सुभाष शिरढोनकर. लगता है कि बढती उम्र की चिंता, अब सलमान को सताने लगी है, इसलिए इन दिनों वे जरूरत से ज्यादा फिल्में कर रहे हैं हालांकि इस बात से इन्कार करते हुए सलमान का कहना है कि  ’पिछले कई सालों से वह यही कुछ तो करते आ रहे है.

सलमान बताते हैं कि उनके ज्यादा काम करने की खास वजह कुछ नहीं है. वो एक एक्टर हैं, इसलिए काम तो करना ही है. ’आप चाहे किसी भी प्रोफेशन में हों, सर्वाइव करने के लिए काम तो आपको करना ही पड़ेगा. यदि काम है  तो पैसा है और पैसा है तो सब कुछ है’.

सलमान का कहना है कि अभी तो वो अपने स्टारडम का भरपूर लुत्फ उठा रहे हैं और  आने वाले कल को लेकर वो बिलकुल भी चिंतित नहीं हैं लेकिन सलमान के इस दावे में दम कम ही नजर आता है.

चार साल पहले सलमान की फिल्म ’सुल्तान’ (2016) की कामयाबी के बाद साउथ के सुपर स्टार रजनीकांत ने सलमान खान के साथ काम करने की ख्वाहिश जताते हुए कहा था कि वो उनके साथ कोई फिल्म करना चाहते हैं. उनकी इस बात ने अचानक सलमान का महत्व काफी बढा दिया था.

एक ऐसा शख्स, सारी दुनिया जिसकी दीवानी हो, यदि वह कहे कि वह सलमान के साथ काम करने के लिए उत्सुक हैं, तब इससे भला  किसी का भी महत्व तो बढता ही है. उस पर सलमान तो उन दिनों सफलता के सातवंे आसमान पर जो थे.

सलमान को हर वक्त एक स्टार की इमेज ओढे़ रहना पसंद है. यदि वो आपको बांद्रा की गलियों में अचानक  मिल जाएं तब भी आपको यही लगेगा कि आप किसी स्टार को देख रहे हैं जबकि दूसरे स्टार्स के साथ ऐसा बिलकुल भी नहीं है. यहां तक कि किसी गैर फिल्मी वातावरण में बच्चन साहब के साथ मुलाकात करने पर उनसे अपने जैसे ही किसी शख्स के होने का अहसास होता है.

लगता है कि सलमान अपने फैंस से ज्यादा खुद ही, खुद पर मोहित हैं. इस बात को वो स्वीकार करते हुए कहते भी हैं कि उन्हें अपना काम न केवल पसंद है बल्कि वह उसे खूब एंजॉय भी करते हैं. एक एक्टर होने की वजह से वो खुद को दुनिया का सबसे ज्यादा खुशकिस्मत इंसान समझते हैं. सलमान का कहना है कि यदि आप एक्टर हैं तो, आपको एक बाहरी इमेज ओढकर तो रखनी ही पड़ेगी.

सलमान को खुद के अलावा न तो दूसरे दो खान का काम पसंद आता है और न अजय देवगन, अक्षय कुमार या ऋतिक का काम उन्हें सुहाता है. बस उन्हें खुद के अलावा रनबीर कपूर ही एक ऐसे एक्टर लगते हैं जो उनकी जगह लेने की सामर्थ्य रखते हैं.

सलमान को रनबीर कपूर के अंदर बॉलीवुड के दूसरे स्टार्स के लिए खतरा बनने की पूरी गुंजाइश नजर आती है. एक एक्टर के तौर पर सलमान उन्हें सबसे ज्यादा पसंद करते हैं. सलमान का कहना है कि वह न सिर्फ जबर्दस्त एक्टर हैं बल्कि  मासूमियत और टेलेंट दोनों ही मामलों में कमाल के हैं.

नायिकाओं में सलमान कैटरीना से नहीं बल्कि सोनाक्षी सिन्हा से ज्यादा प्रभावित हैं. सोनाक्षी की इनर्जी और जोश ने उन्हें काफी प्रभावित किया है. सलमान का कहना है कि जब वह सोनाक्षी की उम्र के थे, उनके अंदर भी इतना ही जोश था. जोश के मामले में सलमान सोनाक्षी के साथ कंपटीशन करना चाहते हैं.

सलमान के बारे में आम धारणा है कि यदि अपने दुश्मनों के प्रति वह कड़े तेवर रखते हैं तो अपने दोस्तों के लिए जी जान लड़ा देते हैं. उन्हें अक्सर अपने दोस्तों और उनके परिजनों को प्रमोट करते हुए देखा जाता है हालांकि सलमान का कहना है कि ’वे दोस्तों को नहीं बल्कि सही टेलेंट को प्रमोट करने की कोशिश करते हैं.  

सलमान के अनुसार इस बिजनेस में और खास कर कैमरे के आगे दोस्ती बिलकुल भी नहीं चलती. टेलेंट की कोई जात या औकात नहीं होती. किसी को भी इस गलतफहमी में नहीं रहना चाहिए कि वह किसी दूसरे कलाकार की बहुत बड़ी मदद कर रहा है.

सलमान खान ऑफर होने वाली हर फिल्म की स्क्रिप्ट सबसे पहले अपने डैडी को देते हैं और उनसे डिसकस करने के बाद ही वह उस ऑफर के लिए हां या ना कहते हैं. सलमान यदि बॉलीवुड के सबसे कामयाब स्टार रहे हैं तो इसका श्रेय वे अपने डैडी सलीम खान को ही देते हैं.

सलमान की फिल्में अब पहले की तरह बॉक्स ऑफिस पर कमाल नहीं दिखा पा रही हैं. इससे वो नावाकिफ नहीं है. वह समझ चुके हैं कि अब उनके पास ज्यादा वक्त नहीं है, इसलिए वक्त रहते वह ज्यादा से ज्यादा काम करने के मूड़ में हैं.

एक दशक पहले बॉक्स ऑफिस पर सलमान लगातार नाकामी का सामना कर रहे थे. ऐसे में उन्हें प्रभु देवा निर्देशित ’वांटेड’ (2009) से जीवन दान मिला और इस खेल में उनकी वापसी हो गई. अभिनव कश्यप द्वारा निर्देशित ’दबंग’ (2010) के साथ उनके कैरियर की दूसरी पारी शुरू हो गई.

’दबंग’(2010) ने लगभग 139 करोड़ का बिजनेस करते हुए न सिर्फ कामयाबी के नए कीर्तिमान स्थापित किए बल्कि सलमान को इंडस्ट्री में दबंग खान का खिताब दिला दिया. उसके बाद ’बॉडीगार्ड’ (2011) और ’रेडी’ (2011) से उन्होंने अपनी पोजीशन को और भी मजबूत किया.

सलमान के छोटे भाई अरबाज खान द्वारा निर्देशित ’दबंग 2’ (2012) ने एक बार फिर जबर्दस्त कामयाबी हासिल करते हुए ’दबंग’ (2010) से ज्यादा 155 करोड़ का बिजनेस किया. उसके बाद ’एक था टाइगर’ (2012) ’किक’(2014), ’बजरंगी भाईजान’(2015), ’प्रेमरतन धन पायो’(2015) और ’सुल्तान’ (2016) जैसी फिल्मों ने सलमान के कैरियर में सलमा सितारे जड़ने का काम किया.

तीन साल पहले ईद पर रिलीज हुई ’टयूबलाइट’ (2017) ने जैसे तैसे सिर्फ 119 करोड़ की कमाई की लागत और दूसरे खर्चो के मुकाबले जो कि काफी कम थी. इस तरह 100 करोड़ के क्लब में शामिल होने के बावजूद फिल्म को फ्लॉप करार दे दिया गया  लेकिन उसी साल क्रिसमस पर  प्रदर्शित ’टाइगर जिंदा है’ (2017) ने धमाकेदार अंदाज 339 करोड़ की कमाई करके वह न सिर्फ सलमान की सबसे ज्यादा कमाई करने वाली फिल्म बनी बल्कि उसने  सलमान की गिरती हुई साख को संभाल लिया.

लेकिन दो साल पहले ईद पर रिलीज हुई सलमान खान स्टॉरर ’रेस 3’ (2018) ने महज 166 करोड़ की कमाई की थी. पिछले साल ईद पर सलमान की ’भारत’ (2019) ने 211 करोड़ की कमाई की लेकिन सलमान के सुपर स्टार स्टेटस और फिल्म पर आई लागत को देखते हुए ट्रेड एनालिस्ट्सं ने उसे हिट फिल्म का खिताब नहीं दिया.

पिछले साल क्रिसमस पर रिलीज, सलमान खान की ’दबंग 3’ (2019) ने 100 करोड़ के क्लब में प्रवेश तो कर लिया  लेकिन पूरा जोर लगाने के बावजूद वह महज 138 करोड़ का ही बिजनेस कर सकी. इसे अक्षय कुमार की ’गुड न्यूज’ ने जबर्दस्त टक्कर देते हुए पहले हफ्ते में 130 करोड़ से अधिक का बिजनेस किया.

’दबंग 3’ (2019), तीन साल में सलमान के कैरियर की चौथी फ्लॉप फिल्म साबित हुई. इसे सलमान के ’दबंग खान’ वाले खिताब के छिनने की शुरूआत के तौर पर देखा गया.  
’दबंग 3’ (2019) के एक सप्ताह बाद ’गुड न्यूज’ रिलीज करने की हिम्मत दिखाने वाले अक्षय कुमार के हौसले इन दिनों इस कदर बुलंदियों पर हैं कि अब वह सलमान खान की ’राधे’ के अपोजिट अपनी फिल्म ’लक्ष्मी बम’ रिलीज करने जा रहे हैं.

बिजनेस के जानकारों का मानना है कि सलमान की ’दबंग 3’ (2019) के न चलने का सीधा नुकसान उनकी अगली फिल्म ’राधे’ को भुगतना होगा. और उस पर अब तो अक्षय कुमार उसके अपोजिट खुद की फिल्म भी ला रहे हैं.

अंदर के सूत्रों का कहना है कि सलमान ने हमेशा की तरह एक बार फिर खुद को ’राधे’ में दोहराने की कोशिश की है. पिछली कुछ फिल्मों की तरह ऑडियंस के लिए इस बार भी वो कुछ भी नया नहीं ला रहे हैं. फिल्म में उनका किरदार ’तेरे नाम’ के ’राधे’ जैसा बताया जा रहा है. अपने किरदारों में बार बार सलमान के दोहराव को देखते हुए उनके लॉयल फैन्स की हिम्मत जवाब देती जा रही है.

शाहरूख और आमिर या फिर सलमान खान, ये सारे एक्टर्स ऑडियंस को नया कांटेंट देने में नाकाम रहे हैं. उनकी जगह यह काम आयुष्मान खुराना बखूबी कर रहे हैं इसलिए वो आज के दौर के नये सुपर स्टार बन चुके हैं.

शाहरूख ने खुलकर कह भी चुके हैं कि वह राजकुमार राव और आयुष्मान खुराना की तरह का सिनेमा करना चाहते हैं लेकिन सलमान की परेशानी यह है कि वह सिर्फ एक ही तरह की फिल्मों के स्टार है और अब उनकी तरह का सिनेमा दर्शकों को पसंद नहीं आ रहा है.

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।