पलपल संवाददाता, जबलपुर. मध्यप्रदेश में सरकार व शराब ठेकेदारों के बीच लाइसेंस फीस कम करने को लेकर बात बनती नजर नहीं आ रही है, जिसके चलते दोनों पक्षों के बीच तनातनी बढ़ती जा रही है. इस तनातनी के बीच 22 मई शुक्रवार से जबलपुर के ग्रामीण क्षेत्रों में खुली शराब की दुकानें बंद हो सकती है. 

बताया जाता है कि जिन जिलों में शिवराज सिंह चौहान सरकार के आदेश पर जिन जिलों में शराब की दुकानों को खोला गया था, वह आज शाम के बाद बंद हो सकती है, इसके बाद शराब ठेकेदार अपनी रणनीति बनाकर आगे निर्णय लेगें. गौरतलब है कि लाइसेंस फीस कम कराने को लेकर अड़े ठेकेदारों की मंत्री नरोत्तम मिश्रा से कई दौर की बातचीत हो चुकी है, शराब कारोबारियों का कहना है कि टेंडर के बाद लाक डाउन में कारोबार पूरी तरह ठप हो गया है.

जहां उन्होने दुकानें खोली है, वहां व्यापार नहीं मिल रहा है, अधिकतर शहरों में ग्रामीण क्षेत्रों में ही दुकानें खुली है, वहां से अपेक्षित कारोबार नहीं हो रहा. खबर है कि शराब ठेकेदार भी स्थानीय जिला प्रशासन के पास बैंक गारंटी जमा करने में भी आनाकानी कर रहे है, अब मामले में सुनवाई 27 मई को एमपी हाईकोर्ट में सुनवाई होना है.

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।