खबरार्थ. बीजेपी, शिवसेना के साथ सत्ता की 50-50 प्रतिशत हिस्सेदारी के वादे से इंकार कर रही है, लेकिन शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने तो जब चुनाव से पहले ही कह दिया था कि- शिवसैनिक महाराष्ट्र का मुख्यमंत्री बनेगा, तब बीजेपी खामोश क्यों रही? चुनाव से पहले उद्धव ठाकरे ने साक्षात्कार में कहा था कि- एक दिन कोई शिवसैनिक महाराष्ट्र का मुख्यमंत्री बनेगा, यह एक वादा है, जो मैंने अपने पिता और शिवसेना के संस्थापक दिवंगत बालासाहेब से किया था!

महाराष्ट्र के सीएम देवेंद्र फडणवीस ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है और उसके बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस में दोहराया कि सत्ता की 50-50 प्रतिशत हिस्सेदारी जैसी कोई बात नहीं हुई थी? इसके बाद उद्धव ठाकरे ने शिवसेना भवन में प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित किया और कहा कि- मैं बाला साहेब की तरह सच के साथ खड़ा हूं.

मुझ पर झूठ बोलने के आरोप लग रहे हैं. अमित शाह बात करने मुंबई आए थे. मैंने सीएम पद को लेकर अमित शाह से स्पष्ट रूप से बात की थी. सबको पता है झूठ कौन बोल रहा है? खबर है कि.... उद्धव ठाकरे का कहना था कि पदों और मुख्यमंत्री पद को लेकर 50-50 प्रतिशत हिस्सेदारी पर सहमति बनी थी. मुझे इस पर सफाई देने की जरूरत नहीं. शिवसेना का सीएम होने के सपने को पूरा करने के लिए मुझे किसी की मदद की जरूरत नहीं है. हमारा काम बीजेपी जैसा नहीं. अमित शाह ने कहा था कि जिनकी ज्यादा सीट उनका सीएम.

मैंने कहा कि मैं यह नहीं मानूंगा. देवेंद्र फडणवीस ने अमित शाह का हवाला देकर ढाई साल के सीएम की बात होने से इंकार किया, जनता को पता है, कौन झूठ बोल रहा? उद्धव ठाकरे का कहना था कि देवेंद्र फडणवीस से ऐसे बयान की उम्मीद नहीं थी. बीजेपी भूल गई कि दुष्यंत चौटाल ने उनके लिए क्या कहा था? शिवसेना झूठ बोलने वालों की पार्टी नहीं है. मैं बीजेपी वाला नहीं हूं. झूठ नहीं बोलता. मैं झूठ बोलने वालों से बात नहीं करता. मैंने कभी दुष्यंत चौटाला जैसी भाषा का प्रयोग नहीं किया. मैं दुष्यंत चौटाला की तरह बात नहीं करता जैसे उन्होंने पीएम मोदी पर निशाना साधा था. गंगा को साफ करते हुए उनका दिमाग गंदा हो गया है. हमने देखा है कि बीजेपी ने मणिपुर और गोवा में किस प्रकार से सरकार बनाई है. हमने उन्हीं से सीखा है. लेकिन हमने कभी झूठ बोलना नहीं सीखा. मुझे अगर बीजेपी झूठा बोलेगी तो बर्दाश्त नहीं करूंगा! उनका कहना था कि जब मुझे पता चला कि बीजेपी समझौते से हट रही है, तब हमने बातचीत बंद की.

हमने हमेशा अपना रुख साफ किया, अब वक्त है कि बीजेपी सच बोले. क्या फैसला हुआ था इस बारे में मैं शिवसैनिकों से झूठ नहीं बोल सकता हूं. महाराष्ट्र की जनता को शिवसेना पर भरोसा है. बहरहाल, जहां सत्ता की 50-50 प्रतिशत हिस्सेदारी पर शिवसेना अड़ी हुई है, वहीं बीजेपी अब इंकार कर रही है, लेकिन बड़ा सवाल यही है कि जब चुनाव से पहले ही शिवसैनिक को मुख्यमंत्री बनाने का एलान उद्धव ठाकरे ने कर दिया था, तब बीजेपी मौन क्यों रही?

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।