नीतू गुप्ता. चेहरे की केयर तो सभी कर लेते हैं, चेहरे के साथ पैरों की केयर करना भी जरूरी है. अगर आपके पैर साफ होंगे तो छिपाने की जरूरत नहीं महसूस होगी. कामकाजी महिलाओं के लिए तो और भी जरूरी है पैरों को साफ रखना क्योंकि उन्हें कई प्रकार के ड्रेस अनुसार फुटवियर पहनने पड़ते हैं. उनसे दिखते गंदे पांव ड्रेस और फुटवियर की शान को भी बिगाड़ देते हैं. अगर आप के पांव भी अक्सर गंदे रहते हैं तो उनकी केयर बहुत जरूरी है.

व्यक्तित्व बिगाड़ने के साथ्ंा आपके पैरों की दर्द भी बढ़ा सकते हैं आपके गंदे पांव. अगर आपका शेडयूल बिजी है तो सुबह और शाम दो बार थोड़ा समय निकाल कर उनकी देखभाल करना प्रारंभ करें.

प्रातः करें पैरों की देखभाल:-

कामकाजी महिलाओं को विशेषकर कुछ विशेष पेशों वाली महिलाओं को सफर भी करना पड़ता है, लोगों से मुलाकात भी करनी होती है. उनकी ड्रेस भी इस तरह की होती है कि अगर पैरों का ध्यान न रखा जाए तो पैरों की खूबसूरती पर प्रभाव पड़ता है. अगर हम नहाते समय थोड़ा ध्यान दें तो पैर खूबसूरत और साफ लगेंगे. नहाते समय पांव पर साबुन लगाकर उन्हें हल्का रगड़ कर साफ प्यूमिक स्टोन की सहायता से करें.

विशेषकर एडि़यों की सफाई रगड़ कर करें. बाकी पांव को भी साबुन की झाग बनाकर नाखूनों, पैरों की उंगलियों और उनके बीच के स्थान को साथ करें. नहाने के बाद पांवों को भी पोंछकर सुखाएं और उनकी नमी बरकरार रखने हेतु उन पर माश्चराइजर लगाएं ताकि दिन भर पांव स्मूद बने रहें. कॉटन सॉक्स या ट्रांसपेरंेट साक्स भी पहन सकते हैं. वैसे बाजार में कई पांव की त्वचा अनुसार क्रीम आती है उसका प्रयोग भी आप कर सकती हैं.

सोने से पहले करें देखभाल:-

रात्रि में सोने से पहले अपने पैरों को कुनकुने पानी से धोएं. अगर समय हो तो पांव पर बेसन या ओटमील का लेप लगाएं. उसके बाद उन्हें प्यूमिक स्टोन से मल कर साफ करें ताकि डेड स्किन निकल जाए. पांव धोकर सुखाकर उस पर यूरिया मिक्स क्रीम और फैटी एसिड वाली क्रीम लगाएं. इसके प्रयोग से त्वचा में नमी बनी रहती है और दरारें भी नहीं आतीं. सॉक्स जरूर पहनें.

जूता, चप्पल हो सही:-

फैशन के साथ कंफर्ट का ध्यान भी जरूर रखें. फुटवियर खरीदते समय ध्यान दें कि आपको कितना चलना या खड़ा होना पड़ता है. फुटवियर साफ्ट हों तो आराम महसूस होता है क्योंकि सारे शरीर का भार पैरों पर रहता है. अगर हाई हील वाले फुटवियर पहनेंगे तो शरीर का भार पंजों और हिल्स पर अधिक रहेगा. अधिक देर तक हील्स वाले फुटवियर पहन कर चलने और खड़ा होने से एडि़यों और घुटने में दर्द की शिकायत होने लगती है.

हाई हील्स के चप्पल जूतों से मांसपेशियां भी प्रभावित होती है. कुछ आफिस मंे फार्मल डेªस के साथ हील वाले फुटवियर पहनने पड़ते हैं. ऐसे में प्लेटफार्म फुटवियर पहनें. कभी कभी पैरों में फंगल इंफेक्शन हो जाता है. ऐसे में खुले फुटवियर पहनें. जिनके पांव की त्वचा काफी खुश्क रहती हैं, उन्हें बंद जूते पहनने चाहिए.

अगर हो पैरों में दर्द:-

कामकाजी महिलाओं को काफी भाग दौड़ करनी होती है. ऐसे में उन्हें पैरों और टांगों के दर्द की शिकायत होना आम समस्या बन जाती है. डर्मेटालजिस्ट के अनुसार ऐसे में रात्रि में कुनकुने पानी में नमक डालकर उसमें पैर 15 से 20 मिनट तक रखें. फिर सुखाकर अच्छे तेल या रिच माश्चराइजर से फुट मसाज करें. पैरों की एडि़यों और तलवों पर भी मालिश करें. अगर दर्द ज्यादा हो तो फिजियोथेरेपी करवाएं.

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।