- प्रदीप कुमार द्विवेदी  

* दक्षिण भारत में स्कन्द सुप्रसिद्ध देवता हैं, जिनकी पूजा से संपन्नता प्राप्त होती है. 

* स्कन्द देव, भगवान भोलेनाथ और देवी पार्वती के पुत्र और भगवान श्रीगणेश के भाई हैं. 

* दक्षिण भारत में भगवान स्कन्द को मुरुगन, कार्तिकेय, सुब्रहमन्य आदि स्वरूपों में जाना जाता है.

* षष्ठी तिथि भगवान स्कन्द को समर्पित है. 

* सूरसम्हाराम के बाद आने वाली अगली स्कन्द षष्ठी को सुब्रहमन्य षष्ठी पुकारते हैं. 

* दक्षिण भारत में पलनी मुरुगन मन्दिर, स्वामीमलई मुरुगन मन्दिर, तिरुत्तनी मुरुगन मन्दिर, पज्हमुदिचोर्लाई मुरुगन मन्दिर, श्री सुब्रहमन्य स्वामी देवस्थानम, तिरुप्परनकुंद्रम मुरुगन मन्दिर, मरुदमलै मुरुगन मन्दिर आदि प्रमुख एवं प्राचीन कार्तिकेय के मंदिर हैं.

- आज का राशिफल -  

मेष राशि: चू, चे, चो, ला, ली, लू, ले, लो, आ,

आज आपको अपने परिवार की अरफ से हर संभव सहायता मिलेगी. आप खुद भी आज अपने से बड़ों के साथ समय व्यतीत करना पसंद करोगे. आज के दिन लाल रंग से परहेज रखें

वृष राशि: ई, ऊ, ए, ओ, वा, वी, वू, वे, वो ब बो,

परिवार के किसी सदस्य के कारण आप चिंता में रेह सकते हो. इस स्माय कार्य क्षेत्र में हानी की संभावना बनी हुयी है. आज के दिन आपका शुभ रंग सफेद होगा.

मिथुन राशि:  का, की, कू, घ, ङ, छ, के, को, हा,

कार्यकशेत्र मे आज शुभ समाचारों की प्राप्ति होगी हर तरफ से सुख के हालात पैदा होंगे लेकिन परिवार की तरफ से मिल रही परेशानियों के कारण मन में नकारात्मक विचार पैदा होंगे. आप का शुभ रंग हरा,

कर्क राशि: ही, हू, हे, हो, डा, डी, डू, डे, डो,

विद्यार्थियों के लिए यह समय कुछ खास अच्छा नहीं है परीक्षा में निराशाजनक परिणामो का सामना करना पड़ेगा. माता की सेवा करने से शुभ फलों की प्राप्ति होगी. आज आपका शुभ रंग सफ़ेद है.

सिंह राशि: मा, मी, मू, मे, मो, टा, टी, टू, टे,

नया काम शुरू करने के लिए आज का दिन कुछ खास अच्छा नहीं है. पढ़ाई लिखाई के लिए यह समय उत्तम है. स्वास्थ्य प्रति सचेत रहने की जरूरत है. आप का शुभ रंग लाल,

कन्या राशि: टो, पा, पी, पू, ष, ण, ठ, पे, पो,

आज भाग्य से हर संभव सहायता मिलेगी . कार्यक्षेत्र में शुभ समाचारों की प्रधानता बनेगी. स्वास्थ्य भी आमतौर पर अच्छा रहेगा. आज आपका शुभ रंग हरा होगा.

तुला राशि: रा, री, रू, रे, रो, ता, ती, तू, ते,

आज आपको सचेत रहने की आवश्यकता है किसी भी तरह की अनहोनी घटना घटित हो सकती है. प्रत्येक कार्य में बाधाएँ आ सकती है.
शुभ रंग सफेद है.

वृश्चिक राशि: तो, ना, नी, नू, ने, नो, या, यी, यू,

स्वास्थ्य आमतौर पर अच्छा रहेगा परिवार के लोगों के साथ अच्छा समौ व्यतीत होगा. आज के दिन की शुरुआत अगर बड़ों के आशीर्वाद से करो तो अति शुभ होगा. शुभ रंग लाल,

धनु राशि: ये, यो, भा, भी, भू, धा, फा, ढा, भे,

विद्यार्थियों के लिए आज का दिन कुछ खास अच्छा नहीं है, परीक्षा में अशुभ समाचारों की प्राप्ति होगी. शरीर में आलस्य की बढ़ोत्तरी होगी, परिवार में किसी सदस्य के साथ अनबन हो सकती है. शुभ रंग पीला है.

