मुंबई. महाराष्‍ट्र विधानसभा चुनाव के नतीजों को आए एक हफ्ते से ज्‍यादा समय हो गया पर अब तक बीजेपी और शिवसेना मिलकर सरकार नहीं बना पाई हैं. शिवसेना सांसद संजय राउत की एनसीपी प्रमुख शरद पवार की मुलाकात के बाद राज्‍य में सरकार बनाने के नए समीकरणों की भी चर्चा चल रही है. इस बीच, कांग्रेस के सांसद हुसैन दलवई ने शिवसेना के साथ मिलकर सरकार बनाने का समर्थन किया है. उन्‍होंने इस संबंध में कांग्रेस अध्‍यक्ष सोनिया गांधी को चिट्ठी भी लिखी है. दूसरी ओर, शिवसेना सांसद संजय राउत ने महाराष्ट्र में राष्‍ट्रपति शासन लगाने सबंधी बयान को लेकर एक बार फिर बीजेपी को घेरा है.

सोनिया गांधी को लिखे पत्र में राज्‍यसभा सांसद हुसैन दलवई ने कहा है कि कांग्रेस को सरकार बनाने में शिवसेना का समर्थन करना चाहिए. दलवई का कहना है कि कांग्रेस के उम्मीदवार प्रतिभा पाटील और प्रणब मुखर्जी को राष्ट्रपति बनाने में शिवसेना ने कांग्रेस का समर्थन किया था. ऐसे में अब महाराष्‍ट्र में कांग्रेस को भी शिवसेना का समर्थन करना चाहिए.

बता दें कि इससे पहले शुक्रवार को महाराष्‍ट्र के वरिष्‍ठ कांग्रेस नेताओं की दिल्‍ली में पार्टी महासचिव के.सी. वेणुगोपाल संग बैठक हुई थी. बैठक के दौरान शिवसेना का समर्थन करने से कांग्रेस की सेक्युलर छवि और राष्ट्रीय महत्व के मुद्दों पर पड़ने वाले प्रभावों पर चर्चा की गई. तबीयत खराब होने की वजह से सोनिया गांधी इस बैठक में नहीं उपस्थित रहीं.

इससे पहले 1980 के लोकसभा चुनाव में भी शिवसेना ने कांग्रेस का साथ दिया था. उस समय बाला साहेब ठाकरे ने शिवसेना को चुनाव मैदान से बाहर रखकर इंदिरा गांधी की अगुवाई वाली कांग्रेस के समर्थन का फैसला किया था. तब इमर्जेंसी के बाद बनी जनता पार्टी की चौधरी चरण सिंह की अगुवाई वाली सरकार गिरने के कारण मध्यावधि चुनाव कराए जा रहे थे.

कांग्रेस को समर्थन देने का फैसला शिवसेना प्रमुख ने महाराष्ट्र के तत्कालीन मुख्यमंत्री ए.आर.अंतुले से निजी ताल्लुकात और भरोसे के आधार पर लिया था. तथ्य यह है कि उस चुनाव में इंदिरा गांधी को जीत मिली और वो फिर से प्रधानमंत्री की कुर्सी पर बैठी थीं. बाद में अंतुले भी शिवसेना के समर्थन से ही मुख्यमंत्री बने थे.

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।