* प्रबोधिनी एकादशी को देव उठनी एकादशी और देवुत्थान एकादशी के नाम से भी जाना जाता है.

* देवशयनी एकादशी से चार माह के लिए भगवान श्रीविष्णु क्षीर सागर में सोने चले जाते हैं, इसके बाद देवउठनी एकादशी के दिन वह फिर जाग्रत होते हैं.

* इस तिथि से ही सारे शुभ कार्य जैसे... विवाह, मुंडन, मांगलिक कार्य प्रारंभ हो जाते हैं. 

* इस एकादशी के दिन शालिग्राम से तुलसी विवाह भी किया जाता है. 

* देवउठनी एकादशी का व्रत करने से एक हजार अश्वमेध यज्ञ करने का शुभ फल प्राप्त होता है.

* व्रत करने वाले श्रद्धालु को चाहिए कि वह प्रात:काल पवित्र स्नानादि से निवृत्त होकर आंगन में चौक बनाए. 

* उसके बाद भगवान श्रीविष्णु के चरणों को बनाएं और उन्हें ढक दें. 

* देवउठनी एकादशी की रात भजन-कीर्तन-जागरण आदि करें.

* भगवान श्रीविष्णु को मंत्र-प्रार्थना से जगाएं... और पूजा-अर्चना करें.

* श्रद्धापूर्वक पूजन करने के पश्चात धूप-दीप जलाकर आरती करें.

-आज का राशिफल -

मेष राशि: काम में आने वाली सामान्य कठिनाइयों के बारे में ज्यादा चिंता किए बिना अपनी सामान्य गति से चलते रहें. थोड़ा सा चतुर होना आपके लिए बेहतर परिणाम दे सकता है, जहां तक करीबी लोगों से लंबित बकाया की वसूली का संबंध है तो इस सन्दर्भ में आज आप भाग्यशाली हो सकतें हैं. एक बड़ा सौदा अंतिम रूप ले सकता है. आप अपने निकट और प्रिय लोगों के साथ बाहर घूमने जा सकतें हैं. आप अपने प्रियजनों के साथ कुछ यादगार क्षणों का आनंद ले सकते हैं.

मेष राशि वाले हनुमान जी के मंदिर में चना का प्रसाद लगाए, कार्य पूर्ण होंगे,

वृष राशि: छात्रों को सामान्य से अधिक कठिनाइयों का सामना करना पड़ सकता है, फिर भी वे अपने निरंतर प्रयासों से सफलता प्राप्त कर सकते हैं. आपको अध्ययन के प्रति अपने दृष्टिकोण में अधिक ध्यान केंद्रित होना होगा. यदि आप नई नौकरी की तलाश कर रहे हैं, तो आपके रास्ते में बहुत सारे अवसर हो सकते हैं और यहां तक कि चुनने के लिए विकल्प भी हो सकते
हैं. महत्वपूर्ण निर्णय लेने के लिए दूसरों पर निर्भर रहना आपको परेशानी में डाल सकता है. परिवार की महिला सदस्य आपकी समस्याओं को कुछ हद तक सुलझाने में आपकी मदद कर सकती है.

वृष राशि वाले संतोषी माता की पूजा करे तथा गुण और चने का प्रसाद लगाए. सभी कार्यो में सफलता मिलेगी.

मिथुन राशि: आपको व्यावसायिक जीवन में कुछ बेहतरीन अवसर प्राप्त हो सकते हैं, जिनका उपयोग आप अपने लाभ के लिए कर सकते हैं. किसी बुद्धिमान व्यक्ति से मिलने वाली महत्वपूर्ण सलाह पर ध्यान देना चाहिए क्योंकि आप उस से अत्यधिक लाभ अर्जित कर सकते हैं. विचारों का आदान-प्रदान भी आपको बहुत लाभ दिला सकता है. आपको अपने पिता के सुझाव का स्वागत करना चाहिए क्योंकि यह आपके लिए कुछ नए वित्तीय मार्ग खोलने में मदद कर सकता है. आपकी मां का स्वास्थ्य चिंता का कारण हो सकता है. चल और अचल संपत्तियों के बारे में नए निर्णय लेने से बचें.

