सुभाष शिरढोनकर. सलमान ने फिल्म इंडस्ट्री में अब तक बहुत से लोगों का कैरियर चमकाया. कहा जाता है कि सलमान का हाथ जिस किसी के सिर पर हो, उसकी किस्मत बदलते देर नहीं लगती. कैटरीना, सोनाक्षी, जरीन खान, डेजी शाह, पुलकित सम्राट, हिमेश रेशमियां, जैसे तमाम लोगों के कैरियर को संवारने में सलमान का बड़ा हाथ रहा. उनकी वजह से कई एक्टर्स और फिल्म मेकर इस इंडस्ट्री में स्थापित हुए हैं. सलमान अब तक कई सेलेब्स को ब्रेक दे चुके है. कई जाने माने सेलेब्स आज सलमान की वजह से इस इंडस्ट्री में बड़ा नाम बन चुके हैं.

सलमान ने अपनी बहन अर्पिता के पति आयुष शर्मा को भी ’लवरात्रि’ (2018) के जरिये बॉलीवुड में लॉंच किया था. अभिराज मीनावाला निर्देशित इस फिल्म में आयुष के अपोजिट वरीना हुसैन लीड रोल में नजर आई थी. अब आयुष शर्मा के साथ सलमान जल्दी ही ’धाक’ में स्क्रीन शेयर करते नजर आएंगे. ये एक मराठी फिल्म ’मुलशी पैटर्न’ का रीमेक है. इसमें सलमान एक कड़क पुलिस वाले का रोल निभा रहे हैं, वहीं आयुष शर्मा एक गैंगस्टर के रोल में होंगे.

इस रीमेक का कॉन्सेप्ट सलमान खान को पसंद आने के बाद बाकायदा फिल्म के ओरिजनल राइटस खरीदे गयें. जहां एक ओर सलमान के प्रशंसक फिल्म में भाईजान को एक बार फिर से कॉप के रोल में देखने के लिए उत्सुक हैं वहीं दूसरी तरफ फैन्स स्क्रीन पर आयुष और सलमान का आमना सामना देखने के लिए भी खासे उत्साहित हैं. सलमान खान की अपकमिंग फिल्म ’कभी ईद कभी दिवाली’ में भी एक महत्त्वपूर्ण किरदार आयुष शर्मा निभा रहे हैं. फरहाद सामजी इस फिल्म को निर्देशित कर रहे हैं. इसमें सलमान खान के अपोजिट पूजा हेगड़े नजर आने वाली हैं.

यह फिल्म अगले साल रिलीज होगी. सलमान खान ने हाल ही में बीइंग सलमान खान नाम से यूटयूब चैनल लांच किया है जिसमें उन्होंने पहली बार फैंस के लिए दो वीडियो शेयर किये हैं. इस चैनल के जरिये वे अपने प्रशंसकों के लिए अपनी निजी जिंदगी के कुछ लम्हों को भी साझा करने की कोशिश करेंगे. कोरोना वायरस लॉक डाउन पर सलमान खान ने सीधे सीधे सरकारी फंड में कोई डोनेशन न देते हुए 25 हजार सिने वर्कर्स के बैंक अकाउंट में एक निश्चित रकम जमा कराई. उनका कहना है कि लॉक डॉउन का सबसे ज्यादा असर इन्हीं लोगों पर हुआ है.

हालांकि इस फेडरेशन की सदस्य संख्या लगभग 5 लाख है लेकिन सलमान के अनुसार इनमें से कम से कम 25 हजार ऐसे वर्कर्स थे जिन्हें तत्काल राहत की जरूरत थी. इसलिए सलमान ने उनके हितार्थ यह बड़ा कदम उठाया. सलमान की फिल्में, बॉलीवुड के दूसरे बड़े स्टार्स की फिल्मों से बड़ी ओपनिंग लेती रही हैं, इसलिए हमेशा उनके कैंप की ओर से उनका स्टार पॉवर अभी भी पहले की तरह होने की बात की जाती रही है लेकिन हकीकत यह है कि उनकी फिल्मों की निर्माण लागत इतनी अधिक होती है कि 100 करोड़ के क्लब में एंट्री लेने के बावजूद फिल्म फ्लॉप ही कहलाती है.

यदि मान भी लिया जाये कि आज भी सलमान एक मेगा स्टार हैं और उनका स्टॉर पॉवर ज्यों का त्यों बरकरार है और लोग आज भी उन्हें काफी पसंद करते हैं. फिर भी इस सच्चाई से मुंह नहीं मोड़ा जा सकता कि अब उनकी फिल्में पहले की तरह बॉक्स ऑफिस पर करिशमा नहीं कर पा रही हैं. इसलिए यह तो तय है कि उन्हें अपनी फिल्मों का कांॅन्टेंट थोड़ा ठीक करने की जरूरत है. ऑडियंस की समझदार नस्ल आ जाने का सबसे ज्यादा नुक्सान खान एक्टर्स, खासकर उनमें सबसे ज्यादा कामयाब सलमान को भुगतना पड़ा है. आज की ऑडियंस को कमर्शियल सिनेमा की उतनी जरूरत नहीं जितनी अच्छे कांन्टेट की है.

शयद इसी वजह से स्टार घर पर बैठे हैं और अच्छे कॉन्टेंट की बदौलत अयुष्मान खुराना, राजकुमार राव जैसे कम मशहूर कलाकार नये स्टार के तौर पर उभर कर सामने आ रहे हैं. अच्छा और नया कॉन्टेंट चाहे राजकुमार राव लेकर आयें या फिर आयुष्मान खुराना, ऑडियंस को अब इस बात से कोई मतलब नहीं. जो कोई भी नया कॉन्टेंट लेकर आता है, वह तो सीधे ही उसे सिर माथे पर बैठा सकते हैं.

3 दशक से भी ज्यादा के कैरियर में सलमान खान अब तक 96 फिल्में कर चुके हैं. 2008 में ’गॉड तुस्सी ग्रेट हो’, ’हैलो’, ’हीरोज’ और ’युवराज’ जैसी लगातार 04 फ्लॉप फिल्में देने के बाद सलमान के कैरियर का इंतकाल मान लिया गया था. लेकिन 2009 में ’वांटेड’ की कामयाबी के साथ उनके कैरियर का दूसरा दौर शुरू हुआ. 10 सितंबर, 2010 को प्रदर्शित, सलमान खान की ’दबंग’, 10 दिन में 100 करोड़ के लक्ष्य प्राप्त करने वाली पहली फिल्म बनीं. 3 जून, 2011 को प्रदर्शित ’रेडी’ ने ’दबंग’ के मुकाबले समय ज्यादा लिया लेकिन वह भी 100 करोड़ के क्लब में शामिल हुई. 31 अगस्त, 2011 को प्रदर्शित ’बॉडीगार्ड ने महज 7 दिन में 100 करोड़ के क्लब में शामिल होकर कीर्तिमान बनाया.

15 अगस्त, 2012 को प्रदर्शित ’एक था टाइगर’ के द्वारा सलमान खान ने अपनी पिछली फिल्म ’बॉडीगार्ड’ का रिकार्ड तोड़ दिया. इस बार उनकी यह फिल्म 7 के मुकाबले महज 5 दिन में ही 100 करोड़ के क्लब में शामिल हो गई. इतना ही नहीं बल्कि ’एक था टाइगर’ 246 करोड़ के कलेक्शन के साथ उस साल की सबसे ज्यादा ग्रॉसर फिल्म साबित हुई. कबीर खान द्वारा निर्देशित ’बजरंगी भाई जान’ 17 जुलाई 2015 को रिलीज हुई.

सलमान खान, करीना कपूर और नवाजुद्दीन सिद्दीकी स्टॉरर इस फिल्म ने 27.25 करोड़ की दमदार ओपनिंग करते हुए महज 3 दिन में 100 करोड़ के क्लब में प्रवेश करते हुए 320 करोड़ का लाइफ टाइम कारोबार किया. इस तरह यह आमिर की ’पीके’ की तरह 300 करोड़ के क्लब में शामिल होने वाली दूसरी फिल्म बनी. 12 नवंबर, 2015 को सूरज बड़जात्या निर्देशित ’प्रेम रतन धन पायो’ को रिलीज के फौरन बाद सलमान की बेहद कमजोर फिल्म मान लिया गया था लेकिन बेहद आश्चर्यजनक रूप से इसने भारतीय बाजार में कुल 213 करोड़ का कारोबार करते हुए सभी को चकित कर दिया. सलमान की ’सुल्तान’ (2016) देशी बाजार में 300 करोड़ का कारोबार किया.

इसका वर्ल्ड वाइड कलेक्शन 600 करोड़ का रहा. इस कामयाबी के बाद सलमान खान को बॉलीवुड का सुल्तान कहा जाने लगा. सलमान खान की कामयाबी कुछ ऐसी थी कि उन्हें सिर्फ एक्टर ही नहीं बल्कि एक अलग इंडस्ट्री के तौर पर माना जाने लगा. लगने लगा कि उनके हाथ बॉलीवुड का खजाना लग चुका है. पहले भारत के बाहर, पाकिस्तान और सात समुंदर पार सिर्फ शाहरूख का जादू ही चलता था लेकिन उनकी उस जगह पर सलमान ने कब्जा कर लिया. एक अरसे से बॉलीवुड में दबदबा कायम करने वाली खान तिकड़ी के सलमान सिरमोर बन चुके थे.

उस वक्त लगने लगा था कि सारी फिल्म इंडस्ट्री की बागडोर पूरी तरह सलमान के हाथ में आ चुकी है. वह ऐसे पारस के रूप में जाने लगे थे, जिसके छू देने मा़त्रा से ही कुछ भी सोना बन जाता है. सलमान की फिल्म का मतलब सफलता और कमाई की गारंटी बन चुका था. लेकिन जिस तरह से हर पैदाइश का इंतकाल होना तय होता है उसी तरह ’टयूबलाइट’ (2017) के साथ सलमान की सफलता उनके हाथों से फिसलने की शुरूआत हो चुकी थी. उनके स्टारडम की चमक धुंधलाने लगी थी. उसके बाद ’रेस 3’(2018) और ’दबंग 3’ (2019) ने उनकी धंुधलाती चमक पर गर्त की परतें चढ़ाने का काम ही किया.

सलमान का वक्त ठीक नहीं चल रहा, इस बात का अंदाजा सिर्फ इसी बात से लगाया जा सकता है कि जब सलमान और करण जौहर ने जाइंट वेंचर के रूप में हाथ मिलाते हुए एक फिल्म शुरू करने का फैसला किया तो उस फिल्म की मेन लीड के लिए करण जौहर ने सलमान को न लेकर अक्षय कुमार का नाम फायनल किया है. अक्षय कुमार के साथ सलमान के रिलेशन अच्छे कहे जा सकते हैं. दोनों ’मुझसे शादी करोगी’ और ’जानेमन’ जैसी फिल्मों में साथ काम कर चुके हैं. सलमान ने अक्षय कुमार की ’रूस्तम’ को जबर्दस्त तरीके से प्रमोट करते हुए अपने फैन्स से ’रूस्तम’ देखने की गुजारिश की थी जिससे फिल्म को काफी फायदा हुआ था लेकिन इस बार अक्षय ने उन्हें जो पटकनी दी है, उसे लेकर कहीं न कहीं सलमान के मन में कसक तो निश्चित ही होगी.

सलमान को शायद अहसास हो चुका है कि वह प्रौढ़ अवस्था में कदम रख चुके हैं और अब हीरो के रूप में उनकी पारी ज्यादा दूर तक नहीं चल सकेगी, उनके पास ज्यादा वक्त नहीं है. इसलिए शायद अब वह एक्टिंग के बजाय फिल्म निर्माण पर अधिक फोकस करना चाहते हैं. यही वजह है कि एक और जहां वह अपने प्रोडक्शन हाउस के लिए आयुष शर्मा को लेकर फिल्म बना रहे हैं तो वहीं उन्होंने करण जौहर के साथ हाथ मिलाया है.

खबर यह भी आ रही है कि सलमान दर्शकों की बदली हुई पसंद का सम्मान करते हुए अपने प्रोडक्शन हाउस के लिए राजकुमार राव और आयुष्मान खुराना जैसे कलाकारों को लेकर कम बजट फिल्में भी बनाएं. सलमान चाहते हैं कि एक हीरो के रूप में उनकी पारी का अंत होने के बाद भी उनका काम काज चलता रहे.

सलमान खान ने ढेर सारी मसाला फिल्में करते हुए कमाई के कई रिकॉर्ड बनाये हैं लेकिन फिल्म क्रिटिक्स ने रिव्यूज़ में उन्हें कभी नहीं सराहा लेकिन वह चाहते हैं कि बतौर फिल्म मेकर वह ऐसी फिल्में बनाएं जो न सिर्फ ऑडियंस को पसंद आएं बल्कि क्रिटिक्स द्वारा भी सराही जाएं.

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।