मुंबई. भारतीय क्रिकेट टीम बांग्लादेश के खिलाफ अपने तीन प्रमुख खिलाड़ियों के बगैर खेलेगी. जसप्रीत बुमराह, हार्दिक पांड्या और भुवनेश्वर कुमार इस समय अनफिट होने की वजह से टीम से बाहर चल रहे हैं. इनके शीघ्र मैदान पर लौटने की कोई गुंजाइश भी नजर नहीं आ रही हैं.

बीसीसीआई सिलेक्शन कमेटी ने गुरुवार को बांग्लादेश के खिलाफ 3 टी20 मैचों और 2 टेस्ट मैचों के लिए भारतीय टीम की घोषणा की. सिलेक्शन कमेटी चीफ एमएसके प्रसाद ने टीम घोषणा के दौरान बुमराह, पांड्या और भुवनेश्वर की फिटनेस के बारे में जानकारी दी. उन्होंने बताया कि बुमराह और पांड्या की इस साल मैदान पर वापसी नहीं होगी जबकि भुवनेश्वर कुमार दिसंबर में वेस्टइंडीज के खिलाफ सीमित ओवरों की सीरीज में वापसी कर सकते हैं.

बुमराह को सितंबर के पीठ के निचले हिस्से में स्ट्रेस फ्रेक्चर हो गया था. ऐसी उम्मीद की जा रही थी कि वे बांग्लादेश के खिलाफ 3 नवंबर से होने वाली सीरीज के लिए फिट हो जाएंगे लेकिन ऐसा नहीं हो पाया. बेंगलुरु स्थित नेशनल क्रिकेट एकेडमी (NCA) की मेडिकल टीम उनकी स्थिति पर नजर रखे हुए हैं. भारतीय टीम प्रबंधन और सिलेक्टर्स उनकी टीम में वापसी को लेकर किसी जल्दबाजी में नहीं है. उनके पूरी तरह फिट होने के बाद ही अगले साल फरवरी-मार्च में न्यूजीलैंड के खिलाफ होने वाली सीरीज के लिए टीम इंडिया में उनकी वापसी हो सकती है. ऑलराउंडर हार्दिक पांड्या की पिछले दिनों लंदन में पीठ की सर्जरी हुई और वे अभी आराम कर रहे हैं. वे इस साल मैदान पर वापसी नहीं कर पाएंगे क्योंकि सर्जरी के बाद उन्हें पूरी तरह फिट होने में कई महीने लगेंगे.

टीम इंडिया के चीफ कोच रवि शास्त्री पहले ही संकेत दे चुके हैं कि भुवनेश्वर को अब टेस्ट क्रिकेट में प्लेइंग इलेवन के विकल्प के तौर पर नहीं देखा जाएगा और उनके नाम पर सिर्फ सीमित ओवरों के मैचों के लिए विचार किया जाएगा. भुवी को पिछले कुछ समय से सिर्फ वनडे फॉर्मेट में ही खेलने का मौका दिया जा रहा है.

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।