प्रयागराज. यूपी के फिरोजाबाद जिले के टूंडला रेलवे स्टेशन पर रेल कर्मचारियों द्वारा श्रमिक स्पेशल ट्रेन में सवार मुसाफिरों को फेंक कर खाना व पानी की बोतलें दिए जाने के मामले में रेल विभाग लगातार एक्शन में हैं. उत्तर मध्य रेलवे प्रयागराज प्रशासन ने इस मामले में सीआईटी देवेंद्र दीक्षित के बाद अब 7 अन्य कर्मचारियों को भी सस्पेंड कर दिया है.

इस मामले में अब तक 8 कर्मचारी सस्पेंड किये जा चुके हैं, जबकि जांच पूरी होने के बाद 21 लोगों को चार्जशीट दी गई है. रेलवे का कहना है कि जीरो टॉलरेंस की नीति पर काम करते हुए इसे बेहद गंभीर मामला माना गया है और आरोपी कर्मचारियों के जवाब व अन्य औपचारिकताओं को पूरा करने के बाद इस मामले में सख्त कार्रवाई की जाएगी. रेलवे की इस कार्रवाई से महकमे में हड़कंप मचा हुआ है.

गौरतलब है कि, 25 मई को अहमदाबाद से चली श्रमिक स्पेशल ट्रेन टूंडला रेलवे स्टेशन पर पहुंची थी. यहां रेलवे के कर्मचारियों ने ट्रेन में सवार मजदूरों को फेंककर खाने के पैकेट व पानी की बोतले दी थीं. एक मुसाफिर ने इस पर एतराज जताया था तो उसे गालियां दी गई थीं. कुछ लोगों ने इसका वीडियो बनाकर उसे सोशल मीडिया वायरल कर दिया था.

वायरल वीडियो के आधार पर रेलवे ने पहले तो चीफ इंस्पेक्टर ऑफ टिकट देवेंद्र दीक्षित को सस्पेंड कर पूरे मामले में जांच बिठा दी. उसके बाद जांच पूरी होने के बाद 7 अन्य कर्मचारियों को भी सस्पेंड कर दिया गया है. जिन 7 नये कर्मचारियों को सस्पेंड किया गया है, उनमें राकेश कुमार, अमरदीप पटेल, लक्ष्मी नारायण, मीना, शमशेर यादव, डीके दीक्षित और नरविका शामिल हैं. प्रयागराज स्थित नॉर्थ सेन्ट्रल रेलवे जोन के सीपीआरओ अजीत कुमार सिंह ने इस कार्रवाई की पुष्टि की है.

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।