नई दिल्ली. इंसानों में फैले खतरनाक कोरोना वायरस के संक्रमण के लिये चमगादड़ और पेंगोलिन को भी कारण माना जा रहा है. ऐसे में चीन ने चमगादड़ और पेंगोलिन जैसे जंगली जानवरों के शिकार पर कड़ी सजा का ऐलान किया है.

चीन में सरकार की शीर्ष राजनीतिक सलाहकार संस्था चाइना पीपुल्स पॉलिटिकल कंसल्टेटिव कॉन्फ्रेंस (सीपीपीसीसी) की अहम वार्षिक बैठक का आज दूसरे दिन चीन ने कहा है कि जंगली जानवरों का व्यापार करने पर भी दंडित किया जाएगा. वुहान और शंघाई के बाजारों में जंगली जानवरों का मांस नहीं बिकेगा. 

इस बैठक को आज राष्ट्रपति शी जिनपिंग संबोधित करेंगे. इससे पहले जिनपिंग ने आधिकारिक भोज कार्यक्रमों में शाकाहारी व्यंजन रखे जाने की मांग की है. चीनी सरकारी मीडिया के मुताबिक जिनपिंग शाकाहारी भोजन को बढ़ावा देने के लिए एक प्रस्ताव भी सीपीपीसीसी के सामने रखेंगे. उनका कहना है कि सरकारी रोक के बावजूद अब भी कई बार जंगली जानवरों का मांस आधिकारिक भोज कार्यक्रमों में कई बार परोसा जाता है.

सीपीपीसीसी प्रवक्ता गुओ विमिन ने बताया कि सीपीपीसीसी की उप समिति इस बाबत काम कर रही है कि जंगली जानवरों को नागरिक आहार से बाहर किया जाए. इस बारे में एक मसौदा प्रस्ताव भी पेश किया जाएगा.

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।