नई दिल्ली. भारत और पाकिस्तान में क्रिकेट के लिए जितना जुनून है और उतनी ही प्रतिस्पर्धा दोनों देशों की टीमों के बीच देखने को मिलती है. वहीं दोनों टीमों के खिलाडिय़ों की बीच जुबानी जंग भी होती रहती है. इसी बीच पाकिस्तान के पूर्व कप्तान इंजमाल उल हक ने अपने दौर के भारतीय खिलाडिय़ों पर बड़ा आरोप लगाया है.

पाकिस्तान के सबसे बेहतरीन बल्लेबाजों में से एक रहे इंजमाम ने कहा है कि अपने वक्त में जिन भारतीय बल्लेबाजों के खिलाफ उन्होंने मैच खेले, वो टीम के बजाए सिर्फ खुद के लिए शतक लगाते थे, जबकि पाकिस्तानी बल्लेबाज टीम के लिए रन बनाते थे.

इंजमाम ने अपने पूर्व साथी और नामी कमेंटेटर रमीज रजा के साथ बातचीत में ये बातें कहीं. इस बातचीत का वीडियो रमीज ने अपने यूट्यूब चैनल पर पोस्ट किया है. इस चर्चा में इंजमाम ने अपने करियर के शुरुआती दिनों का जिक्र भी किया और बताया किस तरह कप्तान इमरान खान ने हमेशा उनको सपोर्ट किया.

भारत और पाकिस्तानी टीम के खिलाडिय़ों में फर्क पर बोलते हुए इंजमाम ने कहा कि जब हम खेलते थे तो इंडिया की टीम बैटिंग पेपर पर बहुत मजबूत होती थी. हमारे रिकॉड्र्स उनके जैसे नहीं होते थे. फिर भी अगर हमारे बैट्समैन 30-40 रन भी बनाते थे, तो वो टीम के लिए बनाते थे. लेकिन अगर भारत का कोई 100 भी बनाता था, तो वो टीम के लिए नहीं होता था, वो खुद के लिए होता था.

इंजमाम ने कहा कि अब पाकिस्तानी खिलाडिय़ों में भी ये भावना आती जा रही है और वो अपनी जगह बचाने के लिए खेलते हैं. पाकिस्तान के लिए 1991 में डेब्यू करने वाले इंजमाम ने कहा कि जब उन्होंने अपने करियर की शुरुआत की थी तो कप्तान इमरान खान ने लगातार उनको सपोटज़् किया. इंजमाम ने कहा कि 1992 के वल्डज़् कप में खराब शुरुआत के बावजूद इमरान ने भरोसा जताया और फिर उन्होंने सेमीफाइनल में शानदार अधज़्शतक जड़ा था.

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।