नई दिल्ली. ऑस्ट्रेलियाई टीम के पूर्व कप्तान इयान चैपल ने कहा है कि टेस्ट क्रिकेट के भले के लिए सभी टीमों को भारत से सीखना चाहिए. चैपल ने कहा कि भारतीय टीम सर्वश्रेष्ठ बनने का प्रयास कर रही है और अन्य टीमों को इससे सबक लेना चाहिए. चैपल ने भारतीय तेज गेंदबाजी की तारीफ करते हुए कहा कि यह दुनिया में कहीं भी शानदार प्रदर्शन कर सकती है. भारत ने हाल ही में साउथ अफ्रीका को टेस्ट सीरीज में 3-0 से हराया है. इसी संदर्भ में चैपल ने कहा कि भारत का प्रदर्शन अन्य टीमों के लिए जलन की बात है. भारत, इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के अलावा टेस्ट खेलने वाले अन्य देशों के प्रदर्शन में गिरावट देखी गई है

इनमें साउथ अफ्रीका और श्रीलंका जैसी टीमें शामिल हैं. चैपल ने क्रिकइंफो ने लिए अपने कॉलम में लिखा, अगर टेस्ट क्रिकेट को भविष्य में कायम रहना है तो खेल का स्तर बहुत ऊंचा रहना जरूरी है. यह बात सच है कि भारत के पास प्रतिभा का अंबार है, आईपीएल के जरिए काफी पैसा है, यह उसके लिए फायदे की बात है लेकिन सर्वश्रेष्ठ बनने का भारतीय ऐटिट्यूड ऐसी चीज है जिससे बाकी टीमों को सीखने की जरूरत है. भारत ने साउथ अफ्रीका को अपने स्टार गेंदबाज जसप्रीत बुमराह की गैरमौजूदगी के बावजूद हरा दिया.

इसके साथ ही भारत ने आईसीसी टेस्ट चैंपियनशिप में शीर्ष स्थान पर अपनी पकड़ मजबूत कर ली है. चैपल ने कहा कि भारतीय तेज गेंदबाजी आक्रमण दुनिया की किसी भी परिस्थिति में शानदार प्रदर्शन कर सकता है. बुमराह जब फिट हों, अथक मोहम्मद शमी, बहुत बेहतर हो चुके ईशांत शर्मा और रफ्तार से भरे उमेशा यादव भारत को तेज गेंदबाजी आक्रमण को शानदार चौकड़ी बनाता है. चैपल की नजर में ये ऐसे तेज गेंदबाज हैं जो हर परिस्थिति में बल्लेबाजों पर दबाव बनाए रखते हैं. उन्होंने कहा, ये तेज गेंदबाज भारत की हमेशा से मजबूत स्पिन बोलिंग के साथ जुड़कर एक ऐसा बोलिंग यूनिट तैयार करते हैं जिसका मेल आपको दुनिया के अन्य देशों में देखने को नहीं मिलता है.

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।