प्रदीप द्विवेदी. देश के प्रसिद्ध कार्टूनिस्ट चन्द्रशेखर हाड़ा का केवल एक कार्टून यह दिखाने के लिए पर्याप्त है कि सरकार की कथनी और करनी में कितना फर्क है? राजनेताओं का प्रवचन कैसा है और परिणाम कैसा है? कोरोना संकटकाल में उनका एक कार्टून यह बताता है कि अक्ल के अंधों की वजह से किस तरह देश में कोरोना फैला, तो एक अन्य कार्टून सरकार की नशीलीनीति का आईना है, जिसमें बेवड़ों का यागदान दर्शाया गया है?

हमें गरीबी हटाने से ज्यादा आसान लगता है, गरीबी छिपाना, शायद इसीलिए अमीरी और गरीबी के बीच दीवार खड़ी करना हमें सुविधाजनक लगा? कोरोना संकट जारी है और पता नहीं कब तक चलेगा, परन्तु इतना तय है कि राजनेताओं की सियासी चतुराई, कार्टूनिस्टों की नजर से नहीं बच पाएगी! यहां देखें हाड़ा के कार्टून का कमाल....

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।