कोटा/जबलपुर. कोरोना महामारी के बीच जिस प्रकार देश भर के श्रमिकों को केंद्र सरकार ने लावारिश छोड़ दिया है और करोड़ों श्रमिकों को वेतन आदि तक का भुगतान नहीं हो पा रहा है, जिस पर सरकार द्वारा कोई कठोर कार्रवाई किये जाने की बजाय मौन धारण किया गया है, वहीं रेलवे सहित तमाम केंद्रीय कर्मचारियों का डीए फ्रीज भी इस संकट काल के दौरान फ्रीज एवं रिटायर कर्मियों का महंगाई राहत को फ्रीज कर दिया गया है, यह बहुत ही अमानवीय निर्णय है, जिसके खिलाफ वेस्ट सेंट्रल रेलवे एम्पलाइज यूनियन (डबलूसीआरईयू) द्वारा केंद्रीय श्रमिक संगठनों के आव्हान पर शुक्रवार 22 मई को देशभर में सरकार के रवैये के प्रति विरोध व्यक्त करके मंडल रेल प्रबंधक कार्यालय पर एक दिवसीय देशव्यापी भूख हड़ताल का आयोजन किया जायेगा. 

वेस्ट सेन्ट्रल रेलवे एम्पलाईज यूनियन के महामंत्री मुकेश गालव ने बताया कि यूनियन द्वारा रेलकर्मचारियों को सामाजिक दूरी एवं निषेधाज्ञा का पालन करते हुए एक दिवसीय भूख हड़ताल का आयोजन करेंगे.

केन्द्र सरकार तत्काल कर्मचारी विरोध निर्णय वापस ले

श्री गालव ने बताया कि कोरोना महामारी के चलते हुये केन्द्र सरकार एवं राज्य सरकारों द्वारा श्रम कानूनों में रोक लगाई है उसे तुरन्त प्रभाव से बहाल करनें, केन्द्रीय कर्मचारी एवं सेवानिवृत कर्मचारियों का जनवरी 2020 से फ्रीज किया हुआ मंहगाई भत्ते का एरियर सहित भुगतान किया जाये.

रेल कर्मचारियों की इन मांगों व समस्याओं का हो अविलंब निराकरण

डबलूसीआरईयू के महामंत्री मुकेश गालव ने रेल प्रशासन से मांग की कि रेल कर्मचारियों की समस्याओं व जायज मांगों का अविलंब निराकरण हो. इन मांगों में प्री-मानसून कॉलोनियों का रख रखाव के संबंध में शीघ्र कार्य प्रारंभ किया जाये

- रोड साईड कॉलोनियों की सफाई से संबंधित मुख्यालय द्वारा जारी जेपीओ के अनुसार शीघ्र कॉलोनियों की सफाई करवाई जाये.

- रिस्ट्रक्चरिंग, एमएसीपीएस, पदोन्नति आदेश जारी कर रिक्तियों को भरा जाये, सभी कर्मचारियों को फेस मास्क एवं सेनेटाईजर समय पर उपलब्ध कराया जाये एवं सभी विभागों में कार्यस्थल पर  सोशल डिस्टेंसिंग सुनिश्चित की जाये

- कोरोना महामारी के चलते सभी विभागों के समस्त कर्मचारियों की ट्रांसपोर्टेशन एलाउंस, लॉक डाउन/कफ्र्यू के समय मिलने वाले विशेष आकस्मिक अवकाश इत्यादि की कोई कटौती नहीं की जाये एवं समस्त भत्तों का नियमित भुगतान सुनिश्चित किया जाये.

- कोविड-19 में कार्य करने वाले सभी रेलकर्मचारियों का 50 लाख का बीमा करने जैसी मांगों को लेकर एक दिवसीय भूख हड़ताल का आयोजन रखा गया है.

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।