मिथुन राशि वाले हरि वस्तु खरीद कर के किसी को दान करे, कार्य पूर्ण होंगे.

कर्क राशि: कानूनी मामलों में बहुत सावधानी बरतने की जरूरत है. आज आप खुद को विपरीत स्थितियों में पा सकते हैं. रियल एस्टेट डीलिंग आपके लिए फायदेमंद साबित हो सकती है. यदि आप इस पर सावधानीपूर्वक नजर रखें तो साझेदारी आपको एक से अधिक तरीकों से लाभान्वित कर सकती है. धार्मिक गतिविधियों पर खर्च संभव है, जो आपको मानसिक शांति प्रदान करेगा. अपने स्वास्थ्य की अच्छी देखभाल करें, क्योंकि शिथिलता आपके लिए हानिकारक साबित हो सकती है. पारिवारिक विवाद से बचें और बच्चों के साथ अधिक समय बिताएं.

कर्क राशि वाले सबा दो किलो चावल दान करे, रुके कार्य पूर्ण होंगे,

सिंह राशि: आप सरकार से किसी भी प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष तरीके से लाभ प्राप्त कर सकतें हैं. यदि आप समय पर अवसर का पूर्ण रूप से उपयोग कर लेते हैं, तो आपका व्यावसायिक जीवन आपको भविष्य में अत्यधिक लाभ प्रदान कर सकता है. जीवनसाथी के स्वास्थ्य पर पर भारी खर्च हो सकता है. आर्थिक नुकसान से बचने के लिए मंदिर में कुछ दान करें. अपने धन संबंधी मामलों पर ध्यान रखें अन्यथा कुछ लाभ हानि में परिवर्तित हो सकते हैं. इस समय संपत्ति से जुड़े फैसले करने से बचें नहीं तो आपको परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है.

सिंह राशि वाले लाल वस्त्र किसी गरीब व्यक्ति को दान करे, परेशानियां दूर होगी,

कन्या राशि: आप व्यावसायिक यात्रा कर सकते हैं. भाग्य आज आपका साथ दे रहा है और इसलिए आप व्यावसायिक जीवन के संबंध में नई योजनाएं बना सकते हैं. किन्तु किसी भी महत्वपूर्ण दस्तावेज़ पर हस्ताक्षर करते समय सावधान रहें. आर्थिक लेन—देन सोच—समझकर करें अन्यथा कठिनाइयां आ सकती हैं. न चाहते हुए भी आपको सामाजिक समारोहों का हिस्सा बनना पड़ सकता है. इससे आपको स्वास्थ्य सम्बंधित परेशानी भी हो सकती है. जीवनसाथी की सेहत का ख़्याल रखें अन्यथा परेशानी हो सकती है.

कन्या राशि वाले हरि वस्तु खरीद कर के किसी को दान करे, कार्य पूर्ण होंगे.

तुला राशि: यदि आप सहयोग लेने के इच्छुक हैं, तो आपके वरिष्ठ आपकी हर संभव सहायता करेंगे. साझेदार आपका भरपूर समर्थन करेंगे और आप आर्थिक लाभ के अवसर प्राप्त कर पाएंगे. कुछ नए परिचितों द्वारा धोखा खाने से बचने के लिए अपने विकल्पों को समझदारी से चुनें. पारिवारिक जीवन तनाव से भरा हो सकता है, लेकिन आपको स्थिति को चतुराई से निपटना होगा. अपको स्थिति अपने नियंत्रण में करनी होगी और मन की शांति प्राप्त करनी होगी. कुल मिलाकर आज आपको व्यक्तिगत और मौद्रिक मामलों में संतुलन बनाने का प्रयास करना चाहिए.

