व्यूज. अगर शराब जैसा जहर चाहिए तो वह आपको घर तक उपलब्ध हो सकता है, लेकिन जिन्दा रहने के लिए राशन चाहिए तो लाइन में आइए? खबरें हैं कि अब कई जगहों पर शराब घर-घर पहुंचाई जाएगी, लाजवाब! दारू की होम डिलीवरी, दवा चाहिए तो लाइन में आइए? यह साफ संदेश है कि किसी की भी दिलचस्पी दारू, तंबाकू, गुटखा जैसे स्लो पोइजन को रोकने में नहीं है, सब इससे कमाना चाहते हैं, चाहे घर बर्बाद हो जाएं, परिवार टूट जाएं, बीमारी से लोग दम तोड़ दें?

अभी लाॅकडाउन में ढील मिली तो सबने सोचा कि सबसे पहले जिन्दगी का सामान मिलेगा, खानेपीने का सामान मिलेगा, परन्तु मिली भी तो क्या? दारू की बाटली! होना तो यह चाहिए था कि इतने दिनों से लोगों ने शराब छोड़ रखी थी तो इसे आदत बन जाने देते, कम-से-कम कई परिवारों को शराब की बर्बादी से मुक्ति तो मिल जाती? शराब का प्रोडक्शन रोक देना था? शराबबंदी करनी थी? लेकिन नहीं!

यदि शराब बंद हो गई तो देश कैसे चलेगा? जो लोग यह उम्मीद रखते हैं कि कोई उनकी खुशहाल जिंदगी के बारे में सोच रहा है, तो यह भ्रम निकाल देना चाहिए! शराब, गुटखा, तंबाकू जैसे नशों से अपने परिवार की रक्षा आप स्वयं करें? आपको और आपके परिवार को बचाने कोई फरिश्ता नहीं आने वाला है!

* शराब का फायदा सरकार को, सजा परिवार को.... 

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।