मकर राशि: भो, जा, जी, खी, खू, खे, खो, गा, गी,

आज आपको स्वास्थ्य प्रति सचेत रहने की आवश्यकता है. कार्य क्षेत्र में शुभ समाचारों की प्राप्ति होगी आपको अपने स्वभाव पर नियंत्रण रखने की जरूरत है. जीवनसाथी के साथ अलगाव की स्थिति पैदा हो सकती है. शुभ रंग काला है.

कुम्भ राशि: गू, गे, गो, सा, सी, सू, से, सो, दा,

आज आपको अपने स्वभाव पर काबू रखने की आवश्यकता है, अन्यथा परिवार में किसी के साथ मतभेद पैदा हो सकते हैं. शिक्षा के क्षेत्र में आशातीत फलों की प्राप्ति नहीं होगी. शुभ रंग नीला है.

मीन राशि: दी, दू, थ, झ, ञ, दे, दो, चा, ची,

आज आप आग और बिजली के समान से सावधान रहें अन्यथा अनहोनी होने के योग बने हुये हैं. आज किसी तरह का सच्चा झूठा आरोप आप के ऊपर लग सकता है.
शुभ रंग पीला है.  

* आचार्य पं. श्रीकान्त पटैरिया (ज्योतिष विशेषज्ञ)  वाट्सएप नम्बर 9131366453 

* यहां राशिफल चन्द्र के गोचर पर आधारित है, व्यक्तिगत जन्म के ग्रह और अन्य ग्रहों के गोचर के कारण शुभाशुभ परिणामों में कमी-वृद्धि संभव है, इसलिए अच्छे समय का सद्उपयोग करें और खराब समय में सतर्क रहें.

- मंगलवार का चौघडिय़ा -

दिन का चौघडिय़ा        रात्रि का चौघडिय़ा

पहला- रोग                पहला- काल

दूसरा- उद्वेग              दूसरा- लाभ

तीसरा- चर               तीसरा- उद्वेग

चौथा- लाभ                 चौथा- शुभ

पांचवां- अमृत              पांचवां- अमृत

छठा- काल                   छठा- चर

सातवां- शुभ                 सातवां- रोग

आठवां- रोग                 आठवां- काल

* चौघडिय़ा का उपयोग कोई नया कार्य शुरू करने के लिए शुभ समय देखने के लिए किया जाता है.

* दिन का चौघडिय़ा- अपने शहर में सूर्योदय से सूर्यास्त के बीच के समय को बराबर आठ भागों में बांट लें और हर भाग का चौघडिय़ा देखें.

* रात का चौघडिय़ा- अपने शहर में सूर्यास्त से अगले दिन सूर्योदय के बीच के समय को बराबर आठ भागों में बांट लें और हर भाग का चौघडिय़ा देखें.

* अमृत, शुभ, लाभ और चर, इन चार चौघडिय़ाओं को अच्छा माना जाता है और शेष तीन चौघडिय़ाओं- रोग, काल और उद्वेग, को उपयुक्त नहीं माना जाता है.

* यहां दी जा रही जानकारियां संदर्भ हेतु हैं, स्थानीय पंरपराओं और धर्मगुरु-ज्योतिर्विद् के निर्देशानुसार इनका उपयोग कर सकते हैं.

* अपने ज्ञान के प्रदर्शन एवं दूसरे के ज्ञान की परीक्षा में समय व्यर्थ न गंवाएं क्योंकि ज्ञान अनंत है और जीवन का अंत है! 

पंचांग

मंगलवार, 28 अप्रैल, 2020

शंकराचार्य जयन्ती

सूरदास जयन्ती

स्कन्द षष्ठी

रामानुज जयन्ती

शक सम्वत 1942 शार्वरी

विक्रम सम्वत 2077

काली सम्वत 5122

दिन काल 13:12:15

मास वैशाख

तिथि पंचमी - 15:09:28 तक

नक्षत्र आर्द्रा - 25:33:20 तक

करण बालव - 15:09:28 तक, कौलव - 27:16:04 तक

पक्ष शुक्ल

योग सुकर्मा - 22:55:35 तक

सूर्योदय 05:42:35

सूर्यास्त 18:54:52

चन्द्र राशि मिथुन

चन्द्रोदय 09:22:59

चन्द्रास्त 23:45:00

ऋतु ग्रीष्म

दिशा शूल: उत्तर में

राहु काल वास: पश्चिम में

नक्षत्र शूल: कोई नहीं

चन्द्र वास: पश्चिम में

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।