नयी दिल्ली. पुडुचेरी के मुख्यमंत्री नारायणसामी और उपराज्यपाल किरण बेदी के बीच खींचतान उसी दिन से जारी है जब से उन्होंने पदभार संभाले. दोनों तरफ़ से ज़ुबानी तीर भी आए दिन चलते रहते हैं. मुख्यमंत्री नारायणसामी ने इंदिरा गांधी की पुण्यतिथि पर पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते किरण बेदी के लिए विवादित बयान दिया.

सीएम नारायणसामी ने कहा, केंद्र सरकार ने यहां एक राक्षस को बिठाया हुआ है. हम मंत्री 24 घंटे काम करने को तैयार है लेकिन वो सभी योजनाओं को रोक देती है. चाहें वो गरीबों को चावल बांटने की योजना हो या पर्यटन से जुड़े प्रोजेक्टों के लिए केंद्र सरकार से फंड लेना हो, वो दिल्ली जाती हैं और फंड आवंटन रूकवा देती हैं.

किरण बेदी ने मुख्यमंत्री के बयान पर पलटवार किया, उन्होंने कहा, राक्षस लोगों के बड़े हित में काम नहीं करते. राक्षस सब कुछ अपने लिए चाहते हैं. और लोगों को डराते हैं. ऐसे में जनसेवक लोगों की रक्षा के लिए कर्तव्यबद्ध है और साथ ही कहीं भी फिजूलखर्ची या बर्बादी दिखती है तो उसे रोकें. ये शांत रहने वाले लोगों की बड़ी संख्या के लिए है.

किरण बेदी ने कहा, आर्थिक दबाव की स्थिति में जनसेवकों का ये काम है कि वो देखें पैसे का अधिक से अधिक सदुपयोग हो. साथ ही जनता के लाभ के लिए ही उसका इस्तेमाल हो और बीच में कहीं लीकेज ना हो

उपराज्यपाल ने कहा, अधिकारी चाहे हमेशा लाभार्थी लोगों को सार्वजनिक तौर पर विस्तार से नहीं बताते हों कि उनके लिए क्या अच्छा किया गया, कैसे किया गया और क्यों किया गया. इसलिए हो सकता है कि वो पूरे तथ्यों से अवगत ना हों.

किरण बेदी ने पुडुचेरी में जल स्तर सुधरने का हवाला देते हुए कहा कि बड़े सामूहिक प्रयास से ये सब को लाभ पहुंचाने का कारण बना. इससे वहां कृषि, पीने के पानी, बेहतर साफ सफाई के लिए अधिक पानी उपलब्ध होगा.

उपराज्यपाल ने शहरी नालों की सफाई चंदा देने वालों की मदद से कराने का हवाला भी दिया. उन्होंने कहा कि इससे सरकार पर आर्थिक बोझ नहीं पड़ा. किरण बेदी ने कहा कि इस कदम से निचले क्षेत्रों में जलभराव की समस्या कम होगी और संपत्ति को कम नुकसान पहुंचेगा.

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।