देख-समझकर ही मुकुल रॉय को अंदर लिया है . रिसर्च से ज्यादा अहम है सर्च . बंगाल में पार्टी का झंडा ऊंचा करने के लिए वोटवीरों की सर्च हुई . फिर मुकुल रॉय का नाम फाइनल हुआ . वो कितना वोट लाएंगे ये उतना अहम नहीं , जितना ये कि वो ममता का कितना वोट काटेंगें . चुनाव में कई बार लाने से ज्यादा दूसरों की काटने वाले भी अहमियत होती है . सामने वाले का कटेगा तो इधर जुटेगा .

पक्के तौर पर तो भीतरवालों को ही पता होगा लेकिन पालने में पूत का पांव देखकर ये तो कहा ही जा सकता है कि दूसरे राज्यों में भी बीजीपी की सर्च कमेटी ऐसे ही वोटवीरों की सर्च कर रही होगी. जो भले ही जेल रिटर्न हों , किसी तरह से वोट लाने की काबिलियत हो उनमें , तो चलेगा . पार्टी के नीति नियंताओं को लगता होगा कि सुखराम या मुकुल रॉय जैसे दस -बीस और आ भी जाएं तो क्या होगा ? अधिक से अधिक यही होगा कि मीडिया में कुछ लोग कुछ दिनों तक हल्ला मचाएंगे . ये देखो , किसको ले आए ? कब तक मचाएंगे ? दो -चार दिन ? फिर सब मीडिया वाले वंदे मातरम , रोहिंग्या , राम -रहीम , हनी -प्रीत किम जोंग , बगदादी वगैरह में लगेंगे . हमारे वोटवीर अपने काम में लगेंगे . पब्लिक तो ऐसे भी देश के साथ है . अब वो वक्त नहीं कि यूपी के बाहुबली डीपी यादव को पार्टी में ले आए . मीडिया ने हल्ला मचाया तो उन्हें जिस रास्ते से फूलमाला पहनाकर लाए थे , उसी रास्ते से धकियाकर बाहर भेज दिया . वो दिन भी नहीं कि विनय कटियार के जोर से बाबू सिंह कुशवाहा बीजेपी में दाखिल हुए , शोर मचा तो इंट्री टिकट फाड़कर उनके हाथ में थमा दिया गया . बेचारे कुशवाहा यूपी एनएचआरएम घोटाले के नामधारी गुनहगार होने के चक्कर में घनचक्कर हो गए . अब देश बदल रहा है . नए भारत के निर्माण में सबको जुटना है . तो अभी तो ये अंगड़ाई है . आगे और लड़ाई है .

तो जोर से बोलो बंदे मातरम …


जानिए 2016 में कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में

1. असम में पुलिस फायरिंग के चलते टूटा हाई वॉल्टेज तार, 11 लोगों की मौत, 20 घायल

2. केंद्रीय खाद्य प्रौद्योगिकी, जांच में मैगी सफल: नेस्ले इंडिया

3. गैर-चांदी आभूषणों पर उत्पाद शुल्क को लेकर जेटली अडिग

4. शंकराचार्य का विवादित बोल- साई पूजा की देन है महाराष्ट्र का सूखा

5. कन्हैया और उमर खालिद समेत 5 छात्र हो सकते है JNU से सस्पेंड

6. करोड़ों लोगों ने देखा प्यार का ये इजहार, आप भी जरूर देखिए

7. महाराष्ट्रः बार-बालाओं पर पैसे लुटाने या उन्हें छूने पर होगी सजा

8. नितिन गडकरी की पीएम मोदी को सलाह, गजलें सुनें, टेंशन फ्री रहें

9. कोल्लम हादसा-मंदिर के पास मिली विस्फोटकों से भरी तीन गाड़ि‍यां

10. शत्रु ने की नीतीश जमकर तारिफ, कहा- 2019 में PM पद के दावेदार

11. पाक अदालत में सबूत के तौर पर पेश हुआ ग्रेनेड फटा, 3 घायल

12. असम-बंगाल में हुई बंपर वोटिंग, CM गोगाई के खिलाफ केस दर्ज


************************************************************************************

बॉलीवुड      कारोबार      दुनिया      खेल      इन्फो     राशिफल     मोबाइल

************************************************************************************


पलपलइंडिया का ऐनडरोएड मोबाइल एप्प डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे.

खबरे पढने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने, ट्विटर और गूगल+ पर फालो भी कर सकते है.



अन्य जानकारियां :

सुरुचि: इस पेज पर कुकिंग और रेसेपी के बारे में रोज़ जानिए कुछ नया

तनमन: इस पेज पर जाने सेहतमंद रहने के तरीके और जानकारियां

शैली: यह पेज देगा स्टाइल और ब्यूटीटिप्स सहित लाइफस्टाइल को नया टच

मंगलपरिणय: इस पेज पर मिलेगी विवाह से जुड़ी हर वो जानकारी जिसे आप जानना चाहेंगी

आधी दुनिया: यह पेज साझा करता है महिलाओं की जिन्दगी के हर छुए-अनछुए पहलुओं को

यात्रा: इस पेज पर जानें देश-विदेश के पर्यटन स्थलों को

वास्तुशास्त्र: यह पेज देगा खुशहाल जिन्दगी की बेहद आसान टिप्स