जब आप धनु राशी के चिन्ह को देखेंगे तो आपको, उसमे आपको धनुष बाण लिए एक सुडौल व्यक्ति दिखेगा जिसका पिछला भाग घोडे का है,धनु राशी धर्म और ज्ञान की राशि है,इसे हां धर्मयुध्द क़ी राशि भी कह सकते है,आकाशतत्व पर इसका पूर्ण अधिकार होता है, वायुसेना से इसका पूर्ण संबंध होता है,अर्थक्षेत्र से भी गुरु का गहरा संबंध होता है,जब भी गुरु बिगड़ता है विश्व की अर्थव्यवस्था बिगड़ती है,शनि और गुरु का अच्छा तालमेल विश्व की अर्थव्यवस्था को गति प्रदान करता है,गुरु के बिगड़ने से लोगो का हाजमा बिगड़ जाता है,इसीलिए गुरु यानी ज्ञान और धर्म को हमेशा आगे रखना चाहिए. 

5 नवम्बर से धनु राशि मे गुरु तीन माह तक शनि केतु के साथ बैठक-

5 नवम्बर से गुरु महाराज धनु राशि मे प्रवेश कर रहें है,गुरु महाराज यहा तीन महीने तक शनि और केतु के साथ रहेंगे,धनु राशि मे गुरु के आने से कोई बड़ा धार्मिक कार्यो संपन्न हो सकता है, आकाशीय योजनाओ मे विश्व स्तर मे बड़ी खलबली देखने को मिलेगी. 

*राम मंदिर निर्माण का कार्य प्रारंभ हो सकता है. 

*शत्रु देशो के मध्य कोई बड़ा आकाशीय युध्द छिड़ सकता है. 

*रूस और अमेरिका और चीन मे तनातनी बढ़ेगी. 

*अंतरिक्ष मे अपना दबदबा बढ़ाने के लिए विश्व के प्रमुख देशो मे नोकझोंक होगी. 

*धनु राशि वालो के लिए बेहतरीन समय की शुरुआत होगी, अहंकार न पालें, साझीदारो से बनाकर रखें. 

*मेष, सिंह और धनु राशी वालो के लिए बेहतरीन समय की शुरुआत. 

*वृश्चिक, कुंभ और मीन राशी वालो के लिए शुभ समय. 

*कर्क राशी वालो के रोग,ऋण, शत्रु नष्ट होंगे.

*मीन राशी वालो का मान सम्मान मे वृद्धि होगी. 

*मकर राशी, वृषभ राशी बाले तीन माह सावधान रहें, खर्च नियन्त्रण मे रखें, विशेष काम जनवरी से ही प्रारंभ करें. 

*तुला राशी वाले खेल,पराक्रम, यात्रा से जुड़े कार्यो मे खास सफलता प्राप्त करेंगे.

आइए देखते है सभी 12 राशियों के लिए धनु राशि के गुरु का भ्रमण

*मेष*-भाग्य भाव से गुरु का भ्रमण निश्चित रूप से भाग्य बलवान करेगा,राज्यपक्ष से उत्तम सहयोग प्राप्त होगा, वरिष्ठ लोगो की कृपा प्राप्त होगी, राज्यपक्ष मे भी वरिष्ठ अधिकारियो की कृपा मिलेगी. 

*वृषभ*-आठवे स्थान का गुरु शिक्षा वित्त, सन्तान के क्षेत्रों मे कुछ दिक्कत दे सकता है,किसी अनुसन्धान आदि से आपका संबंध जुड़ सकता है, खानपान मे ध्यान दे. 

*मिथुन*-जीवनसाथी और व्यापार मे खास सफलता के योग,नवीन उद्योग प्रारंभ हो सकता है, मान सम्मान वृद्धि के योग. 

*कर्क*-रोग,ऋण,शत्रु नष्ट होंगे,स्वास्थय से जुड़ी समस्या का निराकरण होगा, कोर्ट कचहरी से जुड़ी समस्या का निराकरण होगा. 

*सिंह*-शिक्षा,संतान,मित्रवर्ग से धन व उपलब्धि के योग,आर्थिक क्षेत्र मे खास सफलता प्राप्ति के योग. 

*कन्या*-मकान,वाहन तथा सामाजिक क्षेत्रों से जुड़े कार्यो मे सफलता का योग,किसी धार्मिक निर्माण मे समय व्यतीत होगा. 

*तुला*-खेलकूद,साहस, सेना तथा जोखिमपूर्ण कार्यो मे सफलता और भाग्यवृद्धि के योग, बाहरी क्षेत्रो मे सफलता का योग. 

*वृश्चिक*-धनवृद्धि के योग, आर्थिक क्षेत्रों मे खास सफलता के योग,उत्तम खानपान प्राप्ति का योग,कोई पुरानी सम्पति भी प्राप्ति का योग. 

*धनु*-मान सम्मान मे वृद्धि होगी,शिक्षा और ज्ञान के क्षेत्रों मे खास सफलता प्राप्ति का योग, सन्तान,दैनिक व्यापार और राज्यपक्ष से जुड़े कार्यो मे सफलता के योग. 

*मकर*-व्ययवृद्धि का योग,अस्पताल मे भर्ती होना पढ़ सकता है,शारीरिक स्वास्थय का ध्यान रखें,अपना मेडिक्लेम अवश्य करवाएं. 

*कुंभ*-आमदनी के स्त्रोत अच्छा लाभ देंगे, व्यापार मे वृद्धि के योग,नवीन व्यापार योजनाओ मे लाभ के योग. 

*मीन*-कर्मक्षेत्र मे मानसम्मान वृद्धि के योग,राज्यपक्ष से जुड़े कार्यो मे लाभ का योग,पदोन्नति हो सकती है. 

*विशेष*-जिनकी पत्रिका मे गुरु धनु राशि मे हो या जिन्हें वर्तमान मे गुरु की महादशा चल रही हो उन्हे उपरोक्त फल विशेष रूप से प्राप्ति के योग बनेगे. 

पं .चंद्रशेखर नेमा  हिमांशु

9893280184,7000460931

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।