पलपल संवाददाता, जबलपुर. मुम्बई से ट्रेन में बैठकर उत्तरप्रदेश जा रहे श्रमिक की बेटी की उल्टी-दस्त होने के कारण मौत हो गई, बच्ची सहित माता पिता का सेम्पल लिया गया तो तीनों कोरोना पाजिटिव पाए गए. प्रोटोकॉल के तहत बच्ची का अंतिम संस्कार कर दिया गया, वहीं माता-पिता को मेडिकल अस्पताल के आईसोलेशन वार्ड में भरती किया गया. इस घटना के बाद हड़कम्प मचा हुआ है कि जिसे ट्रेन से और भी श्रमिक परिवारों के साथ अपने अपने घरों को लौट रहे होगें अब उनकी भी जांच कराई जाएगी. 

बताया गया है कि कांदीवली मुम्बई से श्रमिक स्पेशल ट्रेन से एक श्रमिक अपनी पत्नी व डेढ़ वर्षीय बच्ची को लेकर ग्राम धनोतिलाल कोटिया तहसील सलीमपुर जिला देवरिया उत्तरप्रदेश के लिए 20 मई को रवाना हुआ, रास्ते में मासूम बच्ची को उल्टी व दस्त होने लगे, जिसके चलते उन्हें जबलपुर रेलवे स्टेशन पर उतारा गया.

इसके बाद बच्ची को इलाज के लिए अस्पताल रवाना किया, लेकिन बच्ची की रास्ते में ही मौत हो गई, इसके बाद वापस स्टेशन लेकर आ गए. यहां से तीनों को फिर मेडिकल अस्पताल पहुंचाया गया, जहां पर तीनों के सेम्पल जांच के लिए भेजे गए, जहां से आज शनिवार को मिली रिपोर्ट में मृत बच्ची व उसके माता पिता की रिपोर्ट कोरोना पाजिटिव आई. बच्ची का शुक्रवार को ही कोरोना पाजिटिव मानते हुए प्रोटोकॉल के तहत अंतिम संस्कार कर दिया गया था, बच्ची के माता पिता को मेडिकल अस्पताल के आईसोलेशन वार्ड में भरती कर इलाज किया जा रहा है. वैसे जबलपुर में अब तक कोरोना पाजिटिव मामलों की संख्या 199 है, यदि इन्हे शामिल किया जाता है कि यह संख्या 202 हो जाती है, वहीं मरने वालों की संख्या भी 10 होगी. अभी तक की स्थिति में कोरोना से जंग जीतने वालों की संख्या 116 हो चुकी है.

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।