भोपाल. नोशन प्रेस द्वारा मधुमेह पर लिखी गई किताब ’ग्रीन मेडीसिन फॉर डायबिटीज ए  सोल्युशन नाम से एक किताब का डिजीटल प्रकाशन किया गया है.

इस पुस्तक का लेखन  डॉ. सी.बी.एस. दांगी, डीन एवं डायरेक्टर, फैकल्टी ऑॅफ लाईफ साइंस, (रामकृष्ण धर्माथ फाउंडेषन युनीवर्सिटी, भोपाल), श्रीमती शादमा सिद्धिकी, विभागाध्यक्ष, माईक्राबॉयोलॉजी, (संत हिरदाराम कन्या महाविद्यालय, भोपाल) तथा सुश्री सकीना गनी, फैकल्टी इन डिपार्टमेंट ऑफ बॉटनी, (रामकृष्ण धर्माथ फाउंडेश न युनीवर्सिटी, भोपाल) द्वारा किया गया.

ग्लोबल रिसर्च वेलफेयर सोसायटी के चैयरमेन श्री ओम प्रकाश   वर्मा ने अत्यंत हर्ष व्यक्त करते हुए बताया कि इस पुस्तक का प्रकाषन ग्लोबल रिसर्च एंड वेलफेयर सोसायटी द्वारा कराया गया है. इस पुस्तक के प्रकाषन का मुख्य उद्देश्य  आमजन को ‘ग्रीन टेक्नोलॉजी’ से अवगत कराना है. जिससे कि विभिन्न बीमारियों के लिये एलोपैथी पर आश्रित लोग प्राकृतिक उपचारों की ओर मुड़े.

रामकृष्ण धर्माथ फाउंडेशन युनीवर्सिटी, भोपाल की चांसलर डॉ. साधना कपूर इस पुस्तक के लेखन के लिये तीनों लेखकों को हार्दिक बधाई दी और कहा  कि यह पुस्तक उन छात्रों/रिसर्चर/डॉक्टर्स को प्रोत्साहित करने का अद्भुत प्रयास है जो कि प्रकृति पर विष्वास रखते है तथा प्राकृतिक तरीकों से इन बीमारियों का इलाज करना चाहते है.

संत हिरदाराम कन्या महाविद्यालय के निदेषक श्री हीरो ज्ञानचंदानी द्वारा पुस्तक के तीनों लेखकों की मुक्त कंठ से प्रषंसा करते हुए उनके इस अद्भुत प्रयास की सराहना की. और कहा कि यह पुस्तक नैचरोपैथी के क्षेत्र में कार्य कर रहे छात्रों और अनुसंधानकर्ताओं के लिये मील का पत्थर साबित होगी. इस प्रकार की पुस्तकों और अनुसंधान के माध्यम से ही आमजन में नैचुरोपैथी के प्रति विश्वास उत्पन्न किया जा सकता है.

ग्लोबल रिसर्च एंड वेलफेयर सोसायटी की समन्वयक श्रीमती शादमा सिद्धिकी ने अत्यंत हर्ष व्यक्त करते हुए बताया कि इस पुस्तक का प्रकाषन ग्लोबल रिसर्च एंड वेलफेयर सोसायटी द्वारा कराया गया है. यह संस्था काफी समय से अनुसंधान व विज्ञान के क्षेत्र में नवीन लेखकों व युवा वैज्ञानिकों को प्रोत्साहित करती आयीं है. खास बात यह है कि इस पुस्तक का विचार एवं लेखन कोरोना से बचाव हेतु केन्द्र सरकार द्वारा लागु 40 दिवसीय लॉक डाऊन में किया गया है.

तीनों लेखकों ने उन सभी लोगों को धन्यवाद ज्ञापित किया है. जिन्होंने प्रत्यक्ष एंव अप्रत्यक्ष रूप से इस पुस्तक के लेखन में सहायता की है. फिलहाल यह पुस्तक ऑनलाईन उपलब्ध है तथा लॉकडाऊन खत्म होने के पश्चात यह किताब बाजार में पाठकों के लिये उपलब्ध होगी.

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।