- प्रदीप कुमार द्विवेदी   

* अमावस्या पर विशेष व्यापारिक/सांसारिक कार्यों को विराम दिया जाता है क्योंकि यह धर्मकर्म... दानपुण्य का श्रेष्ठ अवसर होता है और इस मौके पर मन का भटकाव नहीं होना चाहिए!

* अमावस्या के अवसर पर प्रथम पितृ नारायण देव की आराधना समस्त पितृदोषों से मुक्ति प्रदान करती है!

* इस मौके पर ज्ञात-अज्ञात पितरों के प्रति जाने-अनजाने किए गए पाप-अपराध के लिए क्षमा मांगते हुए नारायण देव से उनकी उत्तम गति की प्रार्थना करें... पितरों के आशीर्वाद से जीवन में सुख-समृद्धि-सफलता आएगी!

* प्रथम पितृ नारायण देव की आराधना करें... ओम प्रथम पितृ नारायण देवेभ्यो नम:!

-आज का राशिफल-

मेष राशि: अभी आप अपने रचनात्मकता दृष्टिकोण से उत्साहित महसूस कर रहे हैं और उसे आगे बढ़ाने के लिए कुछ भी करने के लिए तैयार हैं. आप अभी आध्यात्मिक अंतर्दृष्टि चाहते हैं इसलिए अपने सलाहकार के पास जाएँ जो आपको अतिरिक्त ज्ञान प्रदान करे.

वृष राशि:  उच्च शिक्षा नए अवसरों को पाने का मार्ग हो सकते हैं. इस समय आप अपने ज्ञान को बढ़ाने और लोगों से अपने विचार बाँटने में आप दिलचस्पी रखेंगे. अभी कोई रिश्ता या कार्य समाप्त हो सकता है लेकिन इसके स्थान पर कुछ नया आपके उत्साह का कारण बनेगा.

मिथुन राशि:  आप अपने रोजाना के कामों और विचारों से बोर हो चुके हैं और इस समय कुछ बड़ा करने के इच्छुक हैं. अब आप अपने जीवन के प्रत्येक कोने से आदर्शों और पहलुओं को देख रहे हैं और इन्हे आपस में जोड़ रहे हैं ताकि जीवन में बेहतरीन संभावनाओं को खोजा जा सके.

कर्क राशि:  इस समय नए अवसर प्राप्त होंगे. मनोरंजन के लिए समय निकालें और अगर आप सक्षम हैं तो किसी यात्रा का मज़ा लें. अपने अध्यापक या गुरु के साथ लंबी दूरी की यात्रा आपको नए आध्यात्मिक या शैक्षिक दृष्टिकोण से जोड़ सकती है.

सिंह राशि:  नए कौशल पाने और उनका प्रयोग करने के लिए आप अभी कड़ी मेहनत कर रहे हैं. अच्छी बात यह है कि आपके इन प्रयासों को नोट किया जा रहा है और प्रशंसा मिल रही है. अभी मिले पुरस्कारों का मज़ा लें. कार्य करने का सबसे अच्छा तरीका है अपनी दिनचर्या से हटकर कुछ करना.

कन्या राशि:  किसी के साथ लम्बी बैठक और वार्तालाप का भी योग है. इस समय आपके भाग्य में बहुत कुछ है लेकिन इन्हे आप आसानी से संभाल सकते है; अपनी प्राथमिकताओं को अच्छी तरह से प्रबंधित करें जिससे आपके पास हर किसी के लिए पर्याप्त समय होगा.

तुला राशि:  इस वक्त आप बड़ी चीज़ों, विचारों, सपनों, योजनाओं आदि के बारे में सोच रहे हैं. अपने ज्ञान विस्तार करना भी अच्छा विचार है और इससे आपका प्रदर्शन बेहतरीन होगा. इस समय आप अपने आसपास के लोगों पर अधिक ध्यान दे रहे हैं और अधिक सहज महसूस कर रहे हैं. 

वृश्चिक राशि:   इस समय आप दूसरों की जरूरतों और इच्छाओं के अनुरूप काम करेंगे. वित्तीय निवेश की योजना बनाएं, अपने लक्ष्य की तरफ बढ़ें. संचार और वार्तालाप इस समय आपके लिए सकारात्मक और आकर्षक हैं, इसलिए इसका फायदा उठायें. दोस्ताना रिश्ते, रोमांटिक अफेयर्स और मनोरजंक अभी आपकी प्राथमिकता है.

धनु राशि:  आप शायद इस समय अपने कैरियर और व्यावसायिक मामलों के बारे में बहुत कुछ सोच रहे हैं. इस समय अधिक बातचीत और संचार की आवश्यकता है. लोगों को प्रभावित करने के लिए अपने शब्दों की शक्ति का उपयोग करें. यह कैरियर और पेशेवर योजनाओं के लिए एक बेहतरीन अवधि है.

