पर्यटकों से गुलजार रहने वाले गोवा पर इसका प्रभाव कुछ ऐसा पड़ा, जैसे समुद्री तट रेगिस्तान में परिवर्तित हो गए हों. यहां के कारोबारियों को अपना कारोबार सीजन की समाप्ति से दो महीने पहले ही समेटना पड़ गया. आमतौर, पर गोवा में मई के अंत तक काफी संख्या में पर्यटक आते रहते हैं.

पर्यटन कारोबारियों का कहना है कि यह सीजन उनके लिए अच्छा नहीं रहा और अगले सीजन से भी उन्हें उम्मीद कम ही हैं. तटीय राज्य गोवा में काफी संख्या में पर्यटक आते हैं. खासकर गर्मियों की छुट्टियों में यहां पर देसी और विदेशी पर्यटकों का तांता लगा रहता है. 

इस समय लगभग सभी होटल, रिजॉर्ट बुक रहते थे. लेकिन इस बार हालात कुछ और ही है. इस सीजन की शुरुआत भी गिरावट के साथ हुई थी और अंत आपके सामने है. कार्डोज़ो, बैगा-कैलंग्यूट बीच बेल्ट पर एक शेक के मालिक हैं, उनका यह शेक काफी मशहूर है. लॅाकडाउन की वजह से यहां भी सन्नाटा पसरा हुआ है.

कारोबारी का ये भी कहना है कि आने वाले सीजन से भी उन्हें किसी तरह की कोई उम्मीद नहीं है. कोरोनावायरस ने अर्थव्यवस्था पर कड़ा प्रहार किया है. लोग कुछ समय तक यात्रा करने से बचेंगे.

हालांकि, ट्रैवल एंड टूर्स एसोसिएशन ऑफ गोवा ने दावा किया कि इस स्वास्थ्य संकट के बाद स्थिति में सुधार होगा. टीटीएजी के अध्यक्ष सवियो मेसियस ने कहा, लोग अपने घरों में दुबके हुए हैं. एक बार यह सब खत्म हो जाएं, उसके बाद लोग बाहर निकलकर तनाव कम करना चाहंगे. समुद्र तट और पार्टी का आनंद लेने के लिए गोवा से बेहतर कोई जगह नहीं है.

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।