पलपल संवाददाता, जबलपुर. पश्चिम मध्य रेलवे के जबलपुर रेल मंडल में पिछले तीन दिनों से जबलपुर-इटारसी रेलखंड के बागरातवा-सोनतलाई स्टेशनों के बीच चले रहे दोहरीकरण व इंटरलाकिंग का कार्य रेल प्रशासन के अनियोजित कार्यप्रणाली के चलते फेल हो गया. इस कार्य के लिए पहले रेल प्रशासन ने दो दिनों का ब्लाक लिया था, किंतु इसे मंगलवार की देर रात अचानक दो दिनों और 19 व 20 फरवरी तक बढ़ा दिया है.

जनशताब्दी, हबीबगंज- जबलपुर इंटरसिटी एक्सप्रेस के अचानक रद्द होने से आज 19 फरवरी बुधवार की सुबह यात्री भड़क उठे, क्योंकि उन्हें स्टेशन पहुंचकर ही ट्रेन के रद्द होने की सूचना मिली, वहीं दूसरी तरफ पिछले दो दिनों से मुख्य संरक्षा आयुक्त (सीआरएस) पश्चिम क्षेत्र एके जैन भी बागरातवा-सोनतलाई के बीच कार्य पूरा होने का इंतजार कर रहे हैं, ताकि उसे यात्री गाडिय़ों के लिए फिट करार दिया जाए, किंतु समय पर काम पूरा नहीं होने से वे काफी खफा बताये जा रहे हैं.
जबलपुर-इटारसी रेल खंड पर सोनतलाई और बागरातवा के बीच रेल लाइन के दोहरीकरण कार्य के तहत किया जा रहा इंटरलॉकिंग कार्य बुधवार को तीसरे दिन भी जारी रहा. इस वजह से ट्रेनें घंटों रेलवे स्टेशनों और आउटरों पर खड़ीं रहीं, कुछ ट्रेनेंं रद्द कर दी गई और कुछ का रूट बदल दिया गया. नागपुर, भुसावल, भोपाल और जबलपुर के बीच विभिन्न स्टेशनों और आउटरों पर ट्रेनों को रोक-रोक कर चलाया. इससे यात्रियों को परेशान होना पड़ा और घंटो ट्रेन का इंतजार करना पड़ा. 

इन ट्रेनों के रूट बदले

जबलपुर इंदौर एक्सप्रेस, पाटली पुत्र एक्सप्रेस, लोकमान्य तिलक टर्मिनस मांडवाडी एक्सप्रेस, बांद्रा-पटना एक्सप्रेस, रामेश्वरम-फैजाबाद और जबलपुर इंदौर एक्सप्रेस.

ये ट्रेनें दो दिन और कर दी गई कैंसिल

कटनी-इटारसी पैसेंजर, इटारसी-कटनी पैसेंजर, हवीबगंज-जबलपुर इंटरसिटी एक्सप्रेस, जबलपुर-हवीबगंज इंटरसिटी एक्सप्रेस, हवीबगंज-जबलपुर-जनशताब्दी, जबलपुर-हवीबगंज जनशताब्दी, इटारसी-कटनी पैसेंजर, कटनी-इटारसी पैसेंजर, िवंध्याचल एक्सप्रेस, इलाहाबाद पैसेेंजर रद्द रहीं.

कार्य कर रही ट्रेक मशीन के पहिये पटरी से उतरे

डॉबलिंग का कार्य कर रही ट्रेक मशीन के चार पहिये 18 फरवरी मंगलवार को पटरी से उतर गए. वरिष्ठ मंडल यांत्रिक इंजीनियर ने दुर्घटना राहत रोड ट्रक को घटना स्थल पर भेजा, सहायक यांत्रिक इंजीनियर एचएन सिंह के नेतृत्व में वरिष्ठ खंड इंजीनियर बीएच कुरसंगे के पर्यवेक्षण में यांत्रिक विभाग के कर्मचारियों ने हाइड्रोलिक रिरेलिंग उपकरण का प्रयोग कर 10 से 15 मिनट में ट्रेक मशीन को पटरी पर ले आए.

चार विभागों के बीच सामंजस्य का अभाव, दो दिन और बढ़ा ब्लाक

रेल सूत्रों के मुताबिक जबलपुर-इटारसी रेल ट्रेक काफी व्यस्त रूट में शुमार है. इस ट्रेक के बागरातवा-सोनतलाई के बीच जब ब्लाक लिया जाना था तो इसके पहले पूर्व तैयारियां रेल प्रशासन को पूरी करनी थी, किंतु चार विभागों इंजीनियरिंग, आपरेटिंग, एसएंडटी व विद्युत विभागों के बीच सामंजस्य का नितांत अभाव सामने आया,

यही कारण है कि जिस कार्य को दो दिनों में पूरा होना चाहिए था, वह अधूरा रहा, जिसके चलते मंगलवार 18 फरवरी की देर रात अचानक दो दिनों तक और ब्लाक लेने का निर्णय लिया गया. जबलपुर रेल मंडल के आला अधिकारियों के बीच सामंजस्य नहीं होने का खामियाजा यात्रियों को लगातार भुगतना पड़ रहा है.

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।