नई दिल्ली. सोनिया गांधी और शरद पवार के बीच बैठक खत्म हो गई है. सोनिया गांधी से मुलाकात के बाद शरद पवार ने कहा कि बीजेपी को लेकर शिवसेना के तेवर सख्त हैं. उन्होंने कहा कि शिवसेना और बीजेपी दोनों सहयोगी रहे हैं. लेकिन अभी शिवसेना के तेवर सख्त हैं. समर्थन की उम्मीद लगाए शिवसेना को शरद पवार ने झटका देते हुए कहा कि सोनिया गांधी से मुलाकात के दौरान शिवसेना को समर्थन देने को लेकर कोई चर्चा नहीं हुई.

शरद पवार ने आगे कहा, हमें विपक्ष में बैठने का जनादेश मिला है. हमारे पास संख्या नहीं है. बीजेपी और उसकी सहयोगी शिवसेना के पास संख्या है. सरकार बनाने की जिम्मेदारी उनकी है.

सोनिया गांधी से मुलाकात के बाद एनसीपी चीफ शरद पवार ने प्रेस कॉन्फ्रेंस किया. शरद पवार ने कहा, ज्यादा कहने को नहीं है. कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया जी से मिला. मुलाकात के दौरान एके एंटनी भी थे. मैंने उन्हें महाराष्ट्र के बारे में जानकारी दी. हमने देखा है कि शिवसेना ने बीजेपी के खिलाफ एक कठोर स्टैंड लिया है वो कह रहे हैं कि उनके नेतृत्व में सरकार बनेगी. हालांकि ये उनका आंतरिक मामला है.

इसके साथ ही शरद पवार ने कहा कि हमने फिर से मिलने का तय किया है.राज्य में जनता का मूड बीजेपी के खिलाफ है. हमारे पास संख्या नहीं है. हमें विपक्ष में बैठने का मौका मिला है. लेकिन आगे क्या होगा इसके बारे में कुछ कह नहीं सकते हैं.

शरद पवार ने आगे कहा, संजय राउत मुझसे मिलते रहते हैं. सरकार के गठन पर किसी से बात नहीं हुई. उद्धव ठाकरे से मेरी कोई मुलाकात नहीं हुई है. जिसे जनादेश मिला है उसे शीघ्र सरकार बनानी चाहिए.

वहीं, सोमवार को देवेंद्र फडणवीस ने गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात की. मुलाकात के बाद देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि सरकार गठन को लेकर कोई क्या कह रहा है, इस पर कुछ नहीं बोलूंगा, लेकिन यह विश्वास है कि नई सरकार जल्द बनेगी.

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।