पटना. बिहार के उपमुख्यमंत्री एवं भाजपा के वरिष्ठ नेता सुशील कुमार मोदी ने राज्य की जनता से अपील की कि अयोध्या के रामजन्म भूमि मामले में सर्वोच्च न्यायालय की संविधान पीठ जो भी निर्णय करे, उसे सबको धैर्य और शांति के साथ स्वीकार करना चाहिए. उन्होंने कहा कि फैसला 17 नवंबर से पहले जब भी सुनाया जाये, किसी भी पक्ष को इसे अपनी हार-जीत के रूप में नहीं लेना चाहिए. किसी को न मिठाई बांटने की जरूरत है, न किसी को मातम मनाना चाहिए.

सुशील मोदी ने कहा कि एनडीए अयोध्या मुद्दे पर अदालत के फैसले को सिर्फ न्याय की जीत मानेगा. हमें आशा है कि वर्षों से लटके इस मामले पर ऐतिहासिक फैसला आने के बाद देश में सद्भाव और परस्पर विश्वास का नया युग शुरू होगा. उन्होंने अपनी पार्टी के कार्यकर्ताओं, पदाधिकारियों और समर्थकों से भी अपील की कि फैसला आने से पहले अयोध्या मुद्दे को लेकर मीडिया या सोशल मीडिया में किसी प्रकार का बयान न दें. यह सबके लिए संयम बरतने का समय है.

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।