मकर राशि:  आप अपने कैरियर और बिज़नेस के मामलों में मल्टीटास्किंग पसंद करते हैं. अपने आसपास के लोगों से मिलें जुले और अपने वरिष्ठों को प्रभावित करने के लिए शब्दों की अपनी निपुणता का प्रयोग करें. अपने करियर को बढ़ाने और कुछ पेशेवर योजना या रणनीतियां बनाने के लिए यह एक शानदार समय है.

कुम्भ राशि:  इस समय आप अपने करियर के बारे में अधिक सोचेंगे और इसी में अधिक समय व्यतीत करेंगे. हाल में कार्य-स्थल पर आपके प्रदर्शन की जाँच की जाएगी और आपको उसकी अच्छी समीक्षा मिलेगी. अपने रैंक और स्थिति में बढ़ोतरी का मज़ा लें. पदोन्नति और वेतन में वृद्धि की भी संभावना है. 

मीन राशि:  आपके शब्द और उनके पीछे की शक्ति लोगों को प्रभावित कर सकती हैं. अपने करियर के लिए मौकों का फायदा उठायें और रिस्क लें. आपके साथी और सहयोगी अभी आपकी अच्छी सलाहों को पहचानेंगे. नए और पुराने दोस्तों से जुड़े. क्लब और संगठनों के माध्यम से नेटवर्किंग करें.  

* आचार्य पं. श्रीकान्त पटैरिया (ज्योतिष विशेषज्ञ) वाट्सएप नम्बर 9131366453   

* यहां राशिफल चन्द्र के गोचर पर आधारित है, व्यक्तिगत जन्म के ग्रह और अन्य ग्रहों के गोचर के कारण शुभाशुभ परिणामों में कमी-वृद्धि संभव है, इसलिए अच्छे समय का सद्उपयोग करें और खराब समय में सतर्क रहें.

- शुक्रवार का चौघडिय़ा -

दिन का चौघडिय़ा      रात्रि का चौघडिय़ा

पहला- चर              पहला- रोग

दूसरा- लाभ             दूसरा- काल

तीसरा- अमृत            तीसरा- लाभ

चौथा- काल              चौथा- उद्वेग

पांचवां- शुभ               पांचवां- शुभ

छठा- रोग                 छठा- अमृत

सातवां- उद्वेग              सातवां- चर

आठवां- चर                आठवां- रोग

* चौघडिय़ा का उपयोग कोई नया कार्य शुरू करने के लिए शुभ समय देखने के लिए किया जाता है 

* दिन का चौघडिय़ा- अपने शहर में सूर्योदय से सूर्यास्त के बीच के समय को बराबर आठ भागों में बांट लें और हर भाग का चौघडिय़ा देखें.

* रात का चौघडिय़ा- अपने शहर में सूर्यास्त से अगले दिन सूर्योदय के बीच के समय को बराबर आठ भागों में बांट लें और हर भाग का चौघडिय़ा देखें.

* अमृत, शुभ, लाभ और चर, इन चार चौघडिय़ाओं को अच्छा माना जाता है और शेष तीन चौघडिय़ाओं- रोग, काल और उद्वेग, को उपयुक्त नहीं माना जाता है.

* यहां दी जा रही जानकारियां संदर्भ हेतु हैं, स्थानीय पंरपराओं और धर्मगुरु-ज्योतिर्विद् के निर्देशानुसार इनका उपयोग कर सकते हैं.

* अपने ज्ञान के प्रदर्शन एवं दूसरे के ज्ञान की परीक्षा में समय व्यर्थ न गंवाएं क्योंकि ज्ञान अनंत है और जीवन का अंत है!

पंचांग 

शुक्रवार, 22 मई, 2020

ज्येष्ठ अमावस्या

दर्श-भावुका अमावस्या

शनि जयन्ती

वट सावित्री व्रत

मासिक कार्तिगाई

जमात उल-विदा

शक सम्वत 1942  शार्वरी

विक्रम सम्वत 2077

काली सम्वत 5122

दिन काल 13:42:44

मास ज्येष्ठ

तिथि अमावस्या - 23:10:10 तक

नक्षत्र कृत्तिका - 27:09:37 तक

करण चतुष्पाद - 10:26:59 तक, नाग - 23:10:10 तक

पक्ष कृष्ण

योग शोभन - 06:25:38 तक

सूर्योदय 05:26:32

सूर्यास्त 19:09:17

चन्द्र राशि मेष - 07:37:37 तक

चन्द्रोदय चन्द्रोदय नहीं

चन्द्रास्त 18:49:59

ऋतु ग्रीष्म

दिशा शूल: पश्चिम में

राहु काल वास: दक्षिण-पूर्व में

नक्षत्र शूल: पश्चिम में 27:09 से

चन्द्र वास: पूर्व में 07:37 तक, दक्षिण में 07:37 से

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।