परशुराम संबल. पत्नी होम मेकर होती है. घर में सुख भरे वातावरण की रचना करना उसका परम कर्तव्य है. इसमें उसका सलीके से रहना भी शामिल है. बहुत सी पत्नियां इस ओर ध्यान नहीं देती और घर में झल्ली सी बनी रहती हैं. इससे वे पति की नजर में फूहड़ बन जाती हैं. पति केवल सुन्दरता पर ही नहीं रीझता बल्कि पत्नी के रहन सहन में बहुत सी ऐसी बातें हैं जो पति को अपनी ओर आकर्षित करने में अहम् भूमिका रखती हैं अथवा विमुख करती हैं.

यदि पत्नी को पति के मन में बसे रहना है तो उसके लिये निम्नलिखित बातों का ध्यान रखना अति आवश्यक है- जहां तक हो सके, कभी भी मैले-कुचैले वस्त्रों में पति के सामने नहीं आना चाहिये. इसका यह अर्थ बिल्कुल नहीं है कि दिन में दस बार सिंगार किया जाये और नई साडि़यां बदली जायें बल्कि कपड़े भले ही पुराने हों किंतु साफ सुथरे और सही हों. ब्लाउज़ चुस्त और कसा हुआ पहनना चाहिये.

बहुत बार कपड़ों की लापरवाही के कारण स्त्राी फूहड़ और भद्दी दिखाई पड़ती है. यदि ब्लाउज का कोई हुक टूट गया हो और उसे दोबारा नहीं टांका गया तो बिना हुक का ब्लाउज शरीर की शोभा और आकर्षण को कम करता है. बहुत सी महिलाएं हुक या बटन टूट जाने पर पिन लगाकर काम चलाती हैं. हर पत्नी को यह बात ध्यान में रखनी चाहिए कि व्यक्तित्व को आकर्षक बनाने में पोशाक बहुत बड़ा महत्त्व रखती है. रूखे सूखे और बिखरे बाल चेहरे की शोभा को बिगाड़ते हैं. इसलिये सवेरे उठते ही कंघी लेकर साधारण रूप से अपने बालों को बांध लेना चाहिये. यह काम केवल दो चार मिनट का ही होता है पर इससे स्त्राी की सुरूचि सम्पन्नता का भी परिचय मिलता है और बहुत हद तक अस्त व्यस्त रूप भी निखर आता है.

कई महिलाओं के चेहरे पर केशों की एक छोटी सी लटकती हुई लट उनके सौंदर्य में चार चांद लगती है. यदि स्त्राी को अपने इस रूप का रहस्य ज्ञात है तो चाहिये कि वह लट को उसी तरह लटकती छोड़ कर रखें. त उरोज महिला आकर्षण के विशेष स्थल होते हैं, इसलिये इनको कसकर रखने के लिए ब्रा अवश्य पहननी चाहिये ताकि वे सुडौल और आकर्षक दिखाई पड़ें. लापरवाही के कारण बहुत सी स्त्रिायां ब्रा नहीं पहनती, मात्रा ब्लाउज पहने रखती हैं.

ऐसा करने से उरोजों की शोभा खो जाती है. ढीले-ढीले स्तन भद्दे दिखाई पड़ते हैं. त शाम के समय पति दफ्तर या काम से घर लौटे तो पत्नी को सजा संवरा होना चाहिये जिससे एक नजर देखते ही पति के सारे दिन की थकान दूर हो जाये. छोटी-छोटी सावधानियां बरत कर पति को अपने मोहपाश में बांधकर रखना नारी में मुख्य गुण होना चाहिये. पत्नी का रूप, निखार, ताज़ापन और मुस्कराहट पति के थके हारे शरीर और मन को एक अजीब शीतलता और स्फूर्ति प्रदान करते हैं, याद रखें.

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।