जबलपुर. पश्चिम मध्य रेल के मुख्यालय कोचिंग धन वापसी अनुभाग एवं मुख्य वाणिज्य प्रबंधक टिकिट जांच उडऩदस्ता द्वारा दिनांक 1 अप्रैल से 25 जून 2020 तक उत्कृष्ट कार्य किया गया, जिसके अंतर्गत पमरे मुख्यालय मे ई-टिकिट के रिफंड के केस वर्तमान में समाप्त हो गये हैं एवं सभी यत्रियों को प्रकरण के अनुसार रिफंड दिया जा चुका है. 

मुख्य जनसम्पर्क अधिकारी पमरे जबलपुर, श्रीमती प्रियंका दीक्षित ने बताया कि लंबित मामलों को समाप्त कर पश्चिम मध्य रेल ने एक बार फिर रिकार्ड बनाया है. प्रमुख मुख्य वाणिज्य प्रबंधक राजेश पाठक, मुख्य वाणिज्य प्रबंधक (यात्री) ब्रिजेन्द्र कुमार, उप मुख्य वाणिज्य प्रबंधक सुबीर श्रीवास्तव, सहायक वाणिज्य प्रबंधक  नीतेश सोने के मार्गदर्शन मेेेें जीरो पेन्डेन्सी का लक्ष्य लेकर ई-टिकिट रिफंड के लिए वाणिज्य विभाग के कर्मचारियों अमित वर्मा, पुष्पा द्विवेदी, मयंक दुबे, गजेन्द्र महरोलिया, मुकेश ज्योतिषी, शैलेष उपाघ्याय, प्रेमप्रकाश, जे.पी. सिंह ने रिफंड प्रकरणों को समाप्त करने का लक्ष्य लेकर अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया एवं असंभव से लक्ष्य को प्राप्त किया.

ई-टिकिट के मामले में 31.03.2020 को 3080 मामले लंबित थे, तथा लॉकडाऊन के दौरान एवं उसके बाद दिनांक 25.06.2020 तक सभी प्रकरणों का निपटारा कर लंबित प्रकरणों की संख्या शून्य हो गई. दिनांक 06.07.2020 तक ई-टिकिटों के रिफंड प्रकरणों की संख्या शून्य है. 

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।