भोपाल. कोरोना वायरस के चलते देश भर में लागू लॉकडाउन के कारण अलग-अलग शहरों से मध्य प्रदेश सरकार अब तक 20 हजार से ज्यादा प्रवासी मजदूरों की घर वापसी करा चुकी है. वहीं सरकार का लक्ष्य है कि करीब 50 हजार मजदूरों को उनके घरों तक पहुंचाया जाए. मध्यप्रदेश में फंसे अन्य राज्यों के प्रवासी मजदूरों को भी उनके गृह जिलों तक भेजने की व्यवस्था सरकार ने की है.

भोपाल में फंसे उत्तर प्रदेश के मजदूरों को मजदूर दिवस के मौके पर मध्यप्रदेश और उत्तर प्रदेश सरकार के संयुक्त प्रयासों से बड़ी राहत मिली है. यहां फंसे करीब 80 मजदूरों को पूरी मेडिकल जांच के बाद उत्तर प्रदेश के लिए रवाना कर दिया गया है. लॉक डाउन के कारण इनका काम धंधा बंद हो चुका था, जिसके कारण 40 दिनों से काफी परेशानियों का सामना इन मजदूरों को करना पड़ रहा था. इसके साथ ही सरकार ने दूसरे राज्यों में फंसे मजदूरों की वापसी को लेकर संबंधित राज्यों के अधिकारियों के साथ बात कर नीति बनाई है.

प्रदेश में अब तक 20 हजार मजदूरों की घर वापसी हो चुकी है. इसमें से पंजाब, हरियाणा, उत्तर प्रदेश, राजस्थान से आए मजदूर शामिल हैं. राजस्थान के जैसलमेर से मजदूरों को लेकर गुरुवार को एक बस मध्य प्रदेश के सागर भी पहुंची है, जहां पर इन मजदूरों को को जांच के बाद इनके घर भेज दिया जाएगा. लॉकडाउन के कारण रोजी रोटी के संकट से जूझ रहे मजदूरों के लिए यह बड़ी राहत की खबर है.

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।