नई दिल्ली. Global NCAP ने सेफ कार फॉर इंडिया कैम्पेन के तहत किए गए क्रैश टेस्ट के लेटेस्ट राउंड के परिणाम जारी किए हैं. Maruti WagonR, Maruti Ertiga, Hyundai Santro और Datsun Redigo टेस्ट की जाने वाली लेटेस्ट कारें हैं. इनमें से किसी भी कार को 5 स्टार रेटिंग नहीं मिली, जिसका मतलब है कि टाटा नेक्सॉन टॉप स्कोर (5-स्टार) हासिल करने वाली एकमात्र भारतीय कार बनी हुई है. खास बात यह है कि भारत में कारों में एबीएस, सीट-बेल्ट रिमाइंडर, स्पीड अलर्ट सिस्टम और ड्राइवर साइड एयरबैग अनिवार्य होने के बाद यह पहला क्रैश टेस्ट है. आइए आपको बताते हैं कि इन चारों कारों में किसे कितने स्टार मिले हैं.

इन चारों कारों में मारुति अर्टिगा क्रैश टेस्ट के लेटेस्ट राउंड में सबसे बेहतर प्रदर्शन करने वाली कार है. इसे अडल्ट प्रोटेक्शन के लिए 3 स्टार मिले हैं. टेस्ट में पाया गया कि सिर और गर्दन की सुरक्षा अच्छी और ड्राइवर की चेस्ट की सुरक्षा मामूली थी. चाइल्ड प्रोटेक्शन के लिए भी अर्टिगा को क्रैश टेस्ट में 3 स्टार रेटिंग की मिली है. टेस्ट में पाया गया कि कार में तीन वर्षीय डमी के लिए अच्छी सुरक्षा है. हालांकि, 18 महीने की डमी के लिए सिर और चेस्ट की सुरक्षा खराब थी.

मारुति की इस पॉप्युलर हैचबैक कार को क्रैश टेस्ट में अडल्ट प्रोटेक्शन के लिए 2 स्टार रेटिंग मिली है. टेस्ट में ड्राइवर और को-पैसेंजर के सिर और गर्दन की सुरक्षा पर्याप्त, जबकि चेस्ट की सुरक्षा कमजोर और घुटने की सुरक्षा मामूली पाई गई. चाइल्ड प्रोटेक्शन के लिए भी वैगनआर को 2 स्टार रेटिंग मिली है. हालांकि, तीन वर्षीय डमी के लिए चाइल्ड-रिस्ट्रेन सिस्टम टेस्ट के दौरान टूट गया और 18 महीने की डमी के लिए चेस्ट की सुरक्षा भी कम थी.

नई ह्यूंदै सैंट्रो को भी क्रैश टेस्ट में 2 स्टार रेटिंग मिली है. सैंट्रो की टेस्टिंग के दौरान पाया गया कि फ्रंट अडल्ट पैसेंजर्स के लिए सिर और गर्दन की सुरक्षा अच्छी थी, ड्राइवर के लिए चेस्ट की सुरक्षा कमजोर और को-पैसेंजर के लिए मामूली पाई गई. चाइल्ड प्रोटेक्शन के लिए भी सैंट्रो को 2 स्टार मिले हैं.

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।