रायपुर. छत्तीसगढ़ के बलरामपुर में एक युवक ने पत्नी से पीछा छुड़ाने खौफनाक साजिश रची, लेकिन कहते हैं कि अपराध कितना भी बड़ा क्यों न हो, कितनी ही सफाई से क्यों न किया गया हो, पुलिस के लिए कोई न कोई सबूत जरूर छोड़ जाता है. यही इस मामले में हुआ.

यह है घटनाक्रम

14 अक्टूबर को बलरामपुर-रामानुजगंज जिले के चांदो थानांतर्गत करचा गांव की रहने वाली कीर्ति सोनवानी (25) की सड़क पर लाश पड़ी मिली थी. कीर्ति 7 महीने की गर्भवती थी. उसके सिर पर चोट के गहरे निशान थे. कीर्ति अपने पति आशीष के साथ बलरामपुर में किराए से रहती थी. आशीष ने बताया था कि वो कीर्ति को उसके मायके छोडऩे जा रहा था. रास्ते में उसका एक्सीडेंट हो गया, लेकिन रास्ते में मिले सबूत कुछ और कहानी कह रहे थे.

रेप के बाद दबाव में की थी शादी

पुलिस की जांच में सामने आया कि आशीष ने कीर्ति से रेप किया था. इसके बाद दबाव में आकर उसने 7 महीने पहले ही कीर्ति से मंदिर में जाकर शादी की थी. दोनों पहले से ही एक-दूसरे से प्रेम करते थे. आशीष ने बताया था कि कीर्ति बाइक से गिर पड़ी थी, लेकिन जब पड़ताल की गई, तो सामने आया कि आशीष ने कीर्ति से पीछा छुड़ाने ही उसे बाइक से गिराया था. फिर सिर पर कई बार बाइक चढ़ाई. बलरामपुर एएसपी प्रशांत कतलम ने बताया कि पुलिस को पहले ही दिन से आशीष पर शक था. उसने घटनास्थल पर ऐसा सीन क्रियेट किया था, ताकि पुलिस को लगे कि वाकई महिला दुर्घटना का शिकार हुई. आरोपी ने अपना जुर्म कबूल कर लिया. उसे जेल भेज दिया गया है.

आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में


जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य


खबर : चर्चा में


************************************************************************************




Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह info@palpalindia.com पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।