राष्ट्रपति भवन का मुगल गार्डन गहरे रंग के गुलाबों, सफेद डेजी और ट्यूलिप की लंबी कतारों के साथ अपने वार्षिक उद्यानोत्सव से वसंत का स्वागत करने को तैयार है. राष्ट्रपति भवन परिसर में स्थित यह आकर्षक उद्यान आम जनता के लिए पांच फरवरी को खोला जाएगा. 

राष्ट्रपति उद्यान के अधीक्षक पी. एन. जोशी ने रविवार को यह घोषणा की.इस बार लगभग 10,000 की संख्या में ट्यूलिप, 138 तरह के गुलाब और 70 तरह के लगभग 5000 मौसमी फूल आगंतुकों का स्वागत करेंगे. अपने दुर्लभ और आकर्षक गुलाबों के लिए प्रसिद्ध इस उद्यान का मुख्य आकर्षण इस बार ग्रेस द मोनाको नामक गुलाब होगा. पिछले साल मोनाको के प्रिन्स एल्बर्ट द्वितीय ने उद्यान में इस गुलाब को रोपा था.

इनके नाम पर फूल

इस पुष्प प्रदर्शनी में प्रख्यात लोग जैसे पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी, मदर टेरेसा, पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति जॉन एफ कैनेडी, महारानी एलिजाबेथ और पूर्व प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू के नाम पर विभिन्न प्रकार के गुलाबों के नाम रखे गए हैं. प्रसिद्ध हस्तियों के अलावा यहां गुलाबों को क्रिश्चियन डीयोर, अमेरिकन हेरिटेज, फर्स्ट प्राइज, किस ऑफ फायर और डबल डिलाइट जैसे अनोखे नाम दिए गए हैं.

पिछले वर्ष पांच लाख लोग आए थे

अधीक्षक पीएन जोशी ने बताया कि पिछले वर्ष मुगल गार्डन में आगंतुकों की संख्या 5.18 लाख थी और 2003 से हर साल तीन से छह लाख लोग यहां निश्चित रूप से आते हैं. अधिक लोगों के आने से कभी कभी समस्याएं भी होती हैं जैसे कभी-कभी बिना उचित निर्देशों के बच्चे फूल तोड़ने लगते हैं.

हर्बल गार्डन भी देख सकेंगे

बेल्वेदर इस्टेट कोलकाता से लाई गई दूब से ढंके हुए लॉन में बहुतायत से मौलसारी, साइप्रस और चाइना ऑरेंज जैसे पेड़ बड़े करीने से लगाए गए हैं. आगंतुक बगीचे के तीन हिस्सों- चतुर्भुज, लंबे और गोल हिस्से के अलावा आध्यात्मिक उद्यान, हर्बल गार्डन और बोन्साई उद्यान भी देख सकेंगे.

सोमवार बंद रहेगा

मुगल गार्डन जाने पर, लोग राष्ट्रपति भवन संग्रहालय भी देख सकते हैं. संग्रहाल में बगीचे की अभिलेखीय तस्वीरें और चित्र लगाए गए हैं. उद्यान पांच फरवरी से आठ मार्च तक सोमवार के अलावा पूरे हफ्तेभर सुबह 10 बजे से शाम चार बजे तक खुला रहेगा. हालांकि, उद्यान विशेष रूप से किसानों, दिव्यांग जनों, रक्षा, अर्ध-सैन्य बलों और दिल्ली पुलिस कर्मियों के लिए खुलेगा.

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।