नई दिल्ली. राहुल गांधी के पूर्व सहयोगी पंकज शंकर ने कहा कि कांग्रेस नेता अब भी इंटर्नशिप कर रहे हैं. भले उन्होंने 15 साल पहले 2004 में राजनीति में प्रवेश कर लिया हो, लेकिन राजनीति में वह अभी भी नौसिखिया ही हैं. राहुल का राजनीति में कोई योगदान नहीं है. राहुल गांधी अब भी राजनीति में प्रयोग कर रहे हैं. उन्होंने पार्टी व उसके युवा संगठन को बर्बाद कर दिया. उनके नेतृत्व में कांग्रेस लोकसभा में दो अंकों में सिमट गई.

पंकज शंकर कई वर्षों तक पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के मीडिया मामले देखते थे. उन्हें वर्ष 2004 में संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन के सत्ता में आने के बाद दूरदर्शन में सलाहकार नियुक्त किया गया था. पंकज सूचना व प्रसारण मंत्रालय में सलाहकार भी रह चुके हैं. उन्होंने कहा कि कांग्रेस में संवाद की कमी है. उन्होंने कहा कि सोनिया के पुत्र मोह में सब बर्बाद हो रहा है. उन्होंने कहा कि प्रियंका गांधी को सक्रिय राजनीति में आने से कौन रोक रहा है. इसके बारे में वह ट्वीट भी कर चुके हैं कि सोनिया के पुत्र मोह में सब बर्बाद हो रहा है.

राहुल गांधी के कांग्रेस अध्यक्ष रहने के दौरान पंकज शंकर उनके मीडिया मामले देखते थे. उन्होंने कहा कि राहुल गांधी के खिलाफ नहीं हैं, लेकिन वे पार्टी को आईना दिखाना चाहते हैं. आखिर किसी न किसी को तो बोलना था. भविष्य के नेताओं के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि कांग्रेस में टैलेंट की कोई कमी नहीं है. राहुल के मुकाबले प्रियंका अधिक सक्षम हैं. वह उन्हें अमेठी ले गई थीं.

उन्होंने इससे पहले भी कांग्रेस पार्टी पर कटाक्ष करते हुए ट्वीट किया था- कभी सोचा है कितना बुरा लगता है कांग्रेस के सिपाही को जब उसे #WhattsApp पर भाजपा समर्थक ये दिखाता है... चलो तीज-त्योहार का मतलब नहीं समझ पाये, कम से कम दादी का तो ख़याल रखते उनकी 35वीं शहादत दिवस पर विदेश से #Twitter पर श्रद्धा सुमन अर्पित कर रहे हैं....

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।