नई दिल्ली. रेलवे ने कहा है कि उसने अभी तक अपनी सेवाओं की बहाली पर कोई अंतिम फैसला नहीं किया है. बता दें कि इससे पहले न्यूज एजेंसी पीटीआई ने सूत्रों के हवाले से खबर दी थी कि रेलवे ने कोरोना वायरस की वजह से पैदा हुए संकट के बीच अपनी पैंसेजर ट्रेनों को 21 दिनों के लिए सस्पेंड करने के बाद 15 अप्रैल से सभी सेवाओं को बहाल करने की तैयारी शुरू कर दी है. 

सूत्रों के मुताबिक रेलवे के सभी सेफ्टी कर्मचारियों, रनिंग स्टाफ, गार्ड्स, ञ्जञ्जश्व और बाकी अधिकारियों को 15 अप्रैल से अपनी ड्यूटी ज्वाइन करने के लिए तैयार रहने को कहा गया है. रिपोर्ट में बताया गया कि ट्रेनों की सेवा तभी बहाल होगी, जब सरकार से इसके लिए हरी झंडी मिलेगी. इसके अलावा बताया गया कि रेलवे ने ट्रेन चलने के शेड्यूल, उनकी फ्रीक्वेंसी और रेक्स की उपलब्धता के साथ अपने सभी जोन्स के लिए बहाली योजना जारी की है. सूत्रों ने बताया कि सभी 17 जोन्स को उनकी सेवाओं को चलाने के लिए तैयार रहने को एक औपचारिक संदेश भेजा गया है.

रिपोर्ट में कहा गया कि 80 फीसदी के करीब ट्रेनों के शेड्यूल के मुताबिक 15 अप्रैल से चलने की उम्मीद जताई जा रही है, जिसमें राजधानी, शताब्दी, दुरंतो आदि शामिल हैं, लोकल ट्रेनें भी अपने ऑपरेशन शुरू कर सकती हैं.

सूत्रों ने कहा कि रेलवे सभी यात्रियों की थर्मल स्क्रीनिंग कर सकता है और सरकार की तरफ से सुझाए गए सभी प्रोटोकॉल्स का भी पालन कर सकता है. बता दें कि 24 मार्च को पीएम नरेंद्र मोदी के राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन के ऐलान के बाद रेलवे ने 21 दिनों के लिए 13,523 ट्रेनों की सेवाओं को सस्पेंड कर दिया था. हालांकि इस बीच इसकी मालगाडिय़ों का चलना जारी रहा है.

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।