शहर के एबी रोड स्थित एक शादी में रविवार को दुल्हन पक्ष की महिलाएं लोगों से खाना जूठा नहीं फेंकने की अपील करती दिखीं. इसकी जिम्मेदारी दुल्हन की मौसी ने उठाई. वे रिसेप्शन के दौरान लोगों के पास गईं और लोगों को खाना नहीं छोड़ने का महत्व समझाया. एक सर्वे के मुताबिक, इंदौर में हर साल शादियों में साढ़े 12 लाख लोगों के पेट भरने लायक भोजन जूठा छूट जाता है. 

इसे बचाने के लिए दैनिक भास्कर के विचार को अब लोग शादियों में अपनाने लगे हैं. इससे जुड़ा एक कैम्पेन चलाया जा रहा है. जहां घर वाले और रिश्तेदार मेहमानों से जूठा नहीं छोड़ने का आग्रह कर रहे हैं, तो दूल्हा-दुल्हन भी मंच से उतरकर मेहमानों के बीच जाकर यह अपील कर रहे हैं. शादियों में स्टॉल के पास ‘अन्न जूठा नहीं छोड़ें. इसका संकल्प लें’के बैनर-पोस्टर लगाकर भी अपील की जा रही है.

कैटरिंग वाले बोले-टीम लगाकर जागरूक करेंगे

एक शादी में कैटरिंग संचालक पवन तोमर, विजय चौकसे ने भी अपील की. साथ ही कहा कि वे जहां भी कैटरिंग का कॉन्ट्रैक्ट लेंगे, वहां लोगों की टीम भी लगाएंगे कि खाना जूठा ना जाए. मेहमानों के बीच घूमकर जूठन नहीं छोड़ने का आग्रह करेंगे.

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।