मुंबई. कोरोना वायरस के संक्रमण के भारत सहित दुनिया के अधिकांश देशों में संक्रमण के फैलने से अर्थव्यवस्था के प्रभावित होने के दबाव में शेयर बाजार में गुरूवार को लगातार चौथे दिन बिकवाली जारी रहा जिससे यह करीब चार के निचले स्तर पर आ गया और निवेशकों के 3.76 लाख करोड़ रुपये डूब गये. 

कोरोना वायरस के प्रकोप के चलते निराशाजनक विदेशी संकेतों से घरेलू शेयर बाजार में गुरुवार को बिकवाली का दबाव जारी रहा. सेंसेक्स (BSE Sensex) और निफ्टी (Nifty 50) दोनों ही इंडेक्स में गिरावट का दौर रहा. बंबई स्टॉक एक्सचेंज यानी बीएसई के 30 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक सेंसेक्स करीब 581 अंकों की गिरावट के साथ 28,288 के स्तर पर बंद हुआ. वहीं नेशनल स्टॉक एक्सचेंज के 50 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक निफ्टी भी 217 अंक गिरकर 8,655 पर बंद हुआ. गुरुवार को एक बार सेंसेक्स 1,800 अंक तक भी नीचे गिरा था.

कोरोना वायरस का प्रकोप पूरी दुनिया में गहराता जा रहा है, जिससे कारोबार पर भारी असर पड़ा है और वैश्विक मंदी की आशंकाओं के बीच शेयर बाजारों में बिकवाली का भारी दबाव बना हुआ है. जानकारों का कहना है कि पिछले सोमवार से ही अमेरिकी और एशियाई बाजार में मंदी का असर भारतीय शेयर मार्केट में देखने को मिल रहा है. कच्चे तेल में मंदी और चौतरफा बिकवाली की वजह से सूचकांक उपर नहीं उठ पा रहा है.

बीएसई का सेंसेक्स 581.28 अंक टूटर 28288.23 अंक पर और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का निफ्टी 205.35 अंक गिरकर 8263.45 अंक पर रहा.

दिग्गज कंपनियों की तुलना में छोटी और मझौली कंपनियों में बिकवाली अधिक देखी गयी जिससे बीएसई का मिडकैप 3.70 प्रतिशत फिसलकर 10694.34 अंक पर और स्मॉलकैप 4.53 प्रतिशत टूटकर 10 हजार से नीचे 9721.90 अंक पर आ गया. बीएसई में  हुयी इस बिकवाली से उसका बाजार पूंजीकरण कल के 11353329.30 करोड़ रुपये की तुलना में आज 376584.30 करोड़ रुपये घटकर 10976781 करोड़ रुपये पर आ गया.

बीएसई में टेलीकॉम में 1.66 प्रतिशत की बढोतरी को छोड़कर सभी समूह लाल निशान में रहे जिसमें धातु 7.17 प्रतिशत, कैपिटल गुड्स 6.18 प्रतिशत और टेक में सबसे कम 0.97 प्रतिशत की गिरावट दर्ज की गयी. बीएसई मं कुल 2561 कंपनियों में कारोबार हुआ जिसमें से 1828 गिरावट में और 574 बढ़त में रहा जबकि 159 में कोई बदलाव नहीं है. वैश्विक स्तर लगभग सभी बड़े सूचकांक गिरावट में रहे. ब्रिटेन का एफटीएसई 0.51 प्रतिशत, जर्मनी का डैक्स 0.68 प्रतिशत, जापान का निक्की 1.04 प्रतिशत, हांगकांग का हैंगसेंग 2.61 प्रतिशत, दक्षिण कोरिया का कोस्पी 8.39 प्रतिशत और चीन का शंघाई कंपोजिट 0.98 प्रतिशत शामिल है.

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।