इस वक्त देश की राजनीति के दो केन्द्र हैं... भाजपाई और गैरभाजपाई. तामिलनाडु में जब तक जयललिता थी तब तक राजनीतिक संबंधों पर उनका एकाधिकार था, उनका निर्णय अंतिम था लेकिन अब स्थिति बदल गई है, एआईएडीएमके में दूसरे नंबर का कोई नेता नहीं है जिसका निर्णय सर्वमान्य हो! एमजीआर के निधन के बाद भी ऐसी ही स्थिति बनी थी और तब राजनैतिक संघर्ष करके कई सालों बाद एकाधिकार प्राप्त किया था. अभी राजनैतिक तस्वीर में एआईएडीएमके के दो नेता हैं... मुख्यमंत्री पन्नीरसेल्वम और शशिकला! एआईएडीएमके पर अपना एकाधिकार जमाने के लिए अभी दोनों को परेशानी है और इसीलिए भाजपाई और गैरभाजपाई, दोनों फायदे में रहेंगे! किसके हिस्से में क्या आता है, यह समय के गर्भ में है... इस पर कोई राय बनाना जल्दीबाजी होगी! 

दक्षिण भारत में जयललिता को भावी प्रधानमंत्री के तौर पर देखा जाता था इसलिए वे राजनैतिक संबंधों पर निर्णय लेने की जल्दी में नहीं थी लेकिन अब एआईएडीएमके का नेतृत्व बदल गया है.

वैसे इस वक्त भाजपा इसलिए इस मामले में फायदे में है कि केन्द्र में सत्ता में है और यदि पन्नीरसेल्वम जल्दी से जल्दी अपना कद बढ़ाना चाहते हैं तो नरेन्द्र मोदी की करीबी उन्हें राजनैतिक विरासत की जंग जीतने में मदद कर सकती है! जयललिता के भरोसे के कारण भी उनके समर्थकों का झुकाव पन्नीरसेल्वम के लिए है लेकिन असली परीक्षा तो आगे की राजनैतिक सुझबुझ पर ही निर्भर है. 

जो हालात बने हैं उनको देखकर कहा जा सकता है कि जल्दी ही अन्नाद्रमुक एनडीए के साथ मिला सकती है और तमिलनाडु की राजनीति में नया राजनैतिक समीकरण नजर आ सकता है!

दक्षिण भारत में भाजपा की स्थिति कमजोर है तथा यहां अपनी मजबूत पकड़ बनाना उसके लिए आसान भी नहीं है इसलिए दक्षिण के राज्यों में पैर मजबूत करने का यह बेहतर मौका है. अन्नाद्रमुक का साथ भाजपा के लिए फायदेमंद है. दक्षिण भारत की राजनीति को देखें तो यहां की सत्तासीन पार्टी हमेशा से केंद्र में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती रही है. राजनैतिक गणित भी इनके बगैर मजबूत नहीं होती है!

सच्चाई तो यह है कि भाजपा सरकार अन्नाद्रमुक को एनडीए में शामिल करने को लेकर बेहद उत्सुक रही है और तमिलनाडु के विधानसभा चुनाव में भी अन्नाद्रमुक के साथ मिलकर मैदान में उतरने की बातचीत भी थी लेकिन तब जयललिता का एकाधिकार और कद बड़ी बाधा था.

अब तामिलनाडु की राजनीति ने करवट ली है. जयललिता के असामायिक निधन से सारा सियासी समीकरण बदल गया है! एआईएडीएमके में जयललिता के कद का कोई नेता नहीं है और पार्टी को आशंका है कि केंद्र के सहयोग के बिना राजनैतिक हालातों पर नियंत्रण पाना आसान नहीं है!

यों तो पन्नीरसेल्वम तीसरी बार तमिलनाडु के मुख्यमंत्री बने हैं, लेकिन वे कभी पार्टी के प्रभावशाली नेता नहीं रहे हैं. उधर, शशिकला भले ही पर्दे के पीछे से एआईएडीएमके पर खासा प्रभाव रखती हैं, लेकिन उनके पास भी जनाधार का अभाव है!

उधर, गैरभाजपाइयों के पास भी बेहतर मौका है क्योंकि दोनों नेताओं में से जो भी भाजपा के करीब जाएगा उसका विरोधी अपनेआप गैरभाजपाइयों के करीब होता चला जाएगा!

अब जो संभावना बन रही है उसमें केन्द्रीय नेताओं और प्रदेश के नेताओं की क्षमताओं की परीक्षा है कि वे किस तरह से राजनैतिक हालातों को अपने समर्थन में कर सकते हैं क्योंकि जो हालात बने हैं उसमें यह शेरनीति बहुत मायने रखती है...

यहां कोई किसी को राह नहीं देता,

औरों को गिराकर संभल सके तो चल...



आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए 2016 में कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में

1. जयललिता का मेरीना बीच में हुआ अंतिम संस्कार, दर्शन के लिए उमड़ा जनसैलाब

2. जस्टिस जगदीश सिंह खेहर होंगे देश के अगले चीफ जस्टिस

3. स्वामी ने जेटली पर साधा निशाना, कहा - देश को वकील नहीं अर्थशास्त्री वित्तमंत्री की जरूरत

4. अनुपम खेर ने कहा- राहुल गांधी को राष्ट्रगान गाते देखना चाहता हूं

5. करमापा के अरुणाचल दौरे को लेकर आग बबूला हुआ चीन

6. अदिति ने एलपीजीए में खेलने के आंशिक अधिकार हासिल किए

7. सोना 200 रुपये कमजोर, चांदी चमकी

8. बैंक कतार में पैदा हुआ बच्चा, नाम रखा 'खजांची नाथ'

9. रिलायंस का बड़ा ऐलान, अब 4जी ही नहीं 2जी व 3जी फोन में भी चलेगा जियो सिम

10. पिता से अलग हुई आलिया, नए घर में बहन के साथ हुई शिफ्ट

11. बीजेपी सरकार का बड़ा ऐलान: आज से युवाओं को फ्री मिलेगा इंटरनेट और टाकटाइम

12. निसान की मंहगी कार गॉडजिला भारत में लॉन्च

13. निकॉन लेकर आया नयी टेक्नोलॉजी मल्टीलेयर हाइब्रिड सैंसर

14. उर्जित का वेतन दो लाख रुपए, घर पर सहायक की सुविधा नहीं

15. आधार कार्ड के बिना सीनियर सिटिजन को नहीं मिलेगी रेलवे में छूट



************************************************************************************

बॉलीवुड       कारोबार        दुनिया       खेल        इन्फो      राशिफल

************************************************************************************



पलपलइंडिया का ऐनडरोएड मोबाइल एप्प डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे.

खबरे पढने और राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने, ट्विटर और गूगल+ पर फालो भी कर सकते है.


Comments-
0

अन्य जानकारियां :

सुरुचि: इस पेज पर कुकिंग और रेसेपी के बारे में रोज़ जानिए कुछ नया

तनमन: इस पेज पर जाने सेहतमंद रहने के तरीके और जानकारियां

शैली: यह पेज देगा स्टाइल और ब्यूटीटिप्स सहित लाइफस्टाइल को नया टच

मंगलपरिणय: इस पेज पर मिलेगी विवाह से जुड़ी हर वो जानकारी जिसे आप जानना चाहेंगी

आधी दुनिया: यह पेज साझा करता है महिलाओं की जिन्दगी के हर छुए-अनछुए पहलुओं को

यात्रा: इस पेज पर जानें देश-विदेश के पर्यटन स्थलों को

वास्तुशास्त्र: यह पेज देगा खुशहाल जिन्दगी की बेहद आसान टिप्स