मुंबई. बीसीसीआई ने इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के मौजूदा सीजन को 15 अप्रैल तक के लिए टाल दिया है. पहले यह टूर्नामेंट 29 मार्च से होना था, लेकिन कोरोनोवायरस के कारण इसे फिलहाल नहीं कराने का फैसला लिया गया है. फ्रेंचाइजियों को भी इसकी जानकारी दे दी गई है. बीसीसीआई के एक अधिकारी ने कहा कि टूर्नामेंट कराने का सबसे सही तरीका यही है कि इसे 15 अप्रैल से शुरू किया जाए.

इससे पहले, केंद्र सरकार ने 13 मार्च से 15 अप्रैल तक के लिए सभी वीजा रद्द कर दिए हैं. सिर्फ डिप्लोमैटिक और एमप्लॉयमेंट वीजा को ही मंजूरी दी गई है. खिलाडिय़ों को बिजनेस वीजा मिलता है. ऐसे में उन्हें भी देश में आने की अनुमति नहीं होगी. आईपीएल की 8 टीमों के 60 विदेशी खिलाड़ी 15 अप्रैल तक भारत नहीं आ पाएंगे.

फ्रेंचाइजी विदेशी खिलाडिय़ों के बिना नहीं खेलना चाहती 

फ्रेंचाइजी के एक अधिकारी ने एजेंसी से कहा, हां, हमें बता दिया गया है कि आईपीएल अब 15 अप्रैल से शुरू होगा, लेकिन हम विदेशी खिलाडिय़ों की उपलब्धता को लेकर सफाई चाहते हैं. अगर हमारे 4 विदेशी खिलाड़ी नहीं होंगे, तो आईपीएल अपना स्वरूप खो देगा, क्योंकि भारतीय खिलाडिय़ों की तरह वह भी हमारी टीम का अहम हिस्सा हैं.

आईपीएल की 8 टीमों में 64 विदेशी

आईपीएल की 8 टीमों में 189 खिलाड़ी हैं. इनमें 64 विदेशी खिलाड़ी हैं और इनमें भी 60 अभी भारत में नहीं हैं. दक्षिण अफ्रीका के चार खिलाड़ी क्विंटन डीकॉक, फाफ डू प्लेसिस, लुंगी एनगिडी, डेविड मिलर 3 मैचों की वनडे सीरीज के लिए भारत दौरे पर ही हैं. इस बार आईपीएल में डीकॉक मुंबई इंडियंस, मिलर राजस्थान, डू प्लेसिस और एनगिडी चेन्नई के लिए खेलेंगे. आईपीएल 29 मार्च से 24 मई तक खेला जाना है. हालांकि, इससे पहले बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली कह चुके हैं कि आईपीएल शेड्यूल के मुताबिक ही होगा. जरूरत पड़ी तो हेल्थ एडवायजरी जारी की जा सकती है. दूसरी तरफ, महाराष्ट्र के स्वास्थ्य मंत्री ने इसे टालने की सिफारिश की थी.

दिल्ली सरकार ने आईपीएल मैच न कराने का फैसला किया

खेलों को लेकर केंद्र सरकार ने एडवायजरी जारी की है. इसमें साफ कहा गया है कि जिन टूर्नामेंटों को टाला नहीं जा सकता है, उन्हें दर्शकों के बिना ही करवाया जाए. दिल्ली सरकार ने शुक्रवार को ही साफ कर दिया है कि राष्ट्रीय राजधानी में आईपीएल मैच नहीं होंगे.

बोर्ड ने माना- विदेशी खिलाडिय़ों का हिस्सा लेना मुश्किल

खेल मंत्रालय ने गुरुवार को ही साफ कर दिया था कि बीसीसीआई समेत देश के तमाम खेल संगठनों को स्वास्थ्य मंत्रालय के निर्देशों का सख्ती से पालन करना होगा. स्वास्थ्य मंत्रालय ने खेल आयोजनों में भीड़ जुटाने से परेहज करने को कहा है. 

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।