कोटा/जबलपुर. इन दिनों जब पूरे देश में कोरोना वायरस की महामारी से लॉकडाउन  है. लोग परेशान हैं, घरों में कैद होकर रह गये हैं, जिसमें सारे हिन्दुस्तान को चलायमान रखने वाले रेल कर्मचारी भी शामिल हैं. इन रेल कर्मचारियों व उनके परिवारजनों की रोजमर्रा की किराना सामग्री की कमी को दूर करने के लिए वेस्ट सेंट्रल रेलवे एम्पलाइज क्रेडिट को-ऑपरेटिव सोसायटी लि. द्वारा पमरे के कोटा में रेलकर्मियों को घर-घर किराना सामग्री पहुंचाने की शुरुआत की है. जिससे रेल कर्मचारी व उनके परिजन काफी खुश नजर आए, क्योंकि उन्हें बाजार की भीड़भाड़़ में जाकर किराना सामग्री खरीदने से मुक्ति मिल गई और कोरोना वायरस से निपटने के लिए सोशल डिस्टेंसिंग का पालन भी हो गया.

वेस्ट सेन्ट्रल रेलवे एम्पलाईज को-ऑपरेटिव क्रेडिट सोसायटी लि. कोटा के उपाध्यक्ष इरशाद खान ने बताया कि आज रविवार 29 मार्च 2020 से प्रात: 11.30 बजे मंडल रेल प्रबंधक कार्यालय के मुख्य द्वार से मंडल रेल प्रबंधक महोदय श्री पंकज शर्मा द्वारा हरी झंडी दिखाकर ट्रक व पिकअप वैन को रवाना कर शुभारंभ किया. इस अवसर अपर मंडल रेल प्रबंधक विनित पाण्डेय, वरि.मंडल कार्मिक अधिकारी सुबोध विश्वकर्मा, वेस्ट सेन्ट्रल रेलवे एम्पलाईज को-ऑपरेटिव क्रेडिट सोसायटी के अध्यक्ष मुकेश गालव भी उपस्थित थे.

रेलकर्मी वाट्सएप पर भेजते हैं सामग्री की सूची, पैक कर पहुंचाया जा रहा

इरशाद खान ने बताया कि लॉकडाउन के चलते हुये रेलकर्मचारियों ने वाट्सअप पर दैनिक उपयोग में आने वाले किराने के सामान भेजे. उनको पैक कर सोसायटी के डायरेक्टर अजय त्रिवेदी के नेतृत्व में स्वयं सेवकों द्वारा घर घर जाकर सामग्री का वितरण किया गया. आज लगभग 50 रेलकर्मचारियों व उनके परिवारजनों के घर पर सामग्री पहुंचाई गई. यह क्रम लगातार जारी रहेगा.

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।