तुला राशि वाले संतोषी माता की पूजा करे तथा गुण और चने का प्रसाद लगाए. सभी कार्यो में सफलता मिलेगी.

वृश्चिक राशि: व्यावसायिक जीवन में सफलता आपके लिए पहले से अधिक सहजता के साथ आएगी. छात्र किसी दिलचस्प परियोजना में शामिल हो सकते हैं. व्यापार में तेजी आएगी और नए रास्ते खुलेंगे. साझेदारी भी फायदेमंद रहेगी. छोटे व्यवसायी विरोधाभासी रूप से बड़े लोगों की तुलना में अधिक लाभ लाएंगे. कड़ी मेहनत से आपको अतिरिक्त प्रोत्साहन मिलेगा. स्वास्थ्य संबंधी परेशानी हो सकती है. समाज से जुड़ाव आपके लिए लाभदायक हो सकता है.

वृश्चिक राशि वाले हनुमान जी के मंदिर में चना का प्रसाद लगाए, कार्य पूर्ण होंगे,

धनु राशि: व्यावसायिक उद्यम लाभ ला सकते हैं. व्यापार में आपको बड़ी सफलता मिलेगी. नवीन सौदे लाभदायक रहेंगें और मददगार लोग आपको किसी भी मुश्किल पेच को दूर करने में मदद करेंगे. मातृ संबंध मौद्रिक लाभों के साधन के रूप में कार्य कर सकते हैं. छात्रों को अपने एकाग्रता के स्तर पर ध्यान देने की आवश्यकता है. पारिवारिक जीवन सामान्य रहेगा. विवाह योग्य जातक शादी के बंधनों में बंध सकते हैं. आप में से कुछ पीठ एवं घुटनों के दर्द से पीड़ित हो सकतें हैं.

धनु राशि वाले केला के पेङ में हल्दी मिलाकर के जल दे, कार्य सिद्ध होंगे.

मकर राशि: आज ईमानदारी से किया गया कार्य अतिरिक्त लाभ के रूप में अपने फल देगा. व्यक्तिगत जीवन को अपने व्यावसायिक हितों के साथ हस्तक्षेप न करने दें. नए व्यापारिक अवसर खतरों के बिना नहीं होंगे, कुछ कानूनी कार्रवाई भी इसमें शामिल हो सकती है. पारिवारिक संबंध आपकी आंतरिक शक्ति होंगे, जो किसी भी कठिन समय में आपकी बुद्धिमानी और देखभाल दोनों का समर्थन करते नज़र आएंगे. आज आप में से कुछ के जीवन में प्रेम दस्तक दे सकता है. स्वास्थ्य शुभ रहेगा.

मकर राधि वाले पीपल के पेङ के पास तिल के तेल का दीपक जलाना है. स्वास्थ में अच्छा लाभ मिलेगा.

कुम्भ राशि: दैनिक कार्य आसानी से संपन्न होंगें. व्यावसायिक संदर्भ में यह एक उत्कृष्ट समय है. आपके पास काम करने और नए लोगों से मिलने के लिए कुछ नए प्रोजेक्ट भी हो सकते हैं. आर्थिक सन्दर्भ में आप लाभ प्राप्त कर सकतें हैं. मातृ संबंध आपके लिए बहुत फायदेमंद साबित हो सकते हैं. किन्तु पारिवारिक कष्ट आपके दांम्पत्य जीवन के सुख को प्रभावित कर सकते हैं. आप दोनों के मध्य सौहार्द व स्नेह की कमी हो सकती है.

कुम्भ राशि वालो को पीपल के पेङ के पास तिल के तेल का दीपक जलाना है. दैनिक कार्यो में अच्छा लाभ मिलेगा.

मीन राशि: नए वाहन या संपत्ति खरीदने के लिए अपनी योजनाओं को स्थगित कर दें क्योंकि यह आपके बड़े नुकसान का कारण हो सकता है. नौकरीपेशा जातकों को अधिकारियों के साथ अपने संबंधों के मामले में कठिन समय का सामना करना पड़ सकता है. अपने बॉस पर हावी होने की कोशिश न करें, वरना आप खुद मुसीबत में पड़ सकते हैं. धन संबंधी मामलों में आपके पिता की सलाह आपके लिए मददगार साबित हो सकती है. माता के सुख में सामान्य कमी महसूस कर सकते हैं. इस समय आप कुछ समय निकाल कर अपने जीवनसाथी के साथ घूमने फिरने भी जा सकते हैं.

मीन राशि वाले केला के पेङ में हल्दी मिलाकर के जल दे, कार्य की सिद्धि होगी.

*आचार्य पं. श्रीकान्त पटैरिया (ज्योतिष विशेषज्ञ) वाट्सएप नम्बर 9131366453 

* यहां राशिफल चन्द्र के गोचर पर आधारित है, व्यक्तिगत जन्म के ग्रह और अन्य ग्रहों के गोचर के कारण शुभाशुभ परिणामों में कमी-वृद्धि संभव है, इसलिए अच्छे समय का सद्उपयोग करें और खराब समय में सतर्क रहें.

शुक्रवार का चौघडिय़ा -

दिन का चौघडिय़ा रात्रि का चौघडिय़ा

पहला- चर  पहला- रोग

दूसरा- लाभ   दूसरा- काल

तीसरा- अमृत   तीसरा- लाभ

चौथा- काल   चौथा- उद्वेग

पांचवां- शुभ   पांचवां- शुभ

छठा- रोग छठा- अमृत

सातवां- उद्वेग   सातवां- चर

आठवां- चर   आठवां- रोग

* चौघडिय़ा का उपयोग कोई नया कार्य शुरू करने के लिए शुभ समय देखने के लिए किया जाता है 

* दिन का चौघडिय़ा- अपने शहर में सूर्योदय से सूर्यास्त के बीच के समय को बराबर आठ भागों में बांट लें और हर भाग का चौघडिय़ा देखें.

* रात का चौघडिय़ा- अपने शहर में सूर्यास्त से अगले दिन सूर्योदय के बीच के समय को बराबर आठ भागों में बांट लें और हर भाग का चौघडिय़ा देखें.

* अमृत, शुभ, लाभ और चर, इन चार चौघडिय़ाओं को अच्छा माना जाता है और शेष तीन चौघडिय़ाओं- रोग, काल और उद्वेग, को उपयुक्त नहीं माना जाता है.

* यहां दी जा रही जानकारियां संदर्भ हेतु हैं, स्थानीय पंरपराओं और धर्मगुरु-ज्योतिर्विद् के निर्देशानुसार इनका उपयोग कर सकते हैं.

* अपने ज्ञान के प्रदर्शन एवं दूसरे के ज्ञान की परीक्षा में समय व्यर्थ न गंवाएं क्योंकि ज्ञान अनंत है और जीवन का अंत है!

पंचांग 

शुक्रवार, 8 नवंबर 2019

देवुत्थान एकादशी

भीष्म पञ्चक प्रारम्भ

योगेश्वर द्वादशी

शक सम्वत 1941 विकारी

विक्रम सम्वत 2076

काली सम्वत 5121

दिन काल 10:53:40

मास कार्तिक

तिथि एकादशी - 12:26:20 तक

नक्षत्र पूर्वा भाद्रपद - 12:12:23 तक

करण विष्टि - 12:26:20 तक, बव - 25:36:16 तक

पक्ष शुक्ल

योग व्याघात - 09:31:52 तक

सूर्योदय 06:37:54

सूर्यास्त 17:31:34

चन्द्र राशि मीन

चन्द्रोदय 15:28:00

चन्द्रास्त 27:30:00

ऋतु हेमंत

दिशा शूल: पश्चिम में

राहु काल वास: दक्षिण-पूर्व में

नक्षत्र शूल: दक्षिण में 12:13 तक

चन्द्र वास: उत्

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।