नई दिल्ली. वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने आत्मनिर्भर भारत अभियान के तहत 20 लाख करोड़ रुपए के पैकेज में पहली किस्त का ऐलान किया. भले ही सरकार इसे अर्थव्यवस्था को आगे बढ़ाने के लिए बड़ा कदम बता रही हो, लेकिन यह विपक्षी नेताओं को पसंद नहीं आया. प बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा, लोगों को इस पैकेज से बड़ी उम्मीदें थीं, लेकिन इसमें राज्यों के लिए कुछ नहीं है.

ममता बनर्जी ने कहा, लोगों को राहत मिलने की उम्मीद थी, लेकिन यह बड़ा जीरो है. राज्यों के लिए कुछ भी नहीं है. उन्होंने आरोप लगाया कि केंद्र सरकार संघवाद को बुलंद करने की कोशिश में जुटी है. इस आर्थिक पैकेज के जरिए लोगों को गुमराह किया जा रहा है.

गरीब मजदूरों के लिए कुछ नहीं- चिदंबरम

पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम ने कहा, वित्त मंत्री ने आज जो ऐलान किए, उनमें लाखों गरीबों, भूखे और तबाह प्रवासी मजदूरों के लिए कुछ नहीं है. हजारों लोग अपने घर लौट रहे हैं. ये उन लोगों के लिए झटका है. उन्होंने कहा, वित्त मंत्री ने एसएसएमई के लिए घोषणाएं कीं, हालांकि मेरा कहना है कि इसमें सिर्फ 45 लाख एसएसएमई को लाभ देने की बात की गई है. मुझे लगता है कि करीब 6.3 करोड़ एमएसएमई को ऐसे ही छोड़ दिया गया है.

सीएम योगी बोले- हम कल से लोन मेला लगाएंगे

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा, 20 लाख करोड़ के आर्थिक पैकेज की जो घोषणा की है. उस क्रम में आज जो घोषणाएं की गई हैं. उसके लिए मैं प्रधानमंत्री और वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण जी का आभार व्यक्त करता हूं. उन्होंने कहा, कल से हम एसएसएमई सेक्टर के लिए ऑनलाइन लोन मेला शुरू करने जा रहे हैं. कल करीब 36 हजार उद्योगपतियों को करीब 1600-2000 करोड़ रुपए का लोन देंगे.

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।