नई दिल्‍ली. टीम इंडिया के पूर्व कोच ग्रेग चैपल ने एक बार फिर भारतीय टीम में अपने विवादित कोचिंग काल की यादें ताजा कर दी हैं. ग्रेग चैपल ने हाल ही में प्लेराइट फाउंडेशन के साथ ऑनलाइन चैट पर बात करते हुए एमएस धोनी को मैच फिनिशर बनाने में अपने रोल पर चर्चा की थी. इसके बाद हरभजन सिंह और युवराज सिंह ने कोच के उन विवादित दिनों को फिर से याद किया है.

ग्रेग चैपल की इस बातचीत की खबर मीडिया में छपी तो हरभजन सिंह ने इसका लिंक रीट्वीट करते हुए इस पर कमेंट किया. अपने ट्वीट में भज्जी ने लिखा, ‘उन्होंने धोनी को ग्राउंड शॉट खेलने के लिए इसलिए कहा क्योंकि कोच खुद सभी (खिलाड़ियों) को मैदान के बाहर मार रहे थे. वह एक अलग ही खेल खेल रहे थे.’ इसके साथ हरभजन सिंह ने एक आंख मारने वाला इमोजी भी शेयर किया और इस ट्वीट के साथ गुस्से से लाल 3 इमोजी बनाकर हैश टैग इस्तेमाल किया ‘रस्ट डेज ऑफ इंडियन क्रिकेट अंडर ग्रेग’ यानी ग्रेग चैपल के कार्यकाल में भारतीय क्रिकेट के दुर्दशा वाले दिन.

हरभजन सिंह के इस ट्वीट पर टीम इंडिया के पूर्व ऑलराउंडर और भज्जी के गहरे दोस्त युवराज सिंह ने भी कमेंट करने में देर नहीं लगाई. ग्रेग चैपल की उस सीख को याद करते हुए युवी ने इस ट्वीट में अपना ट्वीट में लिखा, ‘एमएसडी (धोनी) और युवी अंतिम 10 ओवरों में कोई छक्का नहीं सिर्फ ग्राउंड शॉट्स खेलो.’ युवराज इसके साथ हंसता हुए लाफ्टर इमोजी भी इस्तेमाल किया है.

इससे पहले पूर्व कोच ग्रेग चैपल ने हाल की इस ऑनलाइन चैट में बताया था कैसे उन्होंने धोनी को ताबड़तोड़ अंदाज में बल्लेबाजी करते देख एक बार चैलेंज दिया, जिसने उन्हें दुनिया का बेस्ट फिनिशरॉ बनने में भूमिका अदा की लेकिन ग्रेग चैपल का यह दौर विवादों भरा भी खूब रहा था. उनके कार्यकाल में ही तत्कालीन कप्तान सौरभ गांगुली को न सिर्फ अपनी कप्तानी गंवानी पड़ी बल्कि करीब डेढ़ साल तक वह टीम इंडिया में वापसी नहीं कर सके. कई अन्य खिलाड़ियों ने भी तब चैपल की आलोचना की थी. भारतीय क्रिकेट में कोच चैपल के कार्यकाल को सबसे बुरे दौर में गिना जाता है.

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।