हिन्दुस्तान की सबसे पवित्र नदी गंगा है. धर्मग्रंथों के अनुसार गंगा सप्तमी को माता गंगा, स्वर्ग लोक से भगवान शिव की जटाओं में पहुंची थीं, इसलिए यह गंगा जन्मोत्सव भी है क्योंकि इस दिन माता गंगा का पुनर्जन्म हुआ.

माता गंगा पृथ्वी पर पहली बार गंगा दशहरा को अवतरित हुईं थी लेकिन, जाहनू ऋषि ने गंगा का पूरा जल पी लिया. देवताओं और राजा भागीरथ के निवेदन पर उन्होंने गंगा सप्तमी के दिन गंगा के जल को मुक्त किया, तभी से माता गंगा के पुर्नअवतरण पर गंगा जन्मोत्सव मनाते हैं.

ऋषि जाहनु के मुख से पुनर्जन्म लेने के कारण इस दिन माता गंगा के जाह्नवी स्वरूप की पूजा की जाती है.

गंगा सप्तमी पर गंगा पूजन एवं पवित्र स्नान से यश-धन-सम्मान की प्राप्ति होती है. माता गंगा तीनों लोक में पापमुक्ति प्रदान करती हैं... स्वर्ग में माता गंगा को मंदाकिनी तो पाताल में भागीरथी पुकारते हैं.

- आज का राशिफल -

मेष राशि: आज सेहत के प्रति सचेत रहें. ऑफिस में शुभ समाचारों की प्राप्ति होगी. अपने स्वभाव पर नियंत्रण रखने की जरूरत है. जीवनसाथी के साथ अलगाव की स्थिति पैदा हो सकती हैं.परिवार का ख्याल रखें.

वृष राशि: अपने स्वभाव पर काबू रखने की आवश्यकता है, अन्यथा परिवार में किसी के साथ मतभेद पैदा हो सकते हैं. शिक्षा के क्षेत्र में मन मुताबिक सफलता की प्राप्ति नहीं होगी. मन उलझन के भाव रहेंगे. सेहत खराब हो सकती है. इससे परेशानी बढ़ेगी.

मिथुन राशि: आग और बिजली के समान से सावधान रहें. अनहोनी होने के योग हैं. आज किसी तरह का आरोप आप के ऊपर लग सकता है. सावधान रहें. बाहर जाना होगा तो सावधानी बरतें. बच्चों का ख्याल रखें किसी अपने के आने से उलझने बढ़ेंगी. सेहत बिगड़ सकती हैं.

कर्क राशि: परिवार से हर संभव सहायता मिलेगी. खुद भी अपने से बड़ों के साथ समय व्यतीत करना पसंद करेंगे. अपने गुरुजनों के सानिध्य में रहे समस्या का समाधान होगा. किसी अपने के जाने का दुख रहेगा. माता-पिता की सेहत चिंता का कारण बन सकती है. बच्चों को समाजिक गतिविधियों से दूर रखें.

सिंह राशि: परिवार के किसी सदस्य के कारण चिंता में रह सकते हैं. इस समय ऑफिस में सब आपके खिलाफ है. सतर्क रहें. बाहर जाना जातक की सेहत के लिए एकदम सही नहीं है. बच्चों का मन घर में नहीं लगेगा. उनके लिए कुछ नया करें. घर के बेकार समान का इस्तेमाल करें.

कन्या राशि: आज शुभ समाचारों की प्राप्ति होगी. हर तरफ आज का दिन जातक के लिए अच्छा रहेगा. लेकिन परिवार की तरफ से मिल रही परेशानियों के कारण मन में नकारात्मक विचार पैदा होंगे. बच्चों की सेहत का ध्यान रखें. वायरल से बचाएं. नहीं तो परेशानी हो सकती हैं.

तुला राशि:  विद्यार्थियों के लिए यह समय खास अच्छा नहीं है परीक्षा में निराशा सामना करना पड़ेगा. माता की सेवा करने से शुभ फलों की प्राप्ति होगी. दिन उतार-चढ़ाव से भरा रहेगा. धन की बचत करने में सफल होंगे. दांपत्य जीवन में मिले-जुले अनुभव मिलेंगे.

वृश्चिक राशि: नया काम शुरू करने से पहले विचार लें. आज का दिन कुछ खास अच्छा नहीं है. पढ़ाई लिखाई के लिए यह समय उत्तम है. सेहत के प्रति सचेत रहने की जरूरत है. परिवार और बच्चों का ख्याल रखें.

धनु राशि: भाग्य से हर संभव सहायता मिलेगी. ऑफिस में शुभ समाचारों की प्राप्ति होगी. सेहत अच्छा रहेगा, लेकिन बाहर जाने से बचें. आज कुछ अलग और नया करने  का प्रयास करेंगे. पुराने दोस्तों और पलों को याद करेंगे.

मकर राशि: आप को सचेत रहने की आवश्यकता है किसी भी तरह की अनहोनी हो सकती है, हर काम में बाधा आ सकती है. पत्नी के साथ अनबन हो सकती है. अगर प्रेम प्रसंग चल रहा है तो आज पार्टनर से बात न करें. नहीं तो विवाद हो सकते हैं. बाहर जाने से बचें.

कुम्भ राशि:  जातक या जातिक का स्वास्थ्य अच्छा रहेगा, परिवार के लोगों के साथ अच्छा समय व्यतीत होगा. बड़ों के आशीर्वाद से दिन शुरू करें शुभ होगा. जरूरी काम से बाहर जाना हो सकता हैं. सतर्क रहें. कोई दोस्त आपसे मिलना चाहेगा सचेत रहें.

मीन राशि:  समय अच्छा नहीं हैं अशुभ समाचारों की प्राप्ति होगी.विद्यार्थियों के लिए समय खास अच्छा नहीं है, परीक्षा में अशुभ समाचारों की प्राप्ति होगी. शरीर में आलस बढ़ेगा. परिवार में किसी सदस्य के साथ अनबन हो सकती है. संभलकर रहें. बाहर जाने से बचें नहीं तो सेहत खराब हो सकती हैं.  

* आचार्य पं. श्रीकान्त पटैरिया (ज्योतिष विशेषज्ञ)  वाट्सएप नम्बर 9131366453 

* यहां राशिफल चन्द्र के गोचर पर आधारित है, व्यक्तिगत जन्म के ग्रह और अन्य ग्रहों के गोचर के कारण शुभाशुभ परिणामों में कमी-वृद्धि संभव है, इसलिए अच्छे समय का सद्उपयोग करें और खराब समय में सतर्क रहें.

- गुरुवार का चौघडिय़ा -

दिन का चौघडिय़ा         रात्रि का चौघडिय़ा

पहला- शुभ                 पहला- अमृत

दूसरा- रोग                  दूसरा- चर

तीसरा- उद्वेग               तीसरा- रोग

चौथा- चर                  चौथा- काल

पांचवां- लाभ                 पांचवां- लाभ

छठा- अमृत                  छठा- उद्वेग

सातवां- काल                 सातवां- शुभ

आठवां- शुभ                  आठवां- अमृत

* चौघडिय़ा का उपयोग कोई नया कार्य शुरू करने के लिए शुभ समय देखने के लिए किया जाता है 

* दिन का चौघडिय़ा- अपने शहर में सूर्योदय से सूर्यास्त के बीच के समय को बराबर आठ भागों में बांट लें और हर भाग का चौघडिय़ा देखें.

* रात का चौघडिय़ा- अपने शहर में सूर्यास्त से अगले दिन सूर्योदय के बीच के समय को बराबर आठ भागों में बांट लें और हर भाग का चौघडिय़ा देखें.

* अमृत, शुभ, लाभ और चर, इन चार चौघडिय़ाओं को अच्छा माना जाता है और शेष तीन चौघडिय़ाओं- रोग, काल और उद्वेग, को उपयुक्त नहीं माना जाता है.

* यहां दी जा रही जानकारियां संदर्भ हेतु हैं, स्थानीय पंरपराओं और धर्मगुरु-ज्योतिर्विद् के निर्देशानुसार इनका उपयोग कर सकते हैं.

* अपने ज्ञान के प्रदर्शन एवं दूसरे के ज्ञान की परीक्षा में समय व्यर्थ न गंवाएं क्योंकि ज्ञान अनंत है और जीवन का अंत है! 

- पंचांग -

गुरुवार, 30 अप्रैल, 2020

गंगा सप्तमी

शक सम्वत 1942 शार्वरी

विक्रम सम्वत 2077

काली सम्वत 5122

दिन काल 13:15:12

मास वैशाख

तिथि सप्तमी - 14:40:38 तक

नक्षत्र पुष्य - 25:53:15 तक

करण वणिज - 14:40:38 तक, विष्टि - 26:09:26 तक

पक्ष शुक्ल

योगशूल - 20:08:43 तक

सूर्योदय 05:40:51

सूर्यास्त 18:56:04

चन्द्र राशि कर्क

चन्द्रोदय 11:16:59

चन्द्रास्त 25:26:59

ऋतु ग्रीष्म

दिशा शूल: दक्षिण में

राहु काल वास: दक्षिण में

नक्षत्र शूल: कोई नहीं

चन्द्र वास: उत्तर में

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।