नई दिल्ली. यदि आपका बैंक से जुड़ा कोई काम है तो बेहतर होगा कि अगले वीक की बजाय इसी सप्ताह निपटा लें. इसकी वजह यह है कि अगले सप्ताह बैंक सिर्फ तीन दिन ही खुलेंगे. दरअसल एक दिन की बैंक हड़ताल और कई अन्य छुट्टियों के चलते 4 दिनों तक बैंक बंद रह सकते हैं.

ऑल इंडिया बैंक एंप्लॉयीज एसोसिएशन और ऑल इंडिया बैंक ऑफिसर्स एसोसिएशन ने 10 बैंकों को 4 बैकों के तौर पर विलय करने के खिलाफ 27 मार्च को आंदोलन का ऐलान किया है. इनके अलावा बैंक एंप्लॉयीज फेडरेशन ऑफ इंडिया ने भी इस स्ट्राइक में हिस्सा लेने का फैसला लिया है.

अगले सप्ताह बैंक सोमवार और मंगलवार को देश भर में खुलेंगे, लेकिन बुधवार को कई शहरों में गुड़ी पड़वा और तेलुगू नववर्ष के मौके पर बंद रहेंगे. इसके अलावा बेंगलुरु, चेन्नै, हैदराबाद, मुंबई और नागपुर में 25 मार्च को बसंत उत्सव के मौके पर बैंक बंद रहेंगे. इसके बाद गुरुवार को बैंक को खुलेंगे, लेकिन फिर 27 तारीख को हड़ताल का ऐलान किया गया और फिर चौथे शनिवार और रविवार का अवकाश रहेगा. बता दें कि हर महीने के दूसरे और चौथे शनिवार को बैंक बंद रहते हैं.

बैंकों ने इससे पहले 11 से 13 मार्च तक तीन दिनों की हड़ताल का ऐलान किया था, लेकिन बाद में सरकार से बातचीत के बाद वापस ले लिया गया था. यही नहीं 31 जनवरी और 1 फरवरी को भी बैंकिंग सेवाएं हजारों कर्मचारियों की हड़ताल के चलते प्रभावित थी. तब बैंक कर्मचारियों ने वेतन में 20 फीसदी के इजाफे की मांग के लिए की थी. इसके बाद अब बैंक यूनियनों ने 10 बैंकों के विलय के खिलाफ आंदोलन का ऐलान किया है.

बैंक कर्मचारियों का कहना है कि विलय के फैसले को वापस लिया जाना चाहिए. ऑल इंडिया बैंक एंप्लॉयीज एसोसिएशन के जनरल सेक्रेटरी सी.एच. वेंकटचलम ने कहा कि यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि बीते तीन दशकों से सरकारें लगातार सरकारी बैंकों के खिलाफ नीतियों पर अमल करती रही हैं. उन्होंने कहा कि सरकारें लगातार सार्वजनिक बैंकों को निजी हाथों में सौंपने की कोशिशों में जुटी हैं